Home मुख्य समाचार पूर्वी लद्दाख में चीन की धोखेबाजी से सबक, सशस्त्र बलों को मिला...

पूर्वी लद्दाख में चीन की धोखेबाजी से सबक, सशस्त्र बलों को मिला ₹300 करोड़ तक की खरीद का विशेषाधिकार

[

Military might of India China : भारत ने पूर्वी लद्दाख में चीन की धोखेबाजी और धौंस की रणनीति से जमीन हड़पने के प्रयासों पर पानी तो फेरा ही, भविष्य के लिए सीख भी ले ली। यही कारण है कि अब सैन्य बलों को रक्षा खरीद के ज्यादा से ज्यादा अधिकार दिए जाने लगे हैं ताकि जरूरी औजारों की खरीद में देरी नहीं हो।

Edited By Naveen Kumar Pandey | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

लद्दाख: BRO ने 3 महीने में बनाए सेना के लिए जरूरी 3 पुल
हाइलाइट्स

  • भारत ने पूर्वी लद्दाख में चीन के अचानक बदले तेवर से बड़ी सीख ली है
  • चीन के प्रति रहा-सहा विश्वास खत्म होने के बाद भारत की दृष्टि बदल चुकी है
  • भारत ने सैन्य आधुनिकीकरण के आड़े आने वाली बाधाओं को दूर करना शुरू कर दिया है
  • इसी क्रम में सशस्त्र बलों को 300 करोड़ रुपये तक के रक्षा खरीद का विशेषाधिकार दे दिया गया है

नई दिल्ली

भारत और चीन के बीच मई से जुलाई के शुरुआती सप्ताह तक चरम पर पहुंचा तनाव भले ही घट गया हो, लेकिन चीन के प्रति अविश्वास की भावना चरम पर है। इसकी झलक सरकार और सेना के हालिया नीतिगत फैसलों में देखी जा सकती है। बुधवार को ही रक्षा अधिग्रहण परिषद (DAC) ने सशस्त्र बलों को 300 करोड़ रुपये तक के रक्षा खरीद का विशेषाधिकार दे दिया। रक्षा मंत्रालय ने इस फैसले का महत्व बताते हुए कहा कि इससे न केवल उभरती परिचालन आवश्यकताओं को पूरा किया जाएगा बल्कि खरीद में लगने वाला समय भी घट जाएगा। मंत्रालय ने कहा कि अब महत्वपूर्ण औजार की आपूर्ति एक साल के अंदर सुनिश्चित हो जाएगी।

300 करोड़ तक के मनमाफिक खरीद की छूट

अधिकारियों ने बताया कि खरीद से संबंधित चीजों की संख्या को लेकर कोई सीमा नहीं है और आपात आवश्यकता श्रेणी के तहत प्रत्येक खरीद 300 करोड़ रुपये से अधिक मूल्य की नहीं होनी चाहिए। यह निर्णय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह की अध्यक्षता वाली रक्षा खरीद परिषद (डीएसी) की बैठक में हुआ। रक्षा मंत्रालय ने एक बयान में कहा, ‘डीएसी ने 300 करोड़ रुपये तक की तात्कालिक पूंजीगत खरीद से जुड़े मामलों को आगे बढ़ाने के लिए सशस्त्र बलों को अधिकार प्रदान कर दिए जिससे कि वे अपनी आपात अभियानगत जरूरतों को पूरा कर सकें।’



जल्द होगी सैन्य जरूरतों की आपूर्ति


इसने कहा कि इस निर्णय के बाद खरीद से जुड़ी समयसीमा कम हो जाएगी और इससे खरीद के लिए छह महीने के भीतर ऑर्डर देना तथा एक साल के भीतर संबंधित वस्तुओं की उपलब्धता की शुरुआत सुनिश्चित होगी। मंत्रालय ने कहा कि उत्तरी सीमाओं पर मौजूदा सुरक्षा स्थिति तथा देश की सीमाओं की रक्षा के लिए सशस्त्र बलों की मजबूती की आवश्यकता के मद्देनजर डीएसी की विशेष बैठक हुई। पूर्वी लद्दाख में चीन के साथ गतिरोध के बीच सेना के तीनों अंगों ने पिछले कुछ सप्ताहों में कई तरह के सैन्य उपकरणों, अस्त्र-शस्त्रों और सैन्य प्रणालियों की खरीद शुरू कर दी है।

भारत को हेकड़ी दिखाकर चीन ने अमेरिका को पहुंचाया फायदा?

…ताकि भविष्य में धौंस न दिखा पाए चीन

दरअसल, पूर्वी लद्दाख में चीन ने वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) के पास अपने सैनिक और साजो-सामान जुटाकर (मिलिट्री बिल्डअप) के जरिए भारत पर दबाव बनाने की कोशिश की जिसके जवाब में भारत ने अपने इलाके में बराबर का मिलिट्री बिल्ड अप कर दिया। साथ ही, अमेरिका, फ्रांस, ऑस्ट्रेलिया समेत अन्य वैश्विक ताकतों का भारत के प्रति समर्थन का रुख से चीन के मंसूबे पर पानी फिर गया और उसने शांति का राग अलापना शुरू कर दिया। हालांकि, भारत ने उसकी बदनीयत को भांपकर भविष्य की तैयारियों में जुट गया। भारत अपनी सैन्य ताकत इस स्तर पर ले जाने की दिशा में जोर-शोर से जुट गया है जिससे भविष्य में चीन कभी अपनी सैन्य क्षमता का धौंस दिखाकर दबाव बनाने की सोच भी नहीं सके।

(भाषा से इनपुट के साथ)

सांकेतिक तस्वीर।

सांकेतिक तस्वीर।

Web Title eye on china, armed forces get special powers for individual procurement worth rs 300 cr(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

चौतरफा दबाव में झुका चीन, अग्रिम मोर्चा से सैनिकों को हटाएगा, कुछ जवान और गाड़ियां हटाई गईं: सूत्र

[ Publish Date:Thu, 25 Jun 2020 07:37 PM (IST) नई दिल्‍ली, एएनआइ। चौतरफा दबाव के बाद अब चीन झुकता हुआ नजर आ रहा है।...

भारत-चीन सीमा पर दिखी सैन्य ताकत, सुखोई और मिग लड़ाकू विमानों ने भरी उड़ान

[ न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Sat, 04 Jul 2020 08:30 PM IST पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just...

देसी कोरोना वैक्सीन Covaxin पर गुड न्‍यूज, शुरुआती ट्रायल में नहीं दिखा कोई रिएक्‍शन

[Covid Coronavirus Vaccine India news: दिल्‍ली एम्‍स में 30 साल के शख्‍स को Covaxin की पहली डोज दी गई। दो घंटे बाद उन्‍हें...

Coronavirus Vaccine पर घमासान: US, UK, कनाडा ने रूस पर लगाया रिसर्च की ‘साइबर चोरी’ का आरोप

[Coronavirus Vaccine News: कोरोना वायरस को लेकर अमेरिका और ब्रिटेन ने रूस पर साइबर हमले का आरोप लगाया है। दोनों देशों ने कनाडा...

Delhi Coronavirus: पॉजिटिव केसों संख्या 50 हजार पार, लेकिन परेशान न हों राजधानी के लोग

[Edited By Vineet Tripathi | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated: 20 Jun 2020, 09:52:00 AM IST दिल्ली के स्वास्थ्य मंत्री की...