Home मुख्य समाचार Vishwakarma Puja 2020 Date: आज मनाया जा रहा है विश्वकर्मा पूजा, जानें...

Vishwakarma Puja 2020 Date: आज मनाया जा रहा है विश्वकर्मा पूजा, जानें शुभ मुहूर्त एवं महत्व

[

Publish Date:Wed, 16 Sep 2020 04:48 AM (IST)

Vishwakarma Puja 2020 Date: विश्वकर्मा पूजा हर वर्ष बंगाली माह भाद्र के आखिरी दिन भाद्र संक्रांति को मनाया जाता है, इसे कन्या संक्रांति भी कहा जाता है। इस वर्ष कन्या संक्रांति 16 ​सितंबर दिन बुधवार को है। ऐसे में इस बार विश्वकर्मा पूजा आज बुधवार 16 सितंबर को मनाया जा रहा है। आज के दिन विधिपूर्वक भगवान विश्वकर्मा की पूजा करने से रोजगार और बिजनेस में तरक्की मिलती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, भगवान विश्वकर्मा को देवताओं का शिल्पी कहा जाता है। वे निर्माण एवं सृजन के देवता हैं। वे संसार के पहले इंजीनियर और वास्तुकार कहे जाते हैं।

विश्वकर्मा पूजा का मुहूर्त

16 सितंबर को सुबह 06 बजकर 53 मिनट पर कन्या संक्रांति का क्षण है। इस समय पर सूर्य देव कन्या राशि में प्रवेश करेंगे। कन्या संक्रांति के साथ ही विश्वकर्मा पूजा का मुहूर्त है। पूजा के समय राहुकाल का ध्यान रखना होता है। विश्वकर्मा पूजा के दिन राहुकाल दोपहर 12 बजकर 21 मिनट से 01 बजकर 53 मिनट तक है। इस समय काल में पूजा न करें।

विश्वकर्मा पूजा के दिन का पंचांग

दिन: बुधवार, आश्विन मास, कृष्ण पक्ष, चतुर्दशी तिथि।

दिशाशूल: उत्तर।

विशेष: सूर्य की कन्या संक्रांति।

भद्रा: प्रात: 09:33 बजे तक।

विक्रम संवत 2077 शके 1942 दक्षिणायन, उत्तरगोल, शरद ऋतु शुद्ध आश्विन मास कृष्णपक्ष की चतुर्दशी 19 घंटे 57 मिनट तक, तत्पश्चात् अमावस्या मघा नक्षत्र 12 घंटे 21 मिनट तक, तत्पश्चात् पूर्वाफाल्गुनी नक्षत्र सिद्धि योग 07 घंटे 41 मिनट तक, तत्पश्चात् साध्य योग सिंह में चंद्रमा।

विश्वकर्मा पूजा का महत्व

धार्मिक मान्यताओं के अनुसार, संसार में जो भी निर्माण या सृजन कार्य होता है, उसके मूल में भगवान विश्वकर्मा विद्यमान होते हैं। उनकी आराधना से आपके कार्य बिना विघ्न पूरे हो जाएंगे। बिगड़े काम भी बनेंगे।

कौन हैं भगवान विश्वकर्मा

वास्तुदेव तथा माता अंगिरसी की संतान भगवान विश्वकर्मा हैं। वे शिल्पकारों और रचनाकारों के ईष्ट देव हैं। उन्होंने सृष्टि की रचना में ब्रह्मा जी की मदद की तथा पूरे संसार का मानचित्र बनाया था। भगवान विश्वकर्मा ने स्वर्ग लोक, श्रीकृष्ण की नगरी द्वारिका, सोने की लंका, पुरी मंदिर के लिए भगवान जगन्नाथ, बलभद्र एवं सुभद्रा की मूर्तियों, इंद्र के अस्त्र वज्र आदि का निर्माण किया था। ऋगवेद में उनके महत्व का पूर्ण वर्णन मिलता है।

Posted By: Kartikey Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

शोले के सूरमा भोपाली जगदीप का 81 वर्ष की उम्र में निधन, अजय देवगन ने ट्वीट कर दी जानकारी

[बॉलीवुड एक्टर जगदीप का निधननई दिल्ली: बॉलीवुड एक्टर अजय देवगन ने मशहूर कॉमेडियन और एक्टर जगदीप (Jagdeep Died) के निधन को लेकर ट्वीट...

अयोध्या में PM मोदी ने रखी भव्य राम मंदिर की नींव, 10 प्वाइंट में जानें भूमि पूजन के सारे लेटेस्ट अपडेट

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

Vikas Dubey Killed: जघन्य हत्याकांड, फरारी, गिरफ्तारी और अब अंत, 10 प्वाइंट में जानें कब-कब क्या हुआ?

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

Explainer: कोरोना को हराने के बाद शरीर में कितने दिन रहती है ऐंटिबॉडी, रिसर्च में सामने आई बात

[हाइलाइट्स:विशेषज्ञों का कहना है कि कोरोना की एंटीबॉडीज बहुत लंबे समय तक नहीं बनी रहती हैंमुंबई के जेजे ग्रुप ऑफ हॉस्पिटल्स के स्‍टाफ...

प्रेग्नेंसी के लिए सेक्स करने का सबसे अच्छा समय कब होता है?

मैं और मेरी पत्नी कुछ महीनों से एक बच्चे के लिए कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अभी तक हर बार प्रेग्नेंसी टेस्ट...