Home लाइफस्टाइल एक्सपर्ट की सलाह कहीं ऐसा तो नहीं कि मेरा स्पर्म काउंट कम हो गया हो?

कहीं ऐसा तो नहीं कि मेरा स्पर्म काउंट कम हो गया हो?

सवाल: 34 साल का हूं। शादी 8 महीने पहले हुई है, पर पत्नी प्रेग्नेंट नहीं हो पाई है। कहीं ऐसा तो नहीं कि मेरा स्पर्म काउंट कम हो गया हो? स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए क्या कर सकता हूं? -एक पाठक

जवाब: आप प्रेग्नेंसी के लिए एक साल तक इंतजार कर सकते हैं। अगर फिर भी प्रेग्नेंसी न हो तो अपने स्पर्म का टेस्ट दो अलग-अलग लैब से करवा सकते हैं। इससे किसी नतीजे पर पहुंचने में आसानी होगी। पर यहां ध्यान रखने वाली बात यह है कि स्पर्म टेस्ट के लिए आपका पिछले ईजैक्यूलेशन और टेस्ट के दिन के ईजैक्यूलेशन में 4 दिन से कम और 7 दिन से ज्यादा का गैप नहीं हो। अगर ज्यादा गैप होगा तो स्पर्म की रफ्तार कम हो सकती है।

वहीं जब दोनों जगह टेस्ट नॉर्मल है तो आप इनफर्टिलिटी के किसी डॉक्टर (महिला के लिए MD इन गाइनी और पुरुष के लिए MS इन यूरोलॉजी या एंड्रॉलजी होने चाहिए) से मिलकर वाइफ की जांच भी करवा सकते हैं। इससे यह पता चल सकेगा कि आपकी पत्नी की बॉडी में एग सही ढंग से बन रहा है कि नहीं और फलोपीअन ट्यूब में कोई ब्लॉकेज तो नहीं है। अगर वहां का रिजल्ट भी नॉर्मल है तो मतलब सीधा है कि आप लोगों के शरीर के अंदर कोई समस्या नहीं है। सहवास के दौरान कुछ बातों का ध्यान रखेंगे तो परिणाम बेहतर हो सकते हैं।

मसलन, पत्नी के पीरियड शुरू होने को पहले दिन से गिनते हुए दूसरे या तीसरे हफ्ते के दौरान सहवास ज्यादा से ज्यादा करने की कोशिश करें क्योंकि यही समय है जब महिला में ओवरी से एग निकलकर फलोपीअन ट्यूब में पहुंचता है और फर्टिलाइजेशन के लिए तैयार रहता है। इसे उदाहरण के द्वारा इस तरह समझ सकते हैं कि मान लें कि किसी महिला का पीरियड 1 मई से शुरू हुआ है, तो प्रेग्नेंसी कंसीव करने के लिए सबसे बेहतरीन समय 8 मई से 22 मई के बीच होगा जबकि ओवरी से एग निकलने के बाद इसे 24 घंटे के अंदर ही फर्टिलाइज होना जरूरी है। वहीं ईजैक्यूलेशन के बाद स्पर्म की लाइफ 48 घंटे की होती है।

प्रेग्नेंसी की संभावना को बढ़ाने के लिए सहवास के बाद सीधे पीठ के बल लेटकर महिला को दोनों घुटने को मोड़ते हुए छाती के पास लाना चाहिए। कोशिश हो कि इस पॉजिशन में 15 मिनट तक रहें ताकि स्पर्म ज्यादा से ज्यादा तादाद में फलोपीअन ट्यूब के अंदर तक पहुंच सके। ऐसा करने से प्रेग्नेंसी के आसार बढ़ जाते हैं।

जहां तक स्पर्म काउंट बढ़ाने के लिए कोशिश की बात है तो आयुर्वेद कहता है कि शरीर में जितना पित्त कम होगा, स्पर्म की संख्या में उतना ही इजाफा होगा और उनकी रफ्तार भी बढ़ेगी। ध्यान रहे कि गर्म चीजें और मिर्च-मसालों से ज्यादा पित्त बनता है, इसलिए ऐसी चीजें कम खाएं। अपना अंडरवेयर ढीला पहनें, क्योंकि अगर आपके टेस्ट्स टाइट अंडरवयर की वजह से बॉडी से चिपके रहेंगे तो उसका तापमान भी बॉडी के अनुसार ही हो जाएगा। ध्यान देने वाली बात यह है कि हमारा नॉर्मल बॉडी टेम्परचर लगभग 37 डिग्री सेल्सियस है जबकि टेस्ट्स को 2 से 3 डिग्री कम यानी 34 से 35 डिग्री तक ही तापमान की जरूरत होती है। ऐसे में टाइट अंडरवेयर स्पर्म प्रॉडक्शन और उसकी रफ्तार में रुकावट डाल सकता है। आप कॉटन का ढीला अंडरवेयर चाहे वह यू शेप के हो या फिर वी-शेप पहन सकते हैं। पित्तशामक चीजों का इस्तेमाल ज्यादा करें। मसलन: गाय का घी, गाय का दूध, काली किशमिश आदि। अपने दोनों टेस्ट्स पर नहाते समय 2 से 3 मिनट के लिए ठंडा पानी जरूर डालें और धीरे-धीरे मसाज करें।

सहवास के वक्त प्राइवेट पार्ट के ऊपर चिकनाई के लिए किसी भी तरह के ऑयली प्रॉडक्ट या तेल का इस्तेमाल न करें। इससे स्पर्म की रफ्तार में रुकावट आ सकती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

विकास दुबे गैंग के जिन दो गुर्गों गुड्डन त्रिवेदी और सोनू काे महाराष्ट्र एटीएस ने पकड़ा था, यूपी पुलिस ने दोनों को क्लीनचिट दी

[ महाराष्ट्र एटीएस ने शनिवार को ठाणे से दोनों को गिरफ्तार किया थागुड्डन का नाम पुलिस की वांछित सूची में शामिल था, उस पर...

राज्यसभा में कांग्रेस से दोगुनी ताकतवर हुई बीजेपी, ये रहे आंकड़े

[प्रधानमंत्री मोदी के साथ गृहमंत्री शाह (फाइल फोटो).नई दिल्ली: राज्यसभा के द्विवार्षिक चुनाव के संपन्न होने के साथ उच्च सदन में विपक्ष के...

Petrol Diesel Price-एक बार फिर डीज़ल की कीमत में हुआ इजाफा- जानिए आज के पेट्रोल के नए रेट्स

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

क्या दोस्त बन पाएंगे भारत और चीन? विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दिया ये जवाब

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

कोरोना के कारण स्वतंत्रता दिवस पर रहेगी खास सुरक्षा व्यवस्था, लोगों को मास्क पहनकर आने की सलाह

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link