Home मुख्य समाचार Rajasthan Political Crisis: कुछ तो है... राजस्थान में बहुत कुछ कह रही...

Rajasthan Political Crisis: कुछ तो है… राजस्थान में बहुत कुछ कह रही वसुंधरा राजे की खामोशी

[

Rajasthan Political Crisis: राजस्थान में बीजेपी की दिग्गज नेता और पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) की चुप्पी को लेकर सवाल उठ रहे हैं। माना जा रहा कि सचिन पायलट (Sachin Pilot) को लेकर बीजेपी खेमा जिस तरह से एक्टिव नजर आ रहा, वसुंधरा राजे इसके लिए तैयार नहीं हैं। पार्टी नहीं चाहेगी की राजे को नाराज किया जाए, ऐसे में देखना होगा कि बीजेपी (Rajasthan BJP) का इस पूरे घटनाक्रम पर क्या रुख रहेगा?

Edited By Ruchir Shukla | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

गहलोत के मंत्री का दावा, लौटना चाहते हैं पायलट खेमे के विधायक
हाइलाइट्स

  • राजस्थान में नहीं थम रहा राजनीतिक उठापटक का दौर
  • बीजेपी नेता और पूर्व सीएम वसुंधरा राजे की चुप्पी पर उठ रहे सवाल
  • गहलोत Vs पायलट मामले में अभी तक नहीं आया वसुंधरा राजे का बयान
  • राजे के रुख को देखकर क्या होगी सचिन पायलट को लेकर बीजेपी की आगे की रणनीति

जयपुर

राजस्थान में जारी सियासी घमासान (Rajasthan Political Crisis) थमने का नाम नहीं ले रहा है। अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के खिलाफ बगावत का बिगुल फूंकने वाले सचिन पायलट पर पार्टी ने कार्रवाई की। बावजूद इसके अभी तक पायलट ने आगे की रणनीति का खुलासा नहीं किया है। वहीं इस पूरे घटनाक्रम को लेकर अब बीजेपी में भी सबकुछ ठीक नहीं होने के संकेत मिल रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि पार्टी के दिग्गज नेता लगातार अशोक गहलोत पर निशाना साध रहे हैं। लेकिन, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (Vasundhara Raje) पूरे मामले पर चुप हैं। राज्य में जारी गतिरोध को लेकर वसुंधरा की ओर से अभी तक किसी भी तरह की कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है। इस बीच बुधवार को बीजेपी प्रदेश कार्यालय में बुलाई गई बैठक में भी वो शामिल नहीं हुईं। ऐसे में राजे की पूरे मामले पर चुप्पी कई सवाल खड़े कर रही हैं।

वसुंधरा की चुप्पी पर उठ रहे सवाल

राजस्थान कांग्रेस में जारी घमासान के बीच वसुंधरा राजे की चुप्पी के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या बीजेपी में सबकुछ ठीक है। ऐसा इसलिए क्योंकि कांग्रेस सरकार में दरार पड़ते ही केंद्रीय गजेंद्र सिंह शेखावत, बीजेपी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओम माथुर, गुलाब चंद कटारिया समेत कई दिग्गज नेता लगातार गहलोत सरकार पर हमलावर हैं। वहीं वसुंधरा राजे पूरे मामले से दूरी बनाए हुए हैं। वो सोशल मीडिया पर दूसरे मुद्दों को उठा रही हैं, लेकिन गहलोत सरकार या फिर कांग्रेस को लेकर अभी तक कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है।

राजस्थान HC में पायलट खेमे की सुनवाई में क्या हुआ?राजस्थान HC में पायलट खेमे की सुनवाई में क्या हुआ?राजस्थान में सियासी घमासान जारी है। इस बीच राजस्थान विधानसभा अध्यक्ष सी. पी. जोशी की ओर से कांग्रेस के बागी विधायकों को भेजे गए नोटिस पर सचिन पायलट खेमे ने राजस्थान हाईकोर्ट की शरण ली है। हाईकोर्ट में पायलट खेमें ने याचिका दाखिल कर स्पीकर की ओर से भेजे गए नोटिस पर सवाल किया है। नोटिस मामले की सुनवाई करते हुए राजस्थान हाईकोर्ट ने आज के लिए सुनवाई को टाल दिया है।

इसे भी पढ़ें:- Rajasthan Crisis: बिचौलिए के बीच खरीद-फरोख्त का ऑडियो वायरल, विधायक ने कहा फर्जी



हनुमान बेनीवाल ने राजे पर लगाए गंभीर आरोप

इस बीच वसुंधरा को लेकर आवाज बुलंद होने लगी है। गुरुवार को नागौर लोकसभा सीट से सांसद और बीजेपी की अगुवाई वाले राष्ट्रीय लोकतांत्रिक गठबंधन (NDA) के साझेदार हुनमान बेनीवाल ने पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पर बेहद गंभीर आरोप लगाया है। बेनीवाल ने कहा कि वसुंधरा ही अशोक गहलोत की कांग्रेसी सरकार की डूबती नैया की खेवैया बनी हुई हैं। हनुमान बेनीवाल ने ट्विटर पर #गहलोत_वसुंधरा_गठजोड़ के हैशटैग के साथ लिखा, ‘पूर्व सीएम वसुन्धरा राजे, अशोक गहलोत की अल्पमत वाली सरकार को बचाने का पुरजोर प्रयास कर रही हैं, राजे द्वारा कांग्रेस के कई विधायकों को इस बारे में फोन भी किए गए!’ नागौर सांसद ने अपने ट्वीट में गृह मंत्री अमित शाह, उनके दफ्तर, बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, राजस्थान बीजेपी और अपनी पार्टी आरएलपी को टैग भी किया।

इसे भी पढ़ें:- Rajasthan Political Crisis: सचिन पायलट की मुश्किलें बढ़ी, पढ़ें- कानूनी दांव-पेंच

मेहनत किसने की और सीएम किसे बना दिया

  • मेहनत किसने की और सीएम किसे बना दिया

    सचिन पायलट के बागी रूख का समर्थन कांग्रेस नेता संजय झा ने भी किया था। उन्होंने सोमवार को ट्वीट कर कुछ आंकड़े प्रस्तुत किए थे। साथ ही कहा था कि मेहनत चुनाव के दौरान किसने की और सीएम किसे बना दिया। संजय झा कांग्रेस के राष्ट्रीय प्रवक्ता रहे हैं। पिछले दिनों उन्हें पार्टी के खिलाफ लेख लिखने की वजह से हटा दिया गया था।

  • सभी चले जाएंगे तो बचेगा कौन

    वहीं, कांग्रेस वरिष्ठ नेता संजय निरूपम ने भी सचिन पायलट के पक्ष में अपनी बात रखी थी। उन्होंने कहा था कि बेहतर होगा कि पार्टी सचिन पायलट को समझाए और रोके। शायद पार्टी में कुछ लोग यह सोच रहे हैं कि उसे जाना है तो जाए, हम नहीं रोकेंगे। यह सोच आज के संदर्भ में गलत है। माना कि किसी एक के जाने से पार्टी खत्म नहीं होती। लेकिन एक-एक कर सभी चले गए तो पार्टी में बचेगा कौन?

  • सिब्बल ने भी दी थी सलाह

    राजस्थान में अशोक गहलोत और सचिन पायलट के बीच खटपट शुरू होते ही पार्टी को वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल ने कुछ नसीहत दी थी। उन्होंने ट्वीट कर लिखा था कि अपनी पार्टी के लिए चिंतित हूं, क्या घोड़ों के अस्पतबल के निकलने के बाद ही हम जागेंगे। इस ट्वीट में उन्होंने किसी का नाम नहीं लिया था। लेकिन इशारा राजस्थान की तरफ ही था।

  • शशि थरूर भी चिंतित

    राजस्थान में चल रहे नाटक को लेकर कांग्रेस के वरिष्ठ नेता शशि थरूर भी चिंतित हैं। उन्होंने कहा था कि मैं पूरे विश्वास के साथ कहता हूं कि हमारे देश को एक उदारवादी पार्टी की जरूरत है, जिसका नेतृत्व सभी को साथ लेकर चलने के लिए प्रतिबद्ध हो, और जो भारत के बहुलवाद का सम्मान करे। गणतांत्रिक मूल्यों पर विश्वास रखने वाले सभी लोग मिल कर कांग्रेस को मजबूत करें, उसे नीचा नहीं दिखाएं।

  • जितिन प्रसाद बोले, मेरे दोस्त हैं
  • उपमुख्यमंत्री के पद से हटा दिया

    विधायक दल की बैठक के बाद उपमुख्यमंत्री की पद से गहलोत सरकार ने हटा दिया है। इसके साथ ही उन्हें अध्यक्ष पद से भी बर्खास्त कर दिया गया है। सीएम अशोक गहलोत ने कहा कि पिछले छह महीने से षड्यंत्र चल रहा था। हमारे कुछ साथी गुमराह होकर दिल्ली चले गए। ये बीजेपी को खुला खेला था।

  • सत्य को परेशान किया जा सकता है

पायलट पर बीजेपी की ‘वेट एंड वॉच’ की रणनीति

ऐसा माना जा रहा कि सचिन पायलट को लेकर बीजेपी खेमा जिस तरह से एक्टिव नजर आ रहा, वसुंधरा राजे इसके लिए तैयार नहीं है। ऐसा इसलिए क्योंकि राजे का राजस्थान बीजेपी में खासा दबदबा है। पार्टी नहीं चाहती कि उन्हें नाराज किया जाए। यही वजह है कि सचिन पायलट को पार्टी में शामिल कराने से पहले आलाकमान सभी पहलुओं पर विचार करने में जुटी हुई है। बीजेपी का रुख अब वेट एंड वॉच का है। उन्हें इंतजार सचिन पायलट के आगे की रणनीति का है, यही वजह है कि वो जल्दबाजी नहीं करना चाहते हैं। बीजेपी को राजस्थान विधानसभा में फ्लोर टेस्ट का इंतजार है।

मेरी बात नहीं मानते थे पायलट: गहलोतमेरी बात नहीं मानते थे पायलट: गहलोतराजस्थान के राजनीतिक ड्रामे पर अब अशोक गहलोत ने खुलकर सचिन पायलट पर हमला किया है। अशोक गहलोत ने कहा कि सचिन पायलट कभी उनकी बात नहीं मानते और बिनी किसी की परमिशन के विदेश जाते हैं।

वसुंधरा राजे की चुप्पी की ये तो वजह नहीं?

दूसरी ओर वसुंधरा राजे के करीबी सूत्रों का कहना है कि पार्टी की ओर से सूबे में जारी सियासी घटनाक्रम को लेकर उनसे अभी तक किसी तरह की कोई बात नहीं की है। ऐसी स्थिति में उनकी ओर से कोई प्रतिक्रिया का सवाल कैसे उठता है। वहीं कहा ये भी जा रहा कि हाल ही में संपन्न हुए राज्यसभा चुनाव के दौरान वसुंधरा राजे से बिना चर्चा के उम्मीदवारों का ऐलान किया गया, जिससे राजे नाराज थी। अब अगर पार्टी सचिन पायलट को लेकर वसुंधरा राजे से बिना चर्चा के कोई फैसला लेती है तो ये पार्टी के लिए मुश्किल भरा हो सकता है। ऐसे में देखना होगा कि आखिर बीजेपी का अगला प्लान क्या होगा?

वसुंधरा राजे और अशोक गहलोत। फाइल फोटो

वसुंधरा राजे और अशोक गहलोत। फाइल फोटो

Web Title rajasthan crisis: vasundhara raje silence on political crisis sets tongues wagging(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Video: दिल्ली में भारी बारिश बनी आफत, ITO के पास नाले में बहे 10 घर; मौके पर आपदा प्रबंधन की टीम

। राजधानी दिल्ली रविवार को हुई झमाझम बारिश ने कई लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। एक तरह जहां मिंटो रोड ब्रिज में...

भारत में शुरू हुआ कोरोना का कम्युनिटी स्प्रेड, हालात बहुत खराब : आईएमए

[ Publish Date:Sun, 19 Jul 2020 10:28 AM (IST) नई दिल्ली, एएनआइ। भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus in India) से संक्रमितों की संख्या 10...

covid-19 live updates: दिल्ली में रेकॉर्ड नए केस, बेंगलुरु में भी बढ़े मामले, 24 घंटे में 465 मौतें

[statewise corona cases in india on 24 june 2020: भारत में कोरोना के मामलों कोई कमी नहीं आ रही है। राजधानी दिल्ली में...

शिवली कांड के बाद विकास दुबे को छोड़कर चली गई थी पत्नी

[विकास की दूसरी पत्नी ऋचा दुबेहाइलाइट्सकुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे की पहली पत्नी की संदिग्ध अवस्था में हो गई थी मौतविकास की दूसरी पत्नी...

दिल्ली में कोरोना पर कंट्रोल, स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन बोले- क्रेडिट कोई भी ले ले

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link