Home मुख्य समाचार bharat me ek alag tarah ka corona virus: भारत में है एक...

bharat me ek alag tarah ka corona virus: भारत में है एक अलग तरह का कोरोना वायरस

[

नई दिल्ली

भारत में कोरोना वायरस (Corona Virus in India) के मामले रोज नए रेकॉर्ड बना रहे हैं। बुधवार शाम तक देश में कोरोना के 2 लाख 16 हजार से ज्यादा मरीज हो चुके हैं। इस बीच हैदराबाद के सेंटर फॉर सेल्युलर एंड मॉलिक्युलर बयॉलजी (सीसीएमबी) के वैज्ञानिकों ने देश में कोरोना संक्रमित लोगों में एक अलग तरह के कोरोना वायरस (SARS-CoV2) का पता लगाया है। वैज्ञानिकों का दावा है कि फिलहाल यह दक्षिणी राज्य जैसे- तमिलनाडु और तेलंगाना में ज्यादातर पाया गया है।

वैज्ञानिकों ने वायरस के इस अनूठे समूह को ‘क्लेड ए3आई’ नाम दिया है, जो भारत में जीनोम (जीनों के समूह) सीक्वेंस के 41 फीसदी सैंपलों में पाया गया है। वैज्ञानिकों ने 64 जीनोम का सीक्वेंस तैयार किया है। सीसीएमबी ने ट्वीट किया, ‘भारत में SARS-CoV2 के फैलने के जीनोम ऐनालिसिस पर एक नया तथ्य सामने आया है। रिसर्च के मुताबिक, इस वायरस का एक अनूठा समूह भी है जो भारत में मौजूद है। इसे क्लेड ए3आई (CLADE-A3i) नाम दिया गया है।’

तेलंगाना और तमिलनाडु के ज्यादातर सैंपल CLADE-A3i जैसे


सीसीएमबी ने आगे कहा, ‘माना जा रहा है कि यह ग्रुप फरवरी 2020 में वायरस से पैदा हुआ और देशभर में फैल गया। इसमें भारत से लिए गए SARS-CoV2 जीनोम के सभी सैंपलों के 41 फीसदी और सार्वजनिक किए गए वर्ल्ड जीनोम का साढ़े तीन फीसदी है।’ सीसीएमबी वैज्ञानिक और औद्योगिक अनुसंधान परिषद (सीएसआईआर) के तहत आता है। सीसीएमबी के डायरेक्टर और रिसर्च पेपर के सह-लेखक राकेश मिश्रा ने कहा कि तेलंगाना और तमिलनाडु से लिए गए ज्यादातर सैंपल क्लेड ए3आई की तरह हैं। उन्होंने कहा कि ज्यादातर सैंपल भारत में कोविड-19 के फैलने के शुरूआती दिनों के हैं।




फिलीपींस और सिंगापुर से मिलता-जुलता है यह टाइप

मिश्रा ने कहा कि दिल्ली में पाए गए सैंपलों से इसकी थोड़ी सी समानता है, लेकिन महाराष्ट्र और गुजरात के सैंपलों से कोई समानता नहीं है। कोरोना वायरस का यह टाइप सिंगापुर और फिलीपींस में पता चले मामलों जैसा है। उन्होंने कहा कि आने वाले दिनों में और अधिक सैंपलों का जीनोम सीक्वेंस तैयार किया जाएगा और इससे इस विषय पर और जानकारी मिलने में मदद मिलेगी। साथ ही, यह भी कहा गया है कि भारत में SARS-CoV2 के अलग और बहुत ज्यादा मात्रा में उपलब्ध समूह की विशेषता बताने वाला यह पहला व्यापक अध्ययन है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

राम मंदिर भूमि पूजन का मुहूर्त अशुभ, इसीलिए देश के गृह मंत्री से पुजारी तक कोरोना संक्रमित-दिग्विजय सिंह

[Digvijay Singh on Ram Mandir news: दिग्विजय सिंह ने राम मंदिर पूजन (Ram Temple in Ayodhya) के मुहूर्त को लेकर साधा निशाना। उन्होंने...

bharat me ek alag tarah ka corona virus: भारत में है एक अलग तरह का कोरोना वायरस

[नई दिल्ली भारत में कोरोना वायरस (Corona Virus in India) के मामले रोज नए रेकॉर्ड बना रहे हैं। बुधवार शाम तक देश में कोरोना...

भारत-चीन तनाव: अमित शाह का राहुल पर हमला, कहा- संसद में चर्चा के लिए तैयार

[भारत और चीन के बीच लद्दाख में जारी संकट पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी लगातार सवाल उठा रहे हैं। इसपर अमित शाह ने...

हम मास्टरबेशन करते हैं, अपनी सेक्स लाइफ कैसे सुधारें?

सवाल: मेरी उम्र 37 साल है और मेरी शादी को 10 साल हो चुके हैं। शादी के पहले कुछ वर्षों में, मैंने और...

Unlock 1.0: सरकार ने बताया कैसे खुलेंगे धार्मिक स्थल, ऑफिस, मॉल और होटल-रेस्टोरेंट, 10 खास बातें

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source link