Home मुख्य समाचार चार लोग एक जैसे नहीं होते फिर भी भारत से रिश्‍ते मजबूत...

चार लोग एक जैसे नहीं होते फिर भी भारत से रिश्‍ते मजबूत करना चाहते थे 4 अमेरिकी राष्‍ट्रपति: विदेश मंत्री जयशंकर

[

EAM Dr. S. Jaishankar statement : विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने कहा कि अमेरिका के चार राष्‍ट्रपति- डोनाल्‍ड ट्रंप, बराक ओबामा, जॉर्ज बुश और बिल क्लिंटन, सभी भारत के साथ रिश्‍ते मजबूत करने को लेकर सहम‍त थे।

Edited By Deepak Verma | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

भारत को अपना ‘ब्रह्मास्‍त्र’ दे रहा अमेरिका, चीन से लेगा टक्‍कर
हाइलाइट्स

  • जयशंकर ने कहा, अमेरिका और भारत के रिश्‍ते बेहद मजबूत
  • बोले विदेश मंत्री- भारत पर चार अमरीकी राष्‍ट्रपतियों की राय एक जैसी
  • भारत-चीन सीमा विवाद पर विदेश मंत्री एस जयशंकर का पहला बयान
  • कहा- अभी डिसएंगेजमेंट और डी-एस्‍केलेशन की प्रक्रिया शुरू ही हुई है
  • विदेश मंत्री के मुताबिक, बॉर्डर पर तनाव कम करने का काम जारी

नई दिल्‍ली

विदेश मंत्री डॉ. एस. जयशंकर ने भारत और अमेरिका के रिश्‍तों की मजबूती के बहाने ड्रैगन को साफ संदेश दिया है। इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020 में उन्‍होंने कई देशों संग भारत के बेहतरीन संबंधों का हवाला दिया। अमेरिका के सवाल पर विदेश मंत्री ने कहा कि पिछले चार राष्‍ट्रपतियों ने भारत के साथ रिश्‍ते मजबूत करने पर बल दिया और इसी का नतीजा है कि आज दोनों देशों के संबंध बेहद मजबूत हैं। जयशंकर ने कहा, “यूएस के कम से कम चार राष्ट्रपति- बराक ओबामा, जॉर्ज बुश, डोनाल्ड ट्रंप और बिल क्लिंटन, सभी इस बात पर सहमत थे कि भारत के साथ संबंध मजबूत किए जाएं जबकि कोई भी चार व्यक्ति एक जैसे नहीं हो सकते।”

‘अब पाटी जा रहीं अमेरिका-भारत के बीच की दूरियां’

विदेश मंत्री ने कहा कि ‘भारत-अमेरिका के रिश्‍तों ने अपनी पहचान बनाने में 6 दशक लगा दिए मगर जो वक्‍त खो गया, अब उसकी भरपाई की जा रही है।’ उन्‍होंने कहा, ‘हो सकता है इसमें (रिश्‍तों में मजबूती) से कुछ हमारे चार्म की वजह से हुआ हो मगर मुझे लगता है कि इसमें उनकी सोच की बड़ी भूमिका है। हमारे और अमेरिका के बीच बड़े गहरे राजनीतिक, रणनीतिक, सुरक्षा, तकनीक, डिफेंस और आर्थिक रिश्‍ते हैं।’
कई देशों से रिश्‍तों का दिया हवाला

विदेश मंत्री ने सिर्फ अमेरिका ही नहीं, दुनिया के कई देशों से भारत के रिश्‍तों पर टिप्पणी की। ब्रेक्जिट को लेकर उन्‍होंने कहा कि ‘भारत मल्‍टीपल UKs- यूरोपियन UK, ट्रांसअटलांटिक UK, हिस्‍टॉरिकल UK, डायस्‍पोरा UK, सिटी ऑफ लंदन UK और इनोवेटिव UK समेत पूरे स्‍पेक्‍ट्रम को ध्‍यान में रखेगा। भारत-ऑस्‍ट्रेलिया के बेहतर होते सबंधों के पीछे उन्‍होंने मजबूत स्‍ट्रक्‍चरल और पॉलिसी चेंजेस को वजह बताया। सिंगापुर को भारत के लिए दुनिया की पल्‍स करार देते हुए विदेश मंत्री ने उसके साथ अनूठे संबंधों को रेखांकित किया।

चीन की पत्थरबाज सेना से ऐसे निपटेगा भारतचीन की पत्थरबाज सेना से ऐसे निपटेगा भारतकश्मीर की तरह, जब चाइना बॉर्डर पर भी पत्थरबाजी हुई तो सरकार ने इससे निपटने का तरीका भी कश्मीर वाला ही निकाला है। जी हां, चीनी सेना की पत्थरबाजी से निपटने के लिए लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर तैनात जवानों को अब सुरक्षात्मक शरीर कवच यानी फुल बॉडी प्रोटेक्टर दिए जाएंगे। ये ठीक वैसे होंगे जैसे जवान कश्मीर घाटी में पत्थरबाजी से बचने के लिए पहनते हैं।

कोरोना के बाद कैसी होगी दुनिया?

जयशंकर ने कहा कि ‘कोरोना वायरस से पहले दुनिया ने जो ट्रेंड देखे, वे कोविड के बाद की दुनिया में और तेजी से बढ़ सकते हैं। यहां तक कि कोरोना के जवाब में ही, हमने पिछले छह महीनों में देख लिया कि कई देश अब राष्‍ट्रवादी व्‍यवहार कर रहे हैं।’ उन्‍होंने कहा, “मैं एक ऐसी दुनिया देखता हूं जहां तीखे वाद-विवाद होंगे। मुझे लता है कि भरोसे की बात होगी। बेहतरीन सप्‍लाई चेन पर सवाल होंगे। दुनिया और मुश्किल होने वाली है।”

पाक से कट्टी, चीन से लंबी जंग की तैयारी में US

जयशंकर ने बताई डिसएंगेजमेंट की वजह

भारत-चीन के बाद सीमा पर तनाव को लेकर विदेश मंत्री ने पहली बार सार्वजनिक मंच से बयान दिया है। डॉ. जयशंकर ने कहा कि ‘सीमा पर डिसएंगेजमेंट और डी-एस्‍केलेशन प्रोसेस पर सहमति बनी है और यह अभी शुरू ही हुआ है।’ उन्‍होंने कहा कि दोनों बातों पर अभी काम चल रहा है। विदेश मंत्री ने यह भी बताया कि दोनों देशों ने अपने-अपने सैनिक वापस बुलाने का फैसला किया। उन्‍होंने कहा, “हम डिसएंगेज करने पर इसलिए सहमत हुए क्‍योंकि सैनिक एक-दूसरे के बेहद करीब तैनात हैं।

इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020 में विदेश मंत्री एस जयशंकर।

इंडिया ग्‍लोबल वीक 2020 में विदेश मंत्री एस जयशंकर।

Web Title citing us support eam s jaishankar says india and united states have a very strong relation(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

राजस्‍थान विधानसभा का सत्र क्‍यों बुलाएं? राज्‍यपाल ने अशोक गहलोत सरकार से पूछे हैं ये 6 सवाल

[Rajasthan politics news: सीएम अशोक गहलोत ने कैबिनेट के साथ राज्‍यपाल के उस नोट पर चर्चा की जिसमें उनसे विधानसभा सत्र बुलाने की...

लेटर विवादः बोलीं सोनिया- नहीं रहूंगी कांग्रेस अध्यक्ष, चुना जाए नया चीफ

[ लेटर विवाद के बीच कांग्रेस की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी ने कहा है वह अपने पद पर एक साल का कार्यकाल पूरा कर...

जम्मू-कश्मीर में थी पुलवामा जैसे हमले की तैयारी, सेना ने 52 किलो विस्फोटक बरामद कर तोड़े मंसूबे

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

COVID-19 Vaccine: मुंबई और पुणे के 5,000 लोगों से शुरू होगा कोरोना वैक्सीन का ट्रायल

[COVID-19 Vaccine updates: ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन का भारत में ट्रायल शुरू होने वाला है। इसके लिए मुंबई और पुणे के हॉटस्पॉट से...

corona vaccine update : स्वदेशी टीका 15 अगस्त तक उपलब्ध कराने का लक्ष्य, लेकिन विशेषज्ञों को संदेह

[ICMR (आईसीएमआर) ने आगामी 15 अगस्त कर देश में कोरोना वायरस का स्वदेशी टीका बनने का दावा किया है। मगर, टीके का परीक्षण...

राजस्थान में धूल भरी आंधी से घिरी कांग्रेस, बीजेपी की सावधानी से आगे बढ़ने की रणनीति

[कांग्रेस के तीन विधायक सचिन पायलट के प्रति निष्ठावान दिखे. उन्होंने कहा कि वे अब भी कांग्रेस के सिपाही हैं.बीजेपी ने अपना गुणा-भाग...