Home मुख्य समाचार प्रवासी मजदूरों के साथ गांवों तक पहुंच गया कोरोना वायरस, तेजी से...

प्रवासी मजदूरों के साथ गांवों तक पहुंच गया कोरोना वायरस, तेजी से बढ़ने लगे मामले

[

शुरुआत से ही केंद्र और राज्य सरकारों की कोशिश रही कि कोरोना वायरस (Corona Virus) को शहरों तक ही सीमित रखा जाए और गांवों तक न पहुंचने दिया जाए। हालांकि प्रवासी मजदूरों (Migrant Laborers) की वापसी के साथ यह कोरोना के रोजाना आने वाले मामलों में तेजी से उछाल देखने को मिला है। रिपोर्ट्स के मुताबिक, कई राज्यों में प्रवासी मजदूरों की वापसी के बाद से कोरोना मामलों में 30 से 80 फीसदी का उछाल देखा गया है।

Edited By Shivam Bhatt | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

हाइलाइट्स

  • प्रवासी मजदूरों की वापसी के साथ ग्रामीण इलाकों तक पहुंचा कोरोना वायरस
  • देश में तेजी से बढ़ रहे हैं मामले, अब रोज 9000 के करीब मिल रहे हैं मरीज
  • कई राज्यों में मजदूरों की वापसी से कोरोना मामलों में 30-80% का उछाल
  • उत्तर प्रदेश के कुल ऐक्टिव केसों में से करीब 70 फीसदी प्रवासी मजदूरों से जुड़े

नई दिल्ली

कोरोना वायरस (Corona Virus in India) को लेकर देश का जो सबसे बड़ा डर था, वह अब धीरे-धीरे सही साबित होता दिख रहा है। केंद्र से लेकर राज्य सरकारों को इस बात का डर था कि कोरोना वायरस शहरों तक रहे और गांवों (Corona Cases in Rural Areas) में इसका प्रसार न होने पाए। घनी आबादी वाले गांवों में कोरोना वायरस पहुंचने का मतलब था कि इस बीमारी का बेकाबू होना तय है और मामलों में तेजी से उछाल आएगा। हालांकि प्रवासी मजदूरों (Migrant Laborers) की वापसी के साथ यह डर सच साबित होता नजर आ रहा है और कोरोना के रोजाना आने वाले मामलों में भी तेजी से उछाल देखने को मिला है।

रिपोर्ट्स के मुताबिक, कई राज्यों में प्रवासी मजदूरों की वापसी के बाद से कोरोना मामलों में 30 से 80 फीसदी का उछाल देखा गया है। बुधवार को हमारे सहयोगी अखबार टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित एक रिपोर्ट के मुताबिक, प्रवासियों की वापसी के साथ राजस्थान के ग्रामीण इलाकों में कोरोना के कुल मामले शहरी क्षेत्रों में मुकाबले ज्यादा हो गए हैं।

पढ़ें: 8 जून से मॉल-रेस्त्रां जाना है तो जान लें ये जरूरी बातें



देश के ज्यादातर राज्य अब इस ट्रेंड की चपेट में


चिंता की बात है कि यह ट्रेंड सिर्फ राजस्थान तक सीमित नहीं है। आंध्र प्रदेश में एक महीने पहले तक कोरोना के करीब 90 फीसदी मामले शहरी क्षेत्रों से ही मिल रहे थे। हालांकि अब ग्रामीण इलाकों से भी तेजी से केस सामने आने लगे हैं। अधिकारी इसके पीछे प्रवासी मजदूरों की आवाजाही को जिम्मेदार मानते हैं।



ओडिशा के कोरोना मुक्त जिले में हो गए 499 मरीज


ओडिशा में अब तक करीब 4.5 लाख मजदूर दूसरे राज्यों से वापस आए हैं। सरकारी अधिकारियों का कहना है कि मौजूदा समय में 80 फीसदी कोरोना केस अब ग्रामीण इलाकों के ही हैं। समस्या का अंदाजा इसी से लगा सकते हैं कि जिस गंजम जिले में 2 मई तक कोरोना का एक भी केस नहीं था वहां अब 499 मामले हैं और 3 मरीजों की मौत हो चुकी है।

कोरोना संक्रमण पर डॉक्टर्स की राय

  • कोरोना संक्रमण पर डॉक्टर्स की राय

    -कोरोना से बचने और इसके संक्रमण की कड़ी तोड़ने के लिए सुझाव देते हुए हेल्थ एक्सपर्ट्स की तरफ से कहा जा रहा है कि कोविड-19 अब हमारे देश में कम्युनिटी स्प्रेड के स्तर पर पहुंच चुका है। इस स्थिति में हम चाहकर भी इस वायरस के संपर्क में आने से नहीं बच सकते हैं। लेकिन इस वायरस को तुरंत खत्म जरूर कर सकते हैं।Warm Weather And Coronavirus: कोरोना पर ऐसा हो रहा है गर्म मौसम का असर-जी हां, डॉक्टर्स के अनुसार हर दिन कुछ मात्रा में हमारे गले के अंदर कोरोना वायरस जरूर प्रवेश कर रहा है। बस हमें इतना करना है कि इस वायरस को बढ़ने और पनपने का अवसर नहीं देना है। क्योंकि पहले दिन यह वायरस बहुत कमजोर होता है और हमारे श्वसनतंत्र के ऊपरी हिस्से तक ही सीमित होता है। Ebola Virus Symptoms: कोरोना संक्रमण से कितना अलग है इबोला वायरस?-ऐसे में यदि हम कुछ घरेलू उपयारों को अपनाएं, जिनके बारे में हमारे आयुर्वेद में बहुत विस्तार से बताया गया है। तो वे घरेलू तरीके ही इस वायरस को हमारे शरीर में पनपने नहीं देंगे और कोरोना का संक्रमण हमारा कुछ नहीं बिगाड़ पाएगा।

  • डॉक्टर्स ने सुझाए ये आयुर्वेदिक तरीके...

    -सर गंगाराम हॉस्पिटल के हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहना है कि रसोई में रखे मसाले इस वायरस को शुरुआती स्तर पर मारने में बहुत अधिक प्रभावी हैं। इन मसालों में हल्दी, अजवाइन, पिपली, काली मिर्च,दालचीनी और सेंधा नमक आदि शामिल हैं।-आप हर रोज दिन में दो बार इन मसालों का काढ़ा बनाकर पिएं। ध्यान रखें कि जब आप काढ़ा पिएं तो यह इतना गर्म होना चाहिए कि आप इसे धीरे-धीरे पी सकें। चाय की तरह। Apocalyptic Virus: अगर ये वायरस आया तो मिटा देगा आधी दुनिया!-हल्दी और सेंधा नमक मिलाकर गर्म पानी तैयार करें और इस पानी से गरारे करें। हल्दी के पानी के गरारे आपके शरीर में कोरोना वायरस को पनपने से पहले ही मार डालेंगे। साथ ही आपके श्वस्नतंत्र को कोरोना फ्री रखने में सहायता करेंगे।-लॉन्ग, पिपली, बड़ी इलायची और दालचीनी मिलाकर पानी में उबाल लें। इसमें गुड़ या हल्की चीनी मिला सकते हैं। तैयार काढ़े को छानकर दिन में दो बार चाय की तरह पिएं। ये सभी मसाले ऐंटिवायरल दवाओं की तरह काम करते हैं। हर रोज इनका सेवन आपको कोरोना से बचाकर भी रखेगा और शरीर में आए कोरोना को मारने में भी सहायता करेगा।Coronavirus Updates: मरीजों पर ढीली पड़ रही है कोरोना की पकड़?

  • इस समय ये चीजें हैं जीवन रक्षक

    -हेल्थ एक्सपर्ट्स का कहा है कि सोशल डिस्टेंसिंग और मास्क का उपयोग इस समय दो ऐसे तरीके हैं, जो मानव जाति के लिए जीवन रक्षक बने हुए हैं। इसलिए घर से बाहर निकलते समय इन दोनों बातों का विशेष ध्यान रखें।-इसके साथ ही जब भी कहीं बाहर से घर में आएं तो सबसे पहले बाथरूम में जाएं। कपड़े बदलें, हाथ-मुंह धुलें और हल्दी, सेंधा नमक के पानी से गरारा करने और काढ़ा पीने के बाद ही परिवार से मिलें। ऐसा करने से आपके शरीर में भी कोरोना नहीं पनपेगा और आपका परिवार भी इस संक्रमण से बचा रहेगा।

  • रात को करना है यह जरूरी काम

    -हेल्थ एक्सपर्ट्स के अनुसार, रात को सोने से पहले ऊपर बताए गए आयुर्वेदिक काढ़े सेवन करके ही सोना है। पूरा परिवार रात को साथ बैठकर इस काढ़े का सेवन कर सकता है।-रात को सोने से पहले आपको हल्दी के पानी से गरारे जरूर करने हैं। परिवार के सभी सदस्य नियम बना लें कि बिना गरारे किए कोई बिस्तर पर नहीं जाएगा। ऐसा इसलिए भी जरूरी है कि कोरोना के जो भी थोड़ी मात्रा में वायरस हमारे शरीर में पहुंचे हैं, वे खत्म हो जाएं।Coronavirus: किस धातु पर कितने दिन जीवित रहता है कोरोना, जानें संक्रमण का समय

  • कोरोना फ्री नाक के लिए अपनाएं ये तरीके

    -आमतौर पर कोरोना दो तरीकों से ही हमारे शरीर में प्रवेश करता है। नाक के द्वारा और मुंह के द्वारा। ऐसे में जरूरी है कि आप नाक की सफाई का भी पूरा ध्यान रखें।- इसके लिए हल्दी और सेंधा नमक के गर्म पानी की भांप लें। इसके बाद नाक के दोनों सुरों में सरसों का तेल लगाएं और फिर सो जाएं।Coronavirus: सेनिटाइजर उपयोग करने का सही तरीका, लापरवाही से लग सकती है आग

यूपी के ऐक्टिव केसों में 70 फीसदी प्रवासी मजदूरों के

उत्तर प्रदेश में करीब 30 लाख प्रवासी मजदूर दूसरे राज्यों से वापस आए हैं। ऐक्टिव मामलों को देखें तो बस्ती और अमेठी जैसे छोटे जिले क्रमशः दूसरे और तीसरे पायदान पर आ गए हैं। 2 जून तक बस्ती में कोरोना के ऐक्टिव मामलों की संख्या 183 थी और अमेठी में ऐक्टिव केस 142 थे। यूपी के आंकड़ों से साफ है कि प्रवासी मजदूरों की वापसी के साथ कैसे कोरोना के मामलों में तेजी आई है। 2 जून तक राज्य के 3324 ऐक्टिव मामलों में से 70 फीसदी प्रवासी मजदूरों से जुड़े थे।

कोरोना के मामलों में आई तेजी, रोजाना रेकॉर्ड केस आ रहे

कोरोना के मामलों में तेजी के साथ ही नए रेकॉर्ड बनने का सिलसिला जारी है। गुरुवार को पिछले 24 घंटों के दौरान एक बार फिर 9,304 रेकॉर्ड केस सामने आए। इससे पहले बुधवार को ही 8,909 केस आए थे। एक जून से रोज आठ हजार से ज्यादा केस सामने आ रहे हैं। इस महीने के चार दिनों में अब तक 34,781 केस आ चुके हैं। अब तक देश में 1,04,106 लोग कोरोना से जंग जीत चुके हैं। कोरोना अब तक 6,075 लोगों की जान भी ले चुका है। ठीक होने की दर में फिलहाल कुछ कमी दर्ज की गई है। बुधवार को यह 48.31 प्रतिशत थी जो अब 47.99 पर आ गई है।

कोरोना: चीन का दावा, 99% असरदार दवा की खोज सफलकोरोना: चीन का दावा, 99% असरदार दवा की खोज सफलकोरोना वायरस वैक्‍सीन की तलाश के बीच एक अच्‍छी खबर आई है। अमेरिका में एक कंपनी का ट्रायल फेज टू में पहुंच गया है। चीन में एक वैक्‍सीन फेज टू पूरा कर चुकी है और अगले साल की शुरुआत तक मार्केट में उतारी जा सकती है।

Web Title covid’s new hunting ground: rural india as cases surge with return of migrants(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

VIDEO: जब राजदीप सरदेसाई पर बिफर पड़े थे प्रणब मुखर्जी, बोले- सलीका मत भूलिये

https://www.youtube.com/watch?v=ADdUMjXdRPIhttps://www.youtube.com/watch?v=ADdUMjXdRPI हालांकि इस इंटरव्यू के अंत में प्रणब मुखर्जी ने भी राजदीप को इस तरह झिड़कने के लिए माफी मांगी। इस पर राजदीप ने...

चीनी अरबपति जैक मा को गुरुग्राम के एक कोर्ट ने भेजा समन, भारत में उनकी कंपनी पर लगे ये गंभीर आरोप

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

दिल्ली में कोरोना: अरविंद केजरीवाल ने बताया, होम आइसोलेशन वालों को मिलेगा ऑक्सीजन पल्स मीटर

[दिल्ली में कोरोना वायरस (corona in delhi) के सीरियस मरीज कम हैं। यह बात दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल ने कही। उन्होंने बताया कि...

Sonam Wangchuk on China: सोनम वांगचुक से डर गया चीन, ये है माजरा

[लद्दाख बॉर्डर पर भारतीय सेना के सामने अड़ा चीन इस वक्त सोनम वांगचुक (Sonam Wangchuk on China) से डरा हुआ दिखाई दे रहा...