Home मुख्य समाचार Coronavirus in India: वैज्ञानिकों का अनुमान, भारत में कोरोना वायरस ने नवंबर-दिसंबर...

Coronavirus in India: वैज्ञानिकों का अनुमान, भारत में कोरोना वायरस ने नवंबर-दिसंबर में ही दे दी थी दस्तक

[

Edited By Chandra Pandey | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

हाइलाइट्स

  • भारत में कोरोना वायरस का पहला केस 30 जनवरी को केरल में सामने आया था
  • हालांकि, वैज्ञानिकों का अनुमान है कि देश में नवंबर-दिसंबर से ही कोरोना मौजूद था
  • हैदराबाद स्थित सेंटर फॉर सेलुलर ऐंड मॉलिक्यूलर बायॉलजी के वैज्ञानिकों का अनुमान
  • कोरोना वायरस का जो स्ट्रेन फैल रहा है उसके 26 नवंबर और 25 दिसंबर के बीच में पैदा होने का है अनुमान

सईद अकबर, हैदराबाद

भारत में कोविड-19 का पहला केस (first coronavirus case in India) वैसे तो 30 जनवरी को केरल में मिला था। लेकिन कुछ वैज्ञानिकों का दावा है कि भारत में कोरोना वायरस नवंबर 2019 से ही फैल रहा था। वैज्ञानिक भाषा में कहा जाए तो कोरोना वायरस के इंडियन स्ट्रेन का MRCA (मोस्ट रिसेंट कॉमन एन्सेस्टर) नवंबर 2019 से ही फैल रहा था।

26 नवंबर से 25 दिसंबर के बीच भारत में आया कोरोना!

देश के शीर्ष रिसर्च इंस्टिट्यूट के टॉप वैज्ञानिकों का अनुमान है कि वुहान के नोवेल कोरोना वायरस स्ट्रेन के ठीक पहले वाले रूप का 11 दिसंबर 2019 तक प्रसार हो रहा था। टाइम टु मोस्ट रिसेंट कॉमन एन्सेस्टर (MRCA) नाम की वैज्ञानिक तकनीक का इस्तेमाल करते हुए वैज्ञानिकों ने अनुमान लगाया है कि अभी तेलंगाना और दूसरे राज्यों में कोरोना वायरस का जो स्ट्रेन फैल रहा है वह 26 नवंबर और 25 दिसंबर के बीच में पैदा हुआ था। इसकी औसत तारीख 11 दिसंबर है।

किस राज्य में कितने कोरोना मरीज, पूरी लिस्ट

…तो टेस्ट के अभाव में पता नहीं लग सका

सवाल उठता है कि क्या भारत में 30 जनवरी से पहले ही चीन से आने वाले यात्रियों के जरिए कोरोना वायरस ने दस्तक दी थी। इसका जवाब साफ नहीं है क्योंकि उस वक्त देश में बड़े पैमाने पर कोविड-19 के टेस्ट नहीं हो रहे थे।

वैज्ञानिकों ने भारत में कोरोना का एक नया स्ट्रेन खोजा

हैदराबाद स्थित सेंटर फॉर सेलुलर ऐंड मॉलिक्यूलर बायॉलजी (CCMB) ने न सिर्फ कोरोना वायरस के भारतीय स्ट्रेन के MRCA की टाइमिंग का अनुमान लगाया है बल्कि एक नए स्ट्रेन या क्लेड की भी खोज की है जो मौजूदा स्ट्रेन से अलग है। वैज्ञानिकों ने भारत के कोरोना के नए स्ट्रेन को क्लेड I/A3i नाम दिया है।

वैज्ञानिकों का दावा, भारत में है अलग तरह का कोरोना वायरस

नए स्ट्रेन की जड़ें चीन नहीं बल्कि किसी दक्षिण-पूर्व एशियाई देश से जुड़ी

केरल में मिले भारत के पहले कोरोना केस का स्ट्रेन वुहान से जुड़ा हुआ था लेकिन हैदराबाद में कोरोना के जिस नए स्ट्रेन की खोज हुई है उसकी जड़े चीन में नहीं बल्कि दक्षिण-पूर्व एशिया के किसी देश की है। CCMB के डायरेक्टर डॉक्टर राकेश के. मिश्रा ने बताया कि नया स्ट्रेन किस देश से पैदा हुआ यह पता नहीं चला है लेकिन यह चीन का नहीं है, किसी दक्षिण-पूर्व एशियाई देश का है।

एक मीटर की दूरी, कोरोना का खतरा 82% कम

नया स्ट्रेन तेलंगाना, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और दिल्ली में बड़े पैमाने पर फैल रहा

वैज्ञानिकों ने भारत में कोरोना वायरस के जिस नए स्ट्रेन को खोजा है वह तमिलनाडु, तेलंगाना, महाराष्ट्र और दिल्ली में बड़े पैमाने पर फैल रहा है। बिहार, कर्नाटक, यूपी, पश्चिम बंगाल, गुजरात और मध्य प्रदेश में भी नया स्ट्रेन फैल रहा है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

…तो क्या Delhi-NCR में पुलिस को गुमराह कर रहा था गैंगस्टर विकास दुबे!

https://www.youtube.com/watch?v=JXBGkwG9dMEचप्पे-चप्पे पर फैल गई थी दिल्ली पुलिस ...

पीएम मोदी की जब दो गज दूरी कोरोना की दवा हो सकती है, कोरोनिल तो ज्यादा ताकतवर: बाबा रामदेव

[Edited By Shashi Mishra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 01 Jul 2020, 01:46:00 PM IST प्रेस कॉन्फ्रेंस करते बाबा रामदेवहाइलाइट्सबाबा रामदेव का...

अब देश के ग्रामीण इलाकों में कहर बना कोरोना, सामुदायिक प्रसार के संकेतों ने बढ़ाई चिंता

[नई दिल्लीदेश के ग्रामीण इलाकों में कोरोना वायरस के बढ़ते कहर से चिंताएं बढ़ गई हैं। इन इलाकों में पहले से ही चिकित्सा...

चीन से लड़ने को तैयार की गई एक खुफिया रेजीमेंट, जो सेना के बजाए रॉ के जरिए सीधे प्रधानमंत्री को रिपोर्ट करती है

[ टूटू रेजिमेंट को शुरुआती दौर में ट्रेनिंग सीआईए ने दी थी, इस रेजीमेंट के जवानों को अमेरिकी आर्मी की ‘ग्रीन बेरेट’ की तर्ज़...

पायलट पर सख्ती से कांग्रेस ने देशभर में अपने नेताओं को दिया बड़ा संदेश

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

Covid-19: देश में रिकवरी रेट हुआ 54.13 प्रतिशत, 24 घंटे में ठीक हुए 9,120 मरीज

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...