Home मुख्य समाचार डराने लगा कोरोना, कई राज्यों में एक मई से 10 गुना बढ़े...

डराने लगा कोरोना, कई राज्यों में एक मई से 10 गुना बढ़े मामले

[

नई दिल्ली: देशभर में शुक्रवार को कोविड-19 से संक्रमित मामलों की संख्या बढ़कर 2.28 लाख हो गई, जबकि मरने वालों का आंकड़ा 6500 से अधिक हो गया. एक मई के बाद विशेष ट्रेनों से प्रवासियों के बड़े शहरी क्षेत्रों से ग्रामीण इलाकों में जाने के कारण ऐसे राज्यों की  संख्या दोगुनी हो गयी है, जहां कोरोना वायरस मामलों की संख्या एक हजार से अधिक है, जबकि कुछ ऐसे राज्य भी हैं जहां यह आंकड़ा दस गुना या उससे अधिक बढ़ा है.

इस संख्या में इजाफे का कारण सात मई से शुरू हुई वे अंतरराष्ट्रीय उड़ानें भी हैं, जिनमें विभिन्न देशों में फंसे प्रवासी भारतीयों को उनके गृह राज्य पहुंचाया गया.

देश में 25 मई से घरेलू उड़ानों का परिचालन भी क्रमबद्ध रूप से शुरू किया गया. वर्तमान में लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खत्म करने का पहला सप्ताह चल रहा है.

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के तत्कालीन आंकड़ों के अनुसार, एक मई को सुबह आठ बजे तक देश में कोविड-19 के 35 हजार मामले थे और मृतक संख्या 1150 से कम थी.

मंत्रालय के आज सुबह के आंकड़ों के अनुसार, देश में इस संक्रमण के पुष्ट मामलों की संख्या दो लाख 26 हजार 770 है और मृतक संख्या बढ़कर 6348 हो गयी है. एक मई से यदि तुलना की जाए तो मामलों की संख्या में छह गुना और मृतक संख्या में पांच गुना की वृद्धि हुई है.

विभिन्न राज्यों एवं केन्द्र शासित प्रदेशों द्वारा घोषित आंकड़ों के अनुसार पुष्ट मामलों की संख्या दो लाख 28 हजार 38 है जबकि मृतक संख्या 6557 है.

इस बीच संक्रमण से उबर चुके लोगों की संख्या एक लाख 12 हजार हो गई है. इस हिसाब से देखें तो देश में अभी तक एक लाख 10 हजार संक्रमित व्यक्ति उपचाररत हैं. पिछले कई दिनों से मामलों की संख्या में आठ हजार या उससे अधिक की दर से वृद्धि हो रही है.

ऐसे राज्य, जहां संक्रमित मामलों की संख्या एक हजार या उससे अधिक है, इनकी संख्या 19 हो गयी है जो एक मई तक केवल 9 थी. ऐसे राज्य, जिनमें ऐसे मामलों की संख्या दस हजार थी, इनकी संख्या एक मई को केवल एक (महाराष्ट्र) थी जो अब बढ़कर तीन हो गई है. दो अन्य राज्य दिल्ली एवं गुजरात हैं.

राजस्थान, उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में भी पुष्ट संक्रमण मामलों की संख्या नौ हजार या इससे अधिक है.

ये भी पढ़ें: सीमा विवाद पर चीन से आज सुबह 9 बजे होगी वार्ता, पेंगांग झील रहेगा बड़ा मुद्दा

महाराष्ट्र में कोरोना के 80 हजार से ज्यादा मामले
जिन राज्य एवं केन्द्र शासित प्रदेशों में ऐसे मामलों की संख्या अब एक हजार या इससे अधिक है, उनमें असम, बिहार, हरियाणा, जम्मू कश्मीर, कर्नाटक, केरल, ओड़िशा, पंजाब, उत्तराखंड एवं पश्चिम बंगाल हैं. झारखंड और छत्तीसगढ़ में ऐसे मामलों की संख्या 800 या इससे अधिक है. 

एक मई को जिन राज्यों में एक हजार से अधिक मामले थे, उनमें आंध्र प्रदेश, दिल्ली, गुजरात, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना और उत्तर प्रदेश शामिल थे.

इस बीच महाराष्ट्र में मामलों की संख्या 11 हजार से बढ़कर 80 हजार से अधिक, दिल्ली की 3700 से बढ़कर 26 हजार से अधिक और गुजरात की 4700 से बढ़कर 19 हजार से अधिक हो गयी है.

महाराष्ट्र में कोरोना के 2,436 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 80,229 हो गई. इसके अलावा राज्य में कोरोना वायरस से 139 और लोगों की मौत के साथ ही इस महामारी से राज्य में मरने वालों की संख्या 2,849 हो गई है.

ये भी पढ़ें: वंदे भारत मिशन : एयर इंडिया ने तीसरे चरण की बुकिंग की शुरू, 2 घंटे में 6 करोड़ लोगों ने देखी वेबसाइट

अनलॉक 1 पांबदियों का हटना शुरू
केन्द्र एवं राज्य सरकार, फिलहाल उन दिशानिर्देशों को बनाने की प्रक्रिया में लगी हैं ताकि 25 मार्च से शुरू हुए लॉकडाउन में लगाये गये प्रतिबंधों को चरणबद्ध ढंग से हटाया जा सके.

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि धार्मिक स्थलों, शापिंग मॉल, रेस्त्रां, होटल एवं कार्यालयों के लिए जो मानक परिचालन प्रक्रिया बनायी गयी है उनका उद्देश कोविड-19 प्रसार की श्रृंखला पर लगाम लगाने के लिए लोगों के लिए उचित बर्तावों का सुझाव देना है. इसी के साथ साथ सामाजिक एवं आर्थिक गतिविधियों की बहाली करना भी इसका उद्देश्य है.

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने धार्मिक स्थलों, शापिंग मॉल, रेस्त्रां, होटल एवं कार्यालयों के लिए गुरुवार को मानक परिचालन प्रक्रिया (एसओपी) जारी की थी. इनमें से कई क्षेत्र पहले से ही खुल चुके हैं जबकि कुछ सोमवार को खोले जाने हैं.

ये भी पढ़ें: श्रद्धालुओं के लिए अगले सप्ताह से खुलेंगे सबरीमाला और तिरुमला मंदिर के द्वार

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के निदेशक समेत पांच संक्रमित
राज्यों एवं केंद्रशासित प्रदेशों में संक्रमण के मामले शुक्रवार को बढ़ने के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के एक निदेशक समेत पांच कर्मी पिछले सात दिन में संक्रमित पाए गए हैं. इसी के मद्देनजर व्यापक अभियान चलाकर छह-सात जून को मंत्रालय कार्यालय परिसर को संक्रमणमुक्त किया जाएगा.

उत्तर प्रदेश और बंगाल में भी बढ़े मामले
उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के करीब 500 नए मामले सामने आने के साथ राज्य में कुल संक्रमितों की संख्या बढ़कर 9,733 हो गई है. वहीं इस अवधि में 12 और संक्रमितों की मौत हुई है. स्वास्थ्य विभाग की ओर से देर शाम जारी बुलेटिन में बताया गया कि उत्तर प्रदेश में संक्रमण की वजह से 12 और लोगों की मौत के साथ ही अब तक 257 लोग इस महामारी में अपना जान गवां चुके हैं.

गुजरात में गुरुवार शाम से कोविड-19 के 510 नए मामले सामने आए जो कि एक दिन में सर्वाधिक बढ़ोतरी है. वहीं संक्रमण से 35 और लोगों की मौत हो गई. राज्य में संक्रमण के कुल मामले बढ़कर 19,119 हो गए जबकि 35 और मौतें होने से मृतक संख्या बढ़कर 1,190 हो गई.

पश्चिम बंगाल में शुक्रवार को कोविड-19 से 11 और लोगों की मौत होने के बाद, इस महामारी की वजह से जान गंवाने वालों की कुल संख्या 294 हो गई है, वहीं एक दिन में संक्रमण के सर्वाधिक 427 नए मामले आने के साथ कुल संक्रमित लोगों की संख्या 7,303 पहुंच गई है.

केरल में एक दिन में 100 से अधिक नए मामले
केरल में पहली बार किसी एक दिन में कोरोना वायरस के एक सौ से अधिक नए मामले सामने आए और मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने स्थिति को गंभीर बताया. राज्य में कोरोना वायरस के 111 नए मामले सामने आने के साथ ही राज्य में संक्रमित लोगों की संख्या बढ़कर 1,699 हो गयी. राज्य में 1.77 लाख लोग निगरानी में हैं. केरल ने आठ मई को घोषणा की थी कि उसने काफी हद तक कोरोना वायरस पर काबू पा लिया है और सिर्फ 16 लोगों का ही इलाज चल रहा है. हालांकि, विदेशों और अन्य राज्यों से प्रदेश में आए लोगों के साथ ही नए मामलों में अचानक वृद्धि दर्ज की गयी. 

(इनपुट: भाषा )

ये भी देखें:

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

TBSE Tripura Madhyamik 10th Result 2020: त्रिपुरा बोर्ड 10वीं का रिजल्ट जारी, ऐसे ऑनलाइन और ऑफलाइन चेक करें अपने नंबर

[ TBSE Tripura Board Madhyamik 10th Result 2020: त्रिपुरा बोर्ड ऑफ सेकेंडरी एजुकेशन (TBSE), राज्य मध्यमिक 10वीं के नए सिलेबस के परिणाम जारी कर दिए...

EXCLUSIVE: प्लाज्मा थेरेपी को लेकर हैं कई सवाल, डॉक्टर से सुनिए जवाब

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

लद्दाख में LAC से कैसे पीछे हटेंगे भारत और चीन के सैनिक, खाका तैयार

[चीन से तनाव के बीच सीमा पर गरजे भारत के विमानहाइलाइट्सपूर्वी लद्दाख में सैनिकों को किस तरह पीछे करना है, इसका एक खाका...

भारत-चीन तनाव: अमित शाह का राहुल पर हमला, कहा- संसद में चर्चा के लिए तैयार

[भारत और चीन के बीच लद्दाख में जारी संकट पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार सवाल उठा रहे हैं। इसपर अमित शाह ने...

चीनी मीडिया का दावा- भारतीय सेना ने गालवान घाटी में फिर पार की LAC, बोला हमला

[ India-China Ladakh Border Dispute Latest News Live Update: LAC विवाद को लेकर भारत-चीन में हिंसक झड़प के बाद मंगलवार शाम को चीनी मीडिया ने...