Home मुख्य समाचार चाइनीज कंपनियों को बड़ा झटका, सरकारी खरीद में बदल गए बोली लगाने...

चाइनीज कंपनियों को बड़ा झटका, सरकारी खरीद में बदल गए बोली लगाने के नियम

[

Edited By Shashank Jha | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

नई दिल्ली

लद्दाख में सैनिकों पर हमले के बाद भारत चीन के खिलाफ एक के बाद एक कड़े फैसले ले रहा है। ताजा फैसले के तहत केंद्र सरकार ने सरकारी खरीद में चाइनीज कंपनियों की एंट्री बैन कर दी है। मतलब, केंद्र और राज्य सरकार की तरफ से किसी भी तरह की सरकारी खरीद में चाइनीज कंपनियां बोली में शामिल नहीं हो सकती हैं।

राष्ट्रीय सुरक्षा के कारण लिया फैसला

केंद्र सरकार ने राष्ट्रीय सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए जनरल फाइनैंशल रूल्स 2017 में संशोधन किया है जो उन देशों के बोलीदाताओं पर लागू होता है जिनकी सीमा भारत से सटती है। इसका सीधा असर चीन, पाकिस्तान, बांग्लादेश, भूटान, नेपाल जैसे देशों पर होगा। सरकारी खरीद में चाइनीज कंपनियों का बोलबाला रहता है। व्यय विभाग इन नियमों के तहत, भारत की रक्षा और राष्ट्रीय सुरक्षा को मजबूत करने के लिए सार्वजनिक खरीद पर एक विस्तृत आदेश जारी किया है।

Air India नहीं करेगी छंटनी, सैलरी कट भी नहीं



गृह और विदेश मंत्रालय से भी मंजूरी जरूरी


नए नियम के तहत भारत की सीमा से सटे देशों से बोली लगाने वाली कंपनिंया गुड्स और सर्विस (कंसल्टेंसी और नॉन-कंसल्टेंसी) की बोली लगाने के लिए तभी योग्य माने जाएंगे जब वे कॉम्पीटेंट अथॉरिटी से रजिस्टर्ड होंगी। कॉम्पीटेंट अथॉरिटी का गठन डिपार्टमेंट फॉर प्रमोशन ऑफ इंडस्ट्री ऐंड इंटर्नल ट्रेड (DPIIT) की तरफ से किया जाएगा। इसके लिए विदेश और गृह मंत्रालय से भी मंजूरी जरूरी है।

रिलायंस दुनिया की 48वीं सबसे मूल्यवान कंपनी



यहां-यहां आदेश लागू


सरकार का यह आदेश सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और वित्तीय संस्थानों, स्वायत्त निकायों, केंद्रीय सार्वजनिक क्षेत्र उद्यमों (CPSE) और सार्वजनिक निजी भागीदारी परियोजनाओं को जिसे सरकार या इसके उपक्रमों से वित्तीय सहायता मिलता हो, उसपर लागू होता है।

अब बेजोस और अंबानी के बीच मेगा डील की तैयारी

राज्य सरकारों पर भी लागू

केंद्र ने राज्य सरकारों के मुख्य सचिवों को लिखित आदेश में कहा है कि राज्य सरकारें भी राष्ट्रीय सुरक्षा में अहम रोल निभाती हैं। ऐसे में सरकार ने संविधान के आर्टिकल 257(1) को लागू करने का फैसला किया है। मतलब सरकार का यह आदेश राज्य सरकार और संटेट अंडरटेकिंग के प्रोक्योरमेंट पर भी लागू होता है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Petrol-Diesel कीमतों को लेकर लगातार दूसरे दिन मिली आम आदमी को राहत! जानिए नए रेट्स

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

कांग्रेस ने सचिन पायलट को पार्टी से नहीं निकाला, क्या है इसके पीछे का गणित?

[माना जा रहा है कि सचिन पायलट को 17 विधायकों का समर्थन प्राप्त है, जिसमें खुद और तीन निर्दलीय शामिल हैं. इसका मतलब...

कोरोना मरीजों के लिए यूपी सरकार ने जारी की होम आइसोलेशन की गाइडलाइंस, ये होंगे नियम

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

कुलभूषण जाधव मामले में इमरान सरकार की फिर हुई किरकिरी, कोर्ट ने कहा- भारत को वकील नियुक्त करने को मिले दूसरा मौका

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

‘मोदी जी व अमित शाह जी के मेहमान आए थे’, घर पर ईडी टीम के पहुंचने के बाद पटेल का बयान

[प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) का एक दल संदेसरा बंधुओं संबंधी धनशोधन मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल का बयान दर्ज करने के...

पीएम मोदी ने रूसी राष्‍ट्रपति पुतिन को किया फोन, जानें दोनों नेताओं के बीच क्‍या हुई बात

[ Publish Date:Fri, 03 Jul 2020 04:39 AM (IST) नई दिल्‍ली, जेएनएन/एजेंसियां। एलएसी पर जारी तनाव के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi)...