Home लाइफस्टाइल एक्सपर्ट की सलाह जल्दी डिस्चार्ज हो जाता हूं, क्या मैं नामर्द हूं?

जल्दी डिस्चार्ज हो जाता हूं, क्या मैं नामर्द हूं?

मेरी एक सेक्स से जुड़ी समस्या है, हालांकि इसे लेकर मैं श्योर भी नहीं हूं। जब भी मैं पार्टनर से सेक्स करता हूं, बहुत जल्दी डिस्चार्ज हो जाता हूं। क्या मैं नामर्द हूं? कोई कैसे पता करे कि वह नामर्द है? क्या इसका इलाज मुमकिन है?

एक्सपर्ट सलाह:  आपका कहना है कि जब आप पार्टनर के साथ सहवास करते हैं तब जोश इतना बढ़ जाता है कि आप कंट्रोल नहीं कर पाते और सीधे क्लाइमैक्स पर पहुंच जाते हैं। यह नामर्दगी की नहीं, जल्दी डिस्चार्ज की समस्या है। पुरुषों के मामले में सेक्स के दौरान चार अवस्थाएं होती हैं – ख्वाहिश (कामेच्छा), प्राइवेट पार्ट में तनाव, प्रवेश (सहवास) और क्लाइमैक्स (डिस्चार्ज)। जहां तक बात नामर्दगी की है तो इस बीमारी में पुरुष प्राइवेट पार्ट में न तो सही तनाव ही आता है और अगर जो आता भी है वह बरकरार नहीं रह पाता कि वह खुद को या पार्टनर को संतुष्ट कर सके। चूंकि आपको तनाव होता और कामेच्छा भी भरपूर होती है, इस लिहाज से आपको नामर्दगी की बीमारी नहीं है। वैसे, पहले नामर्दगी को लाइलाज माना जाता था लेकिन अब इसका इलाज 100 फीसदी संभव है। किसी भी उम्र में इसका इलाज मुमकिन है। कहते हैं न कि सेक्स की कोई एक्सपायरी डेट नहीं होती।

जहां तक बात आपके जल्दी डिस्चार्ज होने की है तो आप डिपॉक्सिटीन 60 एमजी (Depoxitin 60mg) की 1 गोली, 1 गिलास पानी के साथ सेक्स से एक घंटे पहले ले सकते हैं। इसका असर 4 घंटे तक रहता है और इसे 24 घंटे में एक बार लिया जा सकता है। इससे ज्यादातर जल्दी डिस्चार्ज की समस्या में फायदा होता है। कई बार प्राइवेट पार्ट के आगे के हिस्से के अधिक सेंसिटिव होने से भी ऐसी समस्या आ सकती है। इसके लिए आप मार्केट में मौजूद संवेदना कम करने वाली क्रीम या स्प्रे का सहारा ले सकते हैं। बस ध्यान रखें कि सहवास से पहले क्रीम लगाए हुए हिस्से को पानी से धो लें, वरना प्रवेश के बाद आपके पार्टनर की प्राइवेट पार्ट की संवेदना कम हो जाएगी। इसका पर्मानेंट इलाज अश्विनी और वज्रोलि जैसी योग मुद्राओं से भी संभव है। जब तक जल्दी डिस्चार्ज की समस्या रहे तब तक एक या दूसरी तरह से अपने पार्टनर को संतुष्ट जरूर करें क्योंकि संभोग का मतलब ही है बराबर का भोग (आनंद)!

एक और नुस्खा है, पुरुष जब पेशाब करें तो रुक-रुक कर करें यानी पेशाब करते वक्त थोड़ा रुकें (लगभग 1 सेकंड) और फिर जारी रखें। ऐसा करने से भी कभी-कभी सहवास में अधिक वक्त मिलेगा। इसकी वजह यह है कि दिमाग यह नहीं समझता कि आप किस लिक्विड (पेशाब या सीमेन) को शरीर से बाहर निकाल रहे हैं। ऐसा करने से क्लाईमैक्स तक पहुंचने का वक्त अपने आप बढ़ जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Coronavirus Live Updates: ओडिशा में 304 और असम में 133 नए मामले सामने आए

; if (d.getElementById(id)) return; js = d.createElement(s); js.id = id; js.async=true; is_fb_sdk=true; js.src="https://connect.facebook.net/en_GB/sdk.js#xfbml=1&version=v3.2&appId=1652954484952398&autoLogAppEvents=1"; fjs.parentNode.insertBefore(js, fjs); }(document, 'script', 'facebook-jssdk')); } //comment...

प्रेगनेंट होने के लिए स्‍पर्म का योनि के अंदर जाना जरूरी नहीं, जानिए क्‍यों

यदि वीर्य योनि के अंदर होने की बजाय योनि या वल्‍वा के आसपास हो तो भी प्रेग्‍नेंसी हो सकती है। महिलाओं की...

MP में छुपा है विकास दुबे? यूपी पुलिस से मिले इनपुट के बाद चंबल में अलर्ट

[चंबल में छुपा है विकास दुबे? अलर्ट पर आईजी ने दी बड़ी जानकारीहाइलाइट्सगैंगस्टर विकास दुबे को लेकर चंबल के जिलों में हाई अलर्टबीहड़...

Sonam Wangchuk on China: सोनम वांगचुक से डर गया चीन, ये है माजरा

[लद्दाख बॉर्डर पर भारतीय सेना के सामने अड़ा चीन इस वक्त सोनम वांगचुक (Sonam Wangchuk on China) से डरा हुआ दिखाई दे रहा...

बड़ी खबर: 6 जुलाई से खुलेंगे यूपी के स्कूल, यहां जानिए पूरी डिटेल

https://www.youtube.com/watch?v=l2khyMNGR5Yअसमर्थ अभिभावकों को फीस से राहत ...