in

Kashmir पर थी Jinnah की ना’पाक’ नजर, Patel ने दिया था करारा जवाब

राजा हरि सिंह से मिलने लार्ड माउंटबेटन पहुंचते हैं. मुलाकात के दौरान माउंटबेटन ने हरि सिंह को साफ कह दिया, अगर कश्मीर पाकिस्तान के साथ गया तो भारत से मदद की उम्मीद छोड़ दी जाए. उसी वक्त महात्मा गांधी उम्मीद जताए बैठे थे कि कश्मीर भारत के साथ जरूर आएगा. वो दो राष्ट्रों के बीच नहीं झूलेगा. महात्मा गांधी के इतने भरोसे की वजह सिर्फ और सिर्फ सरदार पटेल थे जो जूनागढ़, जोधपुर और हैदराबाद को शामिल करने के लिए अपने तेवर दिखा चुके थे. लेकिन इसी वक्त में कश्मीर पर कब्जा करने के लिए पाकिस्तान ने एक ऐसी चाल चली जिसने जिन्ना के मंसूबों को जाहिर कर दिया. देखना ना भूलें हमारी खास पेशकश ‘बायोग्राफी’ सोमवार से शुक्रवार रात 10.25 बजे…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

Loading…

0

Comments

आस्ट्रेलिया के खिलाफ दूसरे वनडे के लिए भारतीय टीम की हुई घोषणा..

Nirmala Sitaram Speech From Ramlila Maidan