Home मुख्य समाचार जंग में छूटेंगे दुश्मनों के पसीने, इस मिसाइल से और घातक बना...

जंग में छूटेंगे दुश्मनों के पसीने, इस मिसाइल से और घातक बना राफेल

[

  • हैमर मिसाइल से राफेल बिना देरी ऑपरेशन के लिए रहेगा तैयार
  • फ्रांस से रवाना, 29 जुलाई को पांच राफेल अंबाला में होंगे लैंड

राफेल जेट को हैमर मिसाइल से लैस करने का आखिरी मिनट का फैसला इसे तुरंत ऑपरेशन में ले जाने की सहूलियत देगा. खास तौर पर भारत-चीन टकराव को देखते हुए यह अहम घटनाक्रम है. सूत्रों ने ये जानकारी दी है.

पहले तय किए गए SPICE 2000 बमों के लिए ट्रायल की जरूरत है. अगर उन्हें फाइटर जेट के साथ समन्वित किया जाता तो राफेल के ऑपरेशनल इस्तेमाल में देरी होती.

लीबिया, अफगानिस्तान, इराक में टेस्ट हो चुका है हैमर

राफेल को पहले हैमर और अन्य मिसाइलों के साथ हवाई हमलों के लिए लीबिया, अफगानिस्तान, इराक और सीरिया में इस्तेमाल किया गया है. अंबाला में 29 जुलाई को लैंड होने वाले पहले पांच राफेल के भारतीय संस्करण में ये मिसाइल उपलब्ध होगी.

SPICE 2000 के ट्रायल में वक्त लगेगा

एक अधिकारी ने बताया कि SPICE 2000 के एकीकरण और ट्रायल में कुछ समय लगेगा जिससे राफेल को ऑपरेशनल स्थिति में रखने के लिए विलंब होता. वर्तमान परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए इसे हैमर से लैस करने का फैसला किया गया क्योंकि इनका पहले से राफेल में इस्तेमाल किया जा चुका है.

सूत्रों ने साफ किया कि इसका मतलब यह नहीं है कि स्पाइस को हैमर से बदल दिया गया है. बता दें कि पिछले साल पाकिस्तान में बालाकोट आतंकी शिविरों पर हवाई हमलों के दौरान मिराज लड़ाकू विमानों ने इजरायल निर्मित SPICE 2000 बमों का इस्तेमाल किया था.

स्पाइस और हैमर की क्षमताएं अलग

सूत्रों ने कहा कि स्पाइस और हैमर दोनों की अलग-अलग क्षमताएं हैं, लेकिन स्पाइस का तुरंत इस्तेमाल नहीं किया जा सकता है क्योंकि यह राफेल पर टेस्ट नहीं किया गया है.

हैमर (HAMMER) का अर्थ है- (Highly agile and manoeuvrable munition extended range यानि फुर्तीली और परिवर्तनशील हथियार विस्तृत रेंज. यह एक रॉकेट एनेबल्ड हवा से जमीन पर मार करने वाली सटीक मिसाइल है जो ऊंचाई वाले क्षेत्रों में 60 किमी की रेंज के लिए अनुकूल है.

अधिकारियों का कहना है कि राफेल अंबाला में जैसे लैंड करता है, वो ऑपरेशन्स के लिए पूरी तरह तैयार हो जाएगा. एक अधिकारी ने बताया, “राफेल के लिए पायलटों और चालक दल को व्यापक तौर पर ट्रेंड किया गया है. पिछले साल अक्टूबर से अब तक कई बैच ऑफिसर राफेल की ट्रेनिंग के लिए फ्रांस जा चुके हैं.”

राफेल सोमवार को फ्रांस से उड़ान भर चुका है और मंगलवार 29 जुलाई को अंबाला में लैंड करने से पहले यूएई में एक स्टॉपओवर होगा.

हैमर के अलावा, राफेल शक्तिशाली मीटिअर और स्कैल्प मिसाइलों से लैस है. यह भारतीय वायु सेना की हवाई हमले की क्षमता के साथ हवा में वर्चस्व को बढ़ाएगा.

पढ़ें- फ्रांस से भारत के लिए उड़ा राफेल, जानें डिलीवरी से जुड़े 10 बड़े अपडेट

मीटिअर 150 किमी से अधिक की रेंज वाली हवा से हवा में मार करने वाली मिसाइल है. वहीं स्कैल्प लंबी दूरी की क्रूज मिसाइल है जिसकी रेंज 200 किमी तक होती है और जिसे विमान से जमीन या पानी में स्थिर लक्ष्यों को हिट करने के लिए लॉन्च किया जा सकता है. इसमें MICA मिसाइलें भी होंगी, जिनका उपयोग हवा से हवा में मार के लिए किया जा सकता है.

29 जुलाई को वायुसेना के बेड़े में होगा शामिल

भारतीय वायु सेना के मुताबिक पांच राफेल जेट विमानों का पहला जत्था 29 जुलाई को भारत में अंबाला एयर फोर्स स्टेशन पर बेड़े में शामिल होगा, ये मौसम की स्थिति पर निर्भर करेगा. फाइनल इंडक्शन सेरेमनी अगले महीने के दूसरे पखवाड़े में होगी.

दो स्क्वाड्रन में शामिल 36 जेट अगले दो वर्षों में भारतीय वायु सेना का हिस्सा होंगे. पहला स्क्वाड्रन पश्चिमी क्षेत्र के अंबाला से ऑपरेशनल होगा. वहीं दूसरा पश्चिम बंगाल में हाशिमारा में तैनात होगा जिससे चीन के खतरे से निपटा जा सके.

राफेल में भारत की जरूरतों के मुताबिक कई खास बदलाव किए गए हैं. भारतीय वायु सेना के कर्मियों को ऑपरेशन और रखरखाव जैसे कई पहलुओं पर ट्रेंड किया गया है.

2016 में सरकार ने समझौते के तहत फ्रांस से 36 राफेल 59,000 करोड़ रुपए की लागत से खरीदने का फैसला किया. इससे एक राजनीतिक तूफान खड़ा हो गया और विपक्ष ने सरकार पर आरोप लगाया गया कि राफेल खरीद का समझौता बढ़ी हुई कीमतों पर किया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android IOS

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

नौकरी करने वालों को केंद्र सरकार ने दिए 3 दिवाली गिफ्ट! 15 दिन में कीं 15,312 करोड़ रुपये की घोषणाएं

https://www.youtube.com/watch?v=TXwf71gSLdQये भी पढ़ें- किन सरकारी कर्मचारियों को मिलेगा दिवाली बोनस, कितनी होगी रकम, जानें अपने ऐसे ही सवालों के जवाब ...

हेट स्पीच को लेकर वॉल स्ट्रीट जर्नल के खुलासे के बाद बीजेपी और कांग्रेस के बीच छिड़ी जंग, जानें पूरा मामला

[नई दिल्लीवॉल स्ट्रीट जर्नल की एक रिपोर्ट में फेसबुक द्वारा भारत में सत्तारूढ़ दल के नेताओं पर घृणा भाषण संबंधी नियमों को लागू...

राम नगरी अयोध्या में 2.30 घंटे तक रहेंगे पीएम मोदी, जानें राम मंदिर भूमि पूजन के दौरान क्या-क्या करेंगे

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

सुशांत सिंह राजपूत केस: ऑटो से क्यों मुंबई की खाक छान रही बिहार पुलिस, एक पेशी के 5 लाख लेने वाले वकील करेंगे पैरवी, पढ़ें 5 अपडेट्स

[Sushant singh rajput latest news hindi : अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत (Sushant singh rajput) की डेथ मामले में लगातार नए-नए खुलासे हो रहे...

हाथरस मामला: योगी सरकार ने लिया एक्शन, एसपी-डीएसपी और इंस्पेक्टर हुए सस्पेंड – BBC News हिंदी

[6 घंटे पहले हाथरस मामले में अब यूपी सरकार ने प्रशासन के ख़िलाफ़ एक्शन लिया है. समाचार एजेंसी एएनआई के अनुसार, हाथरस के...