Home मुख्य समाचार गुलाम नबी आजाद ने अपने ज्ञापन में कहा, नियुक्त किए गए अध्यक्ष...

गुलाम नबी आजाद ने अपने ज्ञापन में कहा, नियुक्त किए गए अध्यक्ष के पास ”1% समर्थन” भी नहीं होगा”

[

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद (फाइल फोटो).

नई दिल्ली:

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता गुलाम नबी आज़ाद (Ghulam Nabi Azad) जिन्होंने सोनिया गांधी को लिखे गए “असहमति” पत्र पर भी हस्ताक्षर किए थे, ने पार्टी में अलग-थलग किए जाने के चार दिन बाद पार्टी नेतृत्व को एक और कड़ा संदेश दिया है.समाचार एजेंसी एएनआई से 71 वर्षीय गुलाम नबी आजाद ने कहा, “जो अधिकारी या राज्य इकाई के अध्यक्ष,जिला अध्यक्ष हमारे प्रस्ताव का विरोध कर रहे हैं उन्हें मालूम है कि चुनाव होने पर वे कहीं नहीं होंगे.” राज्यसभा सदस्य आजाद ने कहा, “जो कोई भी वास्तव में कांग्रेस का हित चाहता है , वह पत्र का स्वागत करेगा.”

यह भी पढ़ें

आज़ाद ने पत्र में सुझाव दिया कि राज्य कांग्रेस प्रमुखों, जिला अध्यक्षों, ब्लॉक अध्यक्षों और कांग्रेस कार्य समिति का चुनाव किया जाना चाहिए. “एक चुनाव का यह लाभ होता है कि जब आप चुनाव लड़ते हैं, तो कम से कम आपकी पार्टी आपके साथ खड़ी होती है. अभी, अध्यक्ष बनने वाले व्यक्ति को एक प्रतिशत समर्थन भी नहीं मिल सकता है. यदि सीडब्ल्यूसी सदस्य चुने जाते हैं, तो उन्हें हटाया नहीं जा सकता है. इसमें समस्या कहां है? “

यह भी पढ़ें: ‘बगावती खत’ को लेकर कार्रवाई की मांग, जितिन प्रसाद के करीबी सूत्र ने जताई साजिश की आशंका

सांसद और पूर्व मंत्रियों सहित 23 कांग्रेस नेताओं द्वारा अंतरिम पार्टी प्रमुख सोनिया गांधी को लिखे गए पत्र में व्यापक सुधार, निष्पक्ष आंतरिक चुनाव, सामूहिक निर्णय लेने और “पूर्णकालिक नेतृत्व” की मांग की गई थी. हालांकि इस पत्र को राहुल गांधी के ऊपर एक हमले के रूप में देखा गया , जिन्होंने पिछले साल कांग्रेस की चुनावी हार के बाद अध्यक्ष पद छोड़ दिया था. हालांकि राहुल सरकार के खिलाफ पार्टी के आक्रामक कदमों में सबसे आगे रहे. पिछले कुछ महीनों में, राहुल गांधी खेमे और पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के खेमे के बीच खाई नजर आई है.

यह भी पढ़ें:ब्याजमाफी को लेकर केंद्र पर राहुल गांधी का हमला, बोले- बड़े व्यवसायों को 1450000000000…

आज़ाद समेत पत्र पर हस्ताक्षर करने वाले दूसरे नेताओं को पार्टी के भीतर ही  “गद्दार” के रूप में देखा जा रहा है. कई नेताओं ने पत्र लिखने वाले नेताओं पर अनुशासनात्मक कार्रवाई का आह्वान किया. कांग्रेस कार्य समिति की बैठक के बाद घोषणा की गई कि अगले छह महीनों में अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (AICC) सत्र तक सोनिया गांधी अंतरिम प्रमुख बनी रहेंगी.

 

जितिन प्रसाद पर कार्रवाई का प्रस्ताव, जिला कांग्रेस ने सोनिया गांधी को लिखा पत्र

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Weather Today Live Updates: गंगा-यमुना का बढ़ा जलस्तर, लोगों को सता रहा डर, कई राज्यों में बारिश का अलर्ट

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

आरआर vs केकेआर LIVE स्कोर: राजस्थान को चौथा झटका, उथप्पा आउट

[दुबईदो साल के बैन से पहले साल 2015 में वह आखिरी बार था जब राजस्थान रॉयल्स (RR) ने सीजन के अपने तीन मैच...

ड्रग्स केस: NCB ऩे फिल्म डायरेक्टर क्षितिज रवि प्रसाद को पूछताछ के बाद हिरासत में लिया

[ मुंबई: एनसीबी के अधिकारियों ने कथित रूप से धर्मा प्रोडक्शन से जुड़े रहे डायरेक्टर क्षितिज रवि प्रसाद को पूछताछ...

लद्दाख में LAC से कैसे पीछे हटेंगे भारत और चीन के सैनिक, खाका तैयार

[चीन से तनाव के बीच सीमा पर गरजे भारत के विमानहाइलाइट्सपूर्वी लद्दाख में सैनिकों को किस तरह पीछे करना है, इसका एक खाका...

रिया चक्रवर्ती के पिता ने बेटे शौविक की गिरफ्तारी पर कहा, “देश को बधाई”

[रिया के पिता ने अपने बेटे की गिरफ्तारी की निंदा की है.मुंबई: अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती (Actor Rhea Chakraborty) के पिता इंद्रजीत चक्रवर्ती ने...