Home मुख्य समाचार खास है Oxford University की Coronavirus Vaccine, देगी 'दोहरा सुरक्षा कवच'

खास है Oxford University की Coronavirus Vaccine, देगी ‘दोहरा सुरक्षा कवच’

[

Oxford University Coronavirus Vaccine: ऑक्सफर्ड यूनवर्सिटी की कोरोना वायरस वैक्सीन बाकी वैक्सीन के मुकाबले ज्यादा असरदार हो सकती है। दरअसल, इंसानों पर हुए पहले ट्रायल में यह बात सामने आई है कि इससे सिर्फ Antibodies बल्कि White Blood Cells, Killer T-Cells भी पैदा होते हैं।

Edited By Shatakshi Asthana | पीटीआई | Updated:

कोरोना: पहले टेस्‍ट में सफल रही अमेरिकी वैक्‍सीन
हाइलाइट्स

  • ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन है बाकी सबसे खास
  • इंसानों पर इसके ट्रायल में सामने आए हैं अच्छे नतीजे
  • सिर्फ ऐंटीबॉडी नहीं, वाइट ब्लड सेल्स भी बनाती है
  • इससे शरीर को मिलती है दोहरी सुरक्षा, लंबी चलती है

लंदन

इंसानों पर किए गए पहले ट्रायल में सफल रही ब्रिटेन की ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी की वैक्सीन के बाकी सब कैंडिडेट से आगे निकलने का एक बड़ा कारण सामने आया है। दरअसल, यह वैक्सीन घातक कोरोना वायरस से ‘दोहरी सुरक्षा’ देती है। आमतौर पर वैक्सीन दिए जाने पर इंसान के शरीर में ऐंटीबॉडी बनने को सफलता माना जाता है। हालांकि, ऑक्सफर्ड की वैक्सीन में सिर्फ ऐंटीबॉडी नहीं वाइट ब्लड सेल (Killer T-cells) भी पाए गए हैं जिसकी वजह से यह ज्यादा खास है।

ऐसे तैयार होगा ‘दोहरा सुरक्षा कवच’

ऑक्सफर्ड की यह स्टडी ‘द लैंसेट’ जर्नल में सोमवार को प्रकाशित होगी लेकिन इसके नतीजों पर अभी से चर्चा शुरू हो चुकी है। यूनिवर्सिटी Astrazeneca के साथ मिलकर यह वैक्सीन तैयार कर रही है। इंसानों पर पहले ट्रायल में पाया गया है कि वॉलंटिअर्स में इसने न सिर्फ ऐंटीबॉडी बल्कि इन्फेक्शन से लड़ने वाले खास वाइट ब्लड सेल्स (White Blood cells) भी विकसित किए जिन्हें T-cells कहा जाता है। ये दोनों साथ मिलकर शरीर को सुरक्षा देते हैं। दरअसल, पहले की स्टडीज में यह बात सामने आई है कि ऐंटीबॉडी कुछ महीनों में खत्म भी हो सकती हैं लेकिन T-cells सालों तक शरीर में रहते हैं।

रेस में बरकरार Oxford University की Coronavirus Vaccine, इंसानों पर पहले टेस्ट में पास

अभी देखने है और भी कई मानक

ऑक्सफर्ड के रिसर्चर्स इन नतीजों से उत्साहित तो हैं लेकिन माना जा रहा है कि जब तक यह साफ नहीं हो जाता कि वैक्सीन लंबे समय तक कोरोना वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता बना पाती है या नहीं, तब तक इसे लेकर इंतजार करना होगा। यह वैक्सीन ChAdOx1 nCoV-19 (अब AZD1222) यूनिवर्सिटी के जेनर इंस्टिट्यूट में सरकार और AstraZeneca के साथ मिलकर बनाई जा रही है। AstraZeneca इसका उत्पादन करेगी।

मिडिल ईस्ट में होगा तीसरे फेज का ट्रायल

  • मिडिल ईस्ट में होगा तीसरे फेज का ट्रायल

    दिमित्रीव ने बताया कि अगस्त में हजारों लोगों के ऊपर तीसरे चरण का ट्रायल होना है। इससे पहले 3 अगस्त तक 100 लोगों पर ट्रायल को पूरा किया जाएगा। उन्होंने कहा है, ‘मौजूदा नतीजों के आधार पर हमें भरोसा है कि इसे रूस में अगस्त में अप्रूव कर दिया जाएगा और कुछ और देशों में सितंबर में जिससे यह पूरी दुनिया में अप्रूव होने वाली पहली वैक्सीन बन जाएगी।’ उनका कहना है कि तीसरे चरण का ट्रायल रूस के अलावा मिडिल ईस्ट के दो देशों में किया जाएगा। इसके लिए रूस सऊदी अरब से बात कर रहा है। सऊदी से इसके उत्पादन में साथ देने की बात भी की जा रही है।

  • Herd Immunity के लिए जरूरी डोज

    यह वैक्सीन मॉस्को के Gamaleya Institute में विकसित की गई है। क्लिनिकल ट्रायल के लिए यहां डोज तैयार की जा रही हैं जबकि प्राइवेट फार्मासूटिकल कंपनियां Alium (Sistema conglomerate) और R-Pharm बॉटलिंग का काम करेंगी। दोनों इस वक्त अपनी-अपनी लैब में अगले कुछ महीनों में उत्पादन की तैयारी कर रही हैं। दिमित्रीव ने बताया कि माना जा रहा है कि Herd Community के लिए रूस में 4-5 करोड़ लोगों को वैक्सीन देनी होगी। इसलिए हमें लग रहा है कि इस साल 3 करोड़ डोज तैयार करना सही होगा और हम अगले साल वैक्सिनेशन फाइनल कर सकेंगे। उन्होंने यह भी बताया है कि पांच देशों के साथ उत्पादन के लिए समझौते किए गए हैं और 17 करोड़ डोज बाहर बनाई जा सकती हैं।

  • Moderna Inc की वैक्सीन भी टेस्ट में पास

    इससे पहले अमेरिकी कंपनी Moderna Inc की कोरोना वायरस वैक्‍सीन भी अपने पहले ट्रायल में पूरी तरह से सफल रही। न्‍यू इंग्‍लैंड जर्नल ऑफ मेडिसिन में छपे अध्‍ययन में कहा गया है कि 45 स्‍वस्‍थ लोगों पर इस वैक्‍सीन के पहले टेस्‍ट के परिणाम बहुत अच्‍छे रहे हैं। इस वैक्‍सीन ने प्रत्‍येक व्‍यक्ति के अंदर कोरोना से जंग के लिए ऐंटीबॉडी विकसित किया। इस पहले टेस्‍ट में 45 ऐसे लोगों को शामिल किया गया था जो स्‍वस्‍थ थे और उनकी उम्र 18 से 55 साल के बीच थी। इसका इतना कोई खास साइड इफेक्‍ट नहीं रहा जिसकी वजह से वैक्‍सीन के ट्रायल को रोक दिया जाए।

  • Oxford की वैक्सीन का उत्पादन भी

    दिमित्रीव ने यह भी बताया कि रूस ने ब्रिटेन की ऑक्सफर्ड यूनिवर्सिटी की कोरोना वैक्सीन के देश में उत्पादन के लिए Astrazeneca के साथ डील की है। ऑक्सफर्ड की दवा में वॉलंटिअर्स में वायरस के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता विकसित होती पाई गई है। ऑक्सफर्ड के वैज्ञानिक न सिर्फ वैक्सीन ChAdOx1 nCoV-19 (अब AZD1222) के पूरी तरह सफल होने को लेकर आश्वस्त हैं बल्कि उन्हें 80% तक भरोसा है कि सितंबर तक वैक्सीन उपलब्ध हो जाएगी।

  • देखें- कोरोना: पहले टेस्‍ट में सफल रही अमेरिकी वैक्‍सीन

सितंबर तक उत्पादन शुरू करने का लक्ष्य

वैक्सीन कब तक उपलब्ध हो पाएगी, इसे लेकर द डेली टेलिग्राफ ने ट्रायल के डेटा पर मुहर लगाने वाले बर्कशायर रिसर्च एथिक्स कमिटी के चेयरमैन डेविड कार्पेंटर के हवाले से कहा है, ‘किसी एक तारीख का दावा नहीं किया जा सकता, कुछ भी गलत हो सकता है लेकिन असलियत ये है कि एक बड़ी फार्मा कंपनी के साथ काम करते हुए वैक्सीन सितंबर तक बड़े स्तर पर मुहैया की जा सकती है और इसी लक्ष्य पर वे काम कर रहे हैं।’

कोरोना वैक्सीन से पहले भारतीय वैज्ञानिकों का कमालकोरोना वैक्सीन से पहले भारतीय वैज्ञानिकों का कमालकोरोनावायरस को हराने के लिए पूरे विश्व के मेडिकल साइंस के लोग कोरोना ड्रग और वैक्सीन बनाने में जुटे हुए हैं। भारत भी इस मामले में आगे चल रहा है। इसी बीच भारतीय साइंटिस्ट ने खतरनाक बीमारी निमोनिया की वैक्सीन बना ली है। देश में हर साल लाखों बच्चे जिनकी उम्र पांच साल से कम होती है वो इस बीमारी की चपेट में आकर दम तोड़ देते है।

प्रतीकात्मक तस्वीर

प्रतीकात्मक तस्वीर

Web Title oxford university astrazeneca coronavirus vaccine to develop double protection as suggests human trial data(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

हरियाली तीज व्रत आज, जानिए इसकी पूजा विधि, मंत्र, मुहूर्त और कथा

[ Hariyali Teej 2020 Puja Vidhi, Vrat Katha, Shubh Muhurat, Samagri, Mantra: हरियाली तीज हर साल सावन शुक्ल पक्ष की तृतीया तिथि को मनाई...

गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प में घायल सभी जवानों की हालत स्थिर, जल्द लौटेंगे ड्यूटी पर: सेना

https://www.youtube.com/watch?v=ptaCczqA3qg !function(f,b,e,v,n,t,s){if(f.fbq)return;n=f.fbq=function(){n.callMethod?n.callMethod.apply(n,arguments):n.queue.push(arguments)};if(!f._fbq)f._fbq=n;n.push=n;n.loaded=!0;n.version='2.0';n.queue=;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

Rajasthan Political News: सोनिया से मिल पायलट के शिकवे दूर, बोले- बस स्वाभिमान बना रहे

[Edited By Sudhendra Singh | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 11 Aug 2020, 12:18:00 AM IST पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ सचिन...

9 Easy Steps to Save Money Properly in Savings Account

Although there are no magic tricks to turn you Millionaire, are a couple ways in which you alter your habits to help...

सुशांत केस में मुंबई जांच करने गई बिहार टीम के वायरल वीडियो का सामने आया सच, डीजीपी ने खोले राज

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

Unlock 1: ढाई महीने बाद आज से खुल गए धार्मिक स्थल, रेस्तरां, मॉल; जानें किस राज्य में क्या है तैयारी

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link