Home मुख्य समाचार पैंगोंग सो, देपसांग में पीछे नहीं हट रहा चीन, 5वें दौर की...

पैंगोंग सो, देपसांग में पीछे नहीं हट रहा चीन, 5वें दौर की सैन्य बातचीत टली

[

Edited By Ashish Kumar | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

हाइलाइट्स

  • पैंगोंग सो और देपसांग में चीनी सैनिकों के पीछे हटने के कोई संकेत नहीं
  • दोनों देशों के बीच होने वाली 5वें दौर की सैन्य कमांडर स्तर की बातचीत टल
  • चीन की हरकतों के मद्देनजर भारतीय सेना और नेवी को अलर्ट पर रखा गया

नई दिल्ली

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच तनाव कम होने का नाम नहीं ले रहा है। एक तरफ पैंगोंग सो और देपसांग में चीनी सैनिकों के पीछे हटने के कोई संकेत नहीं मिल रहे हैं, दूसरी तरफ चीन LAC पर अरुणाचल प्रदेश तक लगातार अपने सैनिकों की संख्या बढ़ा रहा है। ऐसे में दोनों देशों के बीच होने वाली सैन्य कमांडर स्तर की बातचीत को अगले सप्ताह तक टाल दिया गया है।

चीन की हरकतों के मद्देनजर भारत ने 14 कॉर्प्स कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह और चीनी मेजर जनरल लुई लिन के बीच 5वें दौर की बातचीत के लिए बिलकुल भी जोर नहीं दिया। दोनों देशों के बीच 5वें दौर की यह बातचीत 30 जुलाई के लिए प्रस्तावित थी। लेकिन चीन के इरादों को भांपते हुए फिलहाल बातचीत को टाल दिया गया है।

‘चीन के पीछे न हटने की दो वजह’

अधिकारियों के मुताबिक, पैंगोंग सो और देपसांग में चीनी सैनिकों के पीछे न हटने की दो वजहें हो सकती हैं। पहला, दोनों देशों के बीच 14 जुलाई को सैन्य कमांडर स्तर की चौथे दौर की बातचीत में डिसइंगेजमेंट के जिस प्रपोजल पर सहमति बनी थी उसे लागू करना चाहिए या नहीं, इसको लेकर चीन अभी भी दुविधा की स्थिति में है। दूसरा, चीन इस विवाद को खींचकर सर्दियों तक ले जाना चाहता है।

पढ़ें- लद्दाख में लंबा खिंचेगा तनाव, सर्दियों से निपटने की तैयारी में जुटी सेना

एयरफोर्स और नेवी अलर्ट

सूत्रों के अनुसार, भारतीय वायुसेना ठंड के मौसम में भी वास्तविक नियंत्रण रेखा से लगे क्षेत्रों में अलर्ट रहेगी, वहीं भारतीय नौसेना हिंद महासागर में अपनी आक्रामक गश्त लगाएगी। सूत्रों ने बताया कि भारतीय सेना पूर्वी लद्दाख में लंबे समय तक चलने वाले इस गतिरोध को लेकर विस्तृत तैयारी कर रही है।

चीन के साथ 4 बार सैन्य स्तर की हुई बातचीत

क्षेत्र में शांति और स्थिरता बहाल करने के लक्ष्य से पूर्वी लद्दाख में संघर्ष वाली जगह से सेनाओं की वापसी को लेकर अभी तक दोनों देशों की सेनाओं के शीर्ष सैन्य कमांडरों के बीच चार चरण की वार्ता हो चुकी है। गौरतलब है कि पांच जुलाई को राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल और चीन के विदेश मंत्री वांग यी ने टेलीफोन पर करीब दो घंटे तक पूर्वी लद्दाख में दोनों देशों के बीच तनाव को कम करने के लिये चर्चा की थी । दोनों पक्षों ने इस वार्ता के बाद छह जुलाई के बाद पीछे हटने की प्रक्रिया शुरू की थी।

(देश-दुनिया और आपके शहर की हर खबर अब Telegram पर भी। हमसे जुड़ने के लिए यहां क्‍ल‍िक करें और पाते रहें हर जरूरी अपडेट)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ विवाद पर गृह मंत्री बोले- हम अपनी एक-एक इंच जमीन को लेकर सजग, कोई इसे नहीं ले सकता

[ लद्दाख में चीन के साथ जारी गतिरोध के बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को कहा कि मोदी सरकार देश...

Farm Bill: कृषि मंत्री तोमर बोले- MSP जारी रहेगा, लेकिन ये नए कानून का हिस्सा नहीं

https://www.youtube.com/watch?v=sS9K0OlclL4राजनीतिक बयानबाजी कर रहे हैं कैप्टन ...

Kozhikode Plane Crash: को-पायलट अखिलेश का मथुरा में अंतिम संस्कार, गर्भवती पत्नी हुई बेसुध

[Edited By Sujeet Upadhyay | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated: 10 Aug 2020, 08:21:00 AM IST को-पायलट अखिलेश शर्मा का पार्थिव...

दिल्ली में बीते 24 घंटों में कोरोना संक्रमितों का बना नया रिकॉर्ड, 50 हजार के पास पहुंचा आंकड़ा

[Delhi Coronavirus Cases: दिल्ली में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 50 हजार के करीब पहुंचा.नई दिल्ली: Delhi corona Update: देश में कोरोना का कहर...

UPPSC रिजल्ट में बदलाव! आईएएस की तरह दिख रहा पीसीएस का परिणाम

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

500 अरब डॉलर के पार विदेशी मुद्रा भंडार: तीन दशक में शून्य से शिखर तक कैसे पहुंचा भारत

[भारत का फॉरेक्स रिजर्व 500 अरब डॉलर के पार।हाइलाइट्सभारत ने विदेशी मुद्रा भंडार के मामले में नई मंजिल तय कर ली है इतिहास...