Home मुख्य समाचार नेपाली बैंकों ने अमेरिका को दिया धोखा, ईरान और चीन को भेजे...

नेपाली बैंकों ने अमेरिका को दिया धोखा, ईरान और चीन को भेजे संदिग्‍ध पैसे

[

हाइलाइट्स:

  • चीन के इशारे पर नाच रहे नेपाल के बैंकों और कंपनियों ने अब अमेरिका से पंगा लेना शुरू कर दिया है
  • ईरान और चीन ने अमेरिका की ओर से लगाए प्रतिबंधों की काट के लिए नेपाली बैंकों की मदद मांगी
  • नेपाली बैंकों ने भी परिणामों की परवाह किए बगैर इस कार्रवाई में चीन की खुलकर मदद की

काठमांडू
चीन के इशारे पर नाच रहे नेपाल के बैंकों और कंपनियों ने अब अमेरिका से पंगा लेना शुरू कर दिया है। ईरान और चीन ने अमेरिकी प्रतिबंधों की काट के लिए नेपाली बैंकों की मदद मांगी। नेपाली बैंकों ने भी परिणामों की परवाह किए बगैर इस अमेरिका विरोधी कार्रवाई में चीन की खुलकर मदद की। इन नेपाली बैंकों और कंपनियों ने विदेशों से मिले संदिग्‍ध पैसे को चीन और ईरान को ट्रांसफर किया।

अंतरराष्‍ट्रीय खोजी पत्रकारों के समूह ने खुलासा किया है कि नेपाल की कंपनियों और बैंकों ने ईरान और चीन की मदद के लिए अमेरिका को धोखा देने का प्रयास किया। अमेरिका ने ईरान और चीन के खिलाफ कई व्‍यापार प्रतिबंध लगाए हैं जिसकी काट निकालने के लिए तेहरान और पेइचिंग ने नेपाल का का इस्‍तेमाल किया। पत्रकारों ने इस रिपोर्ट को अमेरिका की वित्‍तीय लेनदेन पर नजर रखनी वाली संस्‍था के गोपनीय दस्‍तावेज के आधार पर तैयार किया है।

नेपाल के 9 बैंकों, 10 कंपनियों ने संदिग्‍ध पैसे का लेनदेन किया
इसे फिनसेन फाइल्‍स कहा जा रहा है। इस रिपोर्ट में कहा गया है कि दिसंबर 2006 से मार्च 2017 के बीच में नेपाल के 9 बैंकों, 10 कंपनियों और नेपाल में विभिन्‍न लोगों ने सीमापार व्‍यापार के नाम पर संदिग्‍ध पैसे का लेनदेन किया। इस रिपोर्ट में कहा गया है, ‘यह दर्शाता है कि नेपाली बिजनस संस्‍थान सोने की अंतरराष्‍ट्रीय तस्‍करी, प्राचीन वस्‍तुओं, बिटुमेन और दूरसंचार उपकरणों की तस्‍करी करते हैं। इसमें स्‍टैडर्ड चार्टड बैंक, प्राइम कार्मशल बैंक, बैंक ऑफ काठमांडू, एवरेस्‍ट बैंक, नेपाल इन्‍वेस्‍टमेंट बैंक, मेगा बैंक, हिमालयन बैंक, नेपाल बांग्‍लादेश बैंक आदि संदिग्‍ध पैसे की लेनदेन करने वाले बैंकों में शामिल हैं।’


इस लिस्‍ट में नेपाल की 10 कंपनियां भी शामिल हैं जिन्‍होंने या तो सीधे तौर पर संदिग्‍ध पैसा भेजा या उसे हासिल किया। 11 साल की अवधि के दौरान इन बैंकों और कंपनियों ने 29 करोड़ डॉलर की संदिग्‍ध धनराशि का लेनदेन किया। इन कंपनियों का मुख्‍य बिजनस पेट्रोलियम प्रॉडक्‍ट जैसे बिटुमेन, इंजन ऑयल और अन्‍य तेल शामिल हैं। इन कंपनियों का ऑफिस दुबई में था।

पूरे विवाद के केंद्र में नेपाल का रौनियार परिवार
इस पूरे विवाद के केंद्र में नेपाल का रौनियार परिवार है। इसी ने पेट्रोलियम के आयात और निर्यात के नाम पर संदिग्‍ध पैसे का लेन-देन किया। रौनियार की कंपनी ईरान से सामान खरीदती है जबकि ईरान के खिलाफ अमेरिका ने प्रतिबंध लगाया हुआ है। मजेदार बात यह है कि ईरान से मंगाए गए सामान को कागज में दुबई से मंगाया गया सामान बताया जाता है।

उधर, जांच से पता चला है कि चीन की कंपनी ZTE ने अमेरिकी प्रतिबंधों से बचने के लिए कई साजिश रची। कंपनी ने दूरसंचार के उपकरणों को अमेरिका से खरीदा और उसे ईरान को जेटीई के उपकरण बताकर ईरान को बेच दिया। जेटीई ही नेपाल में दूरसंचार उपकरणों का निर्यात करती है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

58 साल में चौथी बार एलएसी पर भारतीय जवान शहीद हुए, 70 साल में बतौर पीएम मोदी सबसे ज्यादा 5 बार चीन गए

[ भारत-चीन सेना के बीच गलवान घाटी में हिंसक झड़प से पहले 1975 में अरुणाचल के तवांग में विवाद हुआ था, तब 4 सैनिक...

मुजफ्फरनगर : पुलवामा में शहीद हुए प्रशांत शर्मा का पार्थिव शरीर पहुंच घर

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

कमला हैरिस के जवाब में डोनाल्ड ट्रंप ने भारतवंशी निक्की हेली को बनाया उपराष्ट्रपति उम्मीदवार, दिलचस्प हुआ चुनाव

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

कश्मीर से क्यों वापस बुलाए गए 10 हजार जवान? सरकार के फैसले के पीछे ये है वजह

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

चीन के बहाने राहुल गांधी का प्रधानमंत्री मोदी पर फिर हमला, बोले- PM को छोड़ हर किसी को सेना की क्षमता पर भरोसा

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link