Home मुख्य समाचार चीन के नक्शेकदम पर नेपाल, अब दुनिया को भेजेगा विवादित नक्शा

चीन के नक्शेकदम पर नेपाल, अब दुनिया को भेजेगा विवादित नक्शा

[

  • संयुक्त राष्ट्र संगठन और गूगल को भेजेगा विवादित नक्शा
  • अगस्त के मध्य तक हम नक्शा भेज देंगे: मंत्री पद्मा अर्याल

भारत से तनाव के बीच पड़ोसी मुल्क नेपाल अंतरराष्ट्रीय समुदाय को अपना विवादित नक्शा भेजने की तैयारी कर रहा है. भूमि प्रबंधन मंत्रालय के अनुसार, सरकार नक्शे को अंग्रेजी में अनुवादित करने और संयुक्त राष्ट्र संगठन (UNO) और गूगल सहित अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भेजने के लिए आवश्यक तैयारी कर रही है.

मंत्री पद्मा अर्याल ने कहा कि हम जल्द ही कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा को संशोधित नक्शे में शामिल करते हुए अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भेजेंगे. उन्होंने कहा कि हम नक्शे को अंग्रेजी में अनुवादित कर रहे हैं. अगस्त के मध्य तक नक्शा हम भेज देंगे.

ये भी पढ़ें- राम मंदिर पर सियासत करता रहा है विपक्ष, आगे भी करता रहेगा, नई बात नहीं: रविशंकर

नेपाली मापन विभाग के सूचना अधिकारी दामोदर ढकाल के मुताबिक, नेपाल के नए नक्शे की 4000 कॉपी को अंग्रेजी में प्रकाशित करने का काम जारी है. इसके लिए एक कमेटी का भी गठन किया गया है.

ये भी पढ़ें- दिल्ली हिंसाः स्पेशल सेल ने उमर खालिद से की पूछताछ, कब्जे में लिया फोन

विभाग ने देश के भीतर वितरित किए जाने वाले नक्शे की 25,000 कॉपियां प्रिंट करा ली हैं. स्थानीय इकाइयों, प्रांतीय और अन्य सभी सार्वजनिक कार्यालयों में ये कॉपी मुफ्त में दी जाएंगी, जबकि जनता इसे 50 रुपये में खरीद सकती है.

20 मई को जारी किया था नक्शा

बता दें कि नेपाल सरकार ने 20 मई को भारत के तीन हिस्सों को अपना बताते हुए नक्शा जारी किया था. विवादित नक्शे में भारत के कालापानी, लिपुलेख और लिंपियाधुरा को शामिल किया गया है. भारत इस विवादित नक्शे का विरोध करता रहा है. बावजूद इसके 13 जून को नेपाल की संसद में ये पास हो गया था.

नेपाल सरकार ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 15 मई को अपनी वार्षिक योजनाओं और नीतियों को पेश करते हुए नए नक्शे को जारी करने की बात कही थी. इस विवादित नक्शे के जारी होने के बाद नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली अपने ही देश में घिर गए थे. पार्टी के अंदर ही उनके खिलाफ उठने लगी थी. भारत विरोधी फैसलों के कारण उन्हें पार्टी अध्यक्ष और प्रधानमंत्री पद से हटाने की बात चल रही थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android IOS

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

कांग्रेस में फिर से उठ सकती है विरोध की आवाज, कई नेता संगठन में बदलाव से खुश नहीं- रिपोर्ट

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

Madhya Pradesh : आज हो सकता है विभागों का आवंटन, शिवराज ने केंद्रीय नेताओं से की मुलाकात

[ Publish Date:Mon, 06 Jul 2020 01:42 AM (IST) भोपाल, जेएनएन। मध्‍य प्रदेश मंत्रिमंडल विस्तार के चौथे दिन सोमवार को मंत्रियों के बीच विभाग...

गलवान झड़प के 18 दिन बाद मोदी 11 हजार फीट ऊंची फॉरवर्ड लोकेशन पर पहुंचे; जवानों से बात की, घायल सैनिकों से भी मिलेंगे

[ 15 जून को गलवान में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थेमोदी ने कहा था कि जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी दैनिक भास्करJul...

Indian Railways ने बेटिकट यात्रियों से वसूले 561 करोड़ रुपये, हर साल बढ़ रही जुर्माने से कमाई

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

सेना में 89 ऐप पर बैन: हाई कोर्ट की लेफ्टिनेंट कर्नल को दो टूक- फेसबुक अकाउंट बंद कीजिए या नौकरी छोड़िए

[Edited By Naveen Kumar Pandey | पीटीआई | Updated: 14 Jul 2020, 07:56:00 PM IST दिल्ली हाई कोर्ट।हाइलाइट्सफेसबुक यूज करने की...