Home मुख्य समाचार अफ़ग़ानिस्तान की जेल पर आईएस ने किया हमला का दावा, 29 की...

अफ़ग़ानिस्तान की जेल पर आईएस ने किया हमला का दावा, 29 की मौत

[

इमेज कॉपीरइट
EPA/GHULAMULLAH HABIBI

अफ़ग़ानिस्तान के पूर्वी हिस्से के शहर जलालाबाद के सेंट्रल जेल पर हुए हाई प्रोफाइल हमले में कम से कम 29 लोग मारे गए हैं.

ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले चरमपंथी संगठन ने हमले की ज़िम्मेदारी ली.

ये हमला रविवार की शाम को हुआ. बंदूक़धारी चरमपंथियों ने जेल के प्रवेश द्वार के पास कार में रखे बम से धमाके किए.

ज़िले के एक प्रवक्ता के अनुसार ये लड़ाई क़रीब 20 घंटे तक चली जिनमें आठ हमलावर मारे गए. हमले के बाद क़रीब 300 क़ैदी फ़रार हो गए हैं.

सुरक्षाकर्मियों में से एक सोर्स ने समाचार एजेंसी एएफ़पी को बताया कि जेल में कुल 1793 क़ैदी थे, ज़्यादातर तालिबान और आईएस लड़ाके थे. इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं है कि हमले का मक़सद कुछ ख़ास क़ैदियों को छुड़ाना था.

जेल में ऐसे क़ैदी भी थे जिन पर आम अपराध के आरोप थे. प्रांत के प्रवक्ता के अनुसार भाग गए 1025 क़ैदियों को पकड़ कर दोबारा जेल के अंदर लाया जा चुका है और 430 लोगों को बचाया जा चुका है.

इस हमले में 50 से ज़्यादा लोग घायल हुए हैं. अफ़ग़ान सरकार और तालिबान के बीच युद्ध विराम के दूसरे और तीसरे दिन ये हमला हुआ है. युद्ध विराम के दौरान सैकड़ों तालिबान लड़ाकों को सरकार ने रिहा कर दिया है ताकि दोनों पक्षों के बीच बातचीत आगे बढ़ सके.

तालिबान ख़ुद को आईएस का कट्टर विरोधी मानता है और उसने साफ़ कहा है कि इस हमले के पीछे उसका कोई हाथ नहीं है.

शनिवार को अफ़ग़ानिस्तान की ख़ुफ़िया एजेंसी ने कहा था कि उसने जलालाबाद के नज़दीक आईएस के एक वरिष्ठ कमांडर असद उल्लाह ओरकज़ई को मार दिया है.

इमेज कॉपीरइट
EPA/GHULAMULLAH HABIBI

अफ़ग़ान सुरक्षा बलों के ख़िलाफ़ कई घातक हमलों के पीछे कमांडर असद उल्लाह ओरकज़ई का हाथ बताया जाता है.

नानगरहर ज़िला अफ़ग़ानिस्तान का वो प्रांत है जहां आईएस ने सबसे पहले अपना गढ़ बनाया था. पिछले साल अफ़ग़ानिस्तान की सरकार ने दावा किया था कि उसने आईएस के स्थानीय गुट इस्लामिक स्टेट ख़ोरासान को पूरी तरह ख़त्म कर दिया है लेकिन सच्चाई ये है कि आईएस अभी भी ज़िले में मौजूद है.

नानगरहर में इस साल कई हमले हुए हैं. मई के महीने में एक पुलिस अधिकारी के जनाज़े में मौजूद लोगों के बीच एक आत्मघाती हमला हुआ था जिनमें 32 लोग मारे गए थे.

(बीबीसी हिन्दी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं.)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

चाइनीज कंपनियों को बड़ा झटका, सरकारी खरीद में बदल गए बोली लगाने के नियम

[Edited By Shashank Jha | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 24 Jul 2020, 12:11:00 AM IST नई दिल्ली लद्दाख में सैनिकों पर हमले के...

सैटेलाइट तस्वीरों में खुलासा- गलवान नदी के बहाव को बुलडोजर की मदद से प्रभावित कर रहा चीन…

[नई दिल्ली: NDTV को प्राप्त हुई हाई रिजोल्यूशन सेटेलाइट इमेज बताती हैं कि चीन उत्तर पूर्वी लद्दाख में गलवान नदी के बहाव को...

साल 2012 में चीन की खदान में चमगादड़ से फैला था Coronavirus, फिर वुहान लैब आकर लीक हुआ: वैज्ञानिक

[पेइचिंगपिछले साल नवंबर से चीन के वुहान में कोरोना वायरस इन्फेक्शन के मामले सामने आने लगे जिसने अब तक दुनियाभर में 2 करोड़...

सेक्स में बाधा बनता है पति-पत्नी की उम्र में ज्यादा अंतर?

मैं 28 साल का हूं और मेरी पत्नी 19 साल की। क्या उम्र का यह फासला हमारी सेक्स लाइफ में बाधा बन...

गैंगस्टर विकास दुबे के उदय और 8 पुलिसकर्मियों की हत्या की जांच के लिए यूपी सरकार ने किया विशेष जांच दल का गठन

[कानपुर के बिकरू गांव में आठ पुुलिस कर्मियों की हत्या कर दी गई थी (फाइल फोटो).लखनऊ: गैंगस्टर विकास दुबे के उदय और 8...