Home मुख्य समाचार प्राइवेट ट्रेनों में फ्लाइट जैसी सुविधाएं! यह है Indian Railways का मुनाफा...

प्राइवेट ट्रेनों में फ्लाइट जैसी सुविधाएं! यह है Indian Railways का मुनाफा कमाने का प्लान

[

इंडियन रेलवे 151 प्राइवेट ट्रेनों को चलाने की तैयारी में है. प्राइवेट ट्रेनों में एयरलाइन्स की तरह यात्रियों को पसंदीदा सीट, सामान और यात्रा की सुविधाएं दी जाएंगी. इस दौरान यात्रियों को इन सुविधाओं के लिए टिकट के अलावा अलग से भुगतान करना पड़ सकता है. यह सकल राजस्व (टोटल रेवेन्यू) का हिस्सा होगा जिसे प्राइवेट ट्रेन को चलाने वाली कंपनी को रेलवे के साथ साझा करना होगा. इस बात की जानकारी रेलवे ने अपने एक दस्तावेज में दी है.

रेलवे ने हाल ही में टेंडर (आरएफक्यू) जारी कर प्राइवेट यूनिट्स (जो प्राइवेट ट्रेनों को चलाएंगी) को पैसेंजर ट्रेनें चलाने के लिए आमंत्रित किया है. अधिकारियों के अनुसार इन सेवाओं के लिए यात्रियों से पैसा लेने के बारे में निर्णय भी प्राइवेट कंपनियों को करना है.

प्राइवेट कंपनियों को मिलेगी पूरी छूट

रेलवे द्वारा जारी डॉक्यूमेंट में कहा गया है कि अपनी वित्तीय क्षमता के अनुसार बोली लगाने वाली प्राइवेट कंपनियों को परियोजना लेने के लिए टेंडर में टोटल रेवेन्यू में हिस्सेदारी की पेशकश करनी होगी. टेंडर के अनुसार रेलवे प्राइवेट कंपनियों को यात्रियों से किराया वसूलने को लेकर आजादी देगी. साथ ही उन्हें इस बात की भी आजादी होगी कि वो कमाई के रास्ते तलाशने के लिए नये विकल्प टटोल सकते हैं.

सुविधाओं के लिए देना होगा अलग से चार्ज

आरएफक्यू में कहा गया है, ‘टोटल रिवेन्यू में साझेदारी किस प्रकार होगी यह अभी विचाराधीन है. वैसे इसमें निम्न बातें शामिल हो सकती है. यात्रियों या किसी तीसरे पक्ष द्वारा यात्रियों को सेवा देने के एवज में संबंधित कंपनी को प्राप्त राशि इसके अंतर्गत आएगा. इसमें टिकट पर किराया राशि, पसंदीदा सीट का विकल्प, सामान/पार्सल/कार्गो (अगर टिकट किराया में शामिल नहीं है) के लिए अलग से पैसा देना शामिल होगा.’

विज्ञापन और ब्रांडिंग भी टोटल रेवेन्यू का हिस्सा

दस्तावेज के अनुसार, ‘यात्रा के दौरान सेवाओं जैसे भोजन, बेडशीट, कंबल और यात्रि की मांग पर दी जाने वाली कोई सामग्री, वाई-फाई (अगर टिकट किराया में शामिल नहीं है) का अलग से चार्ज देना होगा. इसके अलावा विज्ञापन, ब्रांडिंग जैसी चीजों से प्राप्त राशि भी टोटल रेवेन्यू का हिस्सा होगी.’

151 नई प्राइवेट ट्रेनें, 160 kmph की अधिकतम रफ्तार! क्या है Indian Railways का प्लान?

कहीं से भी खरीद सकेंगे इंजन और ट्रेन

उल्लेखनीय है कि रेलवे ने पहली बार देश भर में 109 रूट्स पर 151 आधुनिक यात्री ट्रेनें चलाने को लेकर प्राइवेट कंपनियों से प्रस्ताव आमंत्रित किए हैं. इस परियोजना में निजी क्षेत्र से करीब 30,000 करोड़ रुपये का निवेश अनुमानित है. निजी कंपनी कहीं से भी इंजन और ट्रेन खरीदने के लिये स्वतंत्र होगी बशर्तें वे समझौते के तहत निर्धारित शर्तों एवं मानकों को पूरा करते हों. हालांकि समझौते में निश्चित अवधि तक घरेलू स्तर पर होने वाले उत्पादन के जरिए खरीदने का प्रावधान होगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android IOS

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

सहवास करने के बाद प्राइवेट पार्ट में तनाव और दर्द

मैं सहवास करने के बाद जब सो जाता हूं तो 2-3 घंटे बाद फिर से प्राइवेट पार्ट में तनाव और दर्द महसूस...

चीन और पाकिस्तान के पास भले ही ज्यादा हो एटम बम, पर भारत को नहीं कोई डर, जान लीजिए कारण

[nuclear warheads in world news today: चीन और पाकिस्तान के पास भारत के मुकाबले भले ही ज्यादा एटमी हथियार हो लेकिन भारत के...

महाराष्‍ट्र में एक दिन में कोरोना के रेकॉर्ड 7,074 केस, कुल मामले हुए दो लाख के पार

[महाराष्‍ट्र में कोरोना के मामले (maharashtra corona latest update) बढ़ते जा रहे हैं। पिछले 24 घंटों में राज्‍य में 7,074 मामले सामने आए...

चार धाम रोड प्लान पर विशेषज्ञों की आपत्ति, कहा हिमालयन ब्लंडर

[Edited By Bharat Malhotra | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated: 21 Jul 2020, 04:41:00 AM IST एक्सपर्ट की राय, हिमालयन ब्लंडर...

चीन के खिलाफ बड़ा ऐक्शन, डोनाल्ड ट्रंप ने हॉन्गकॉन्ग स्वायत्तता कानून पर किए हस्ताक्षर

[Edited By Ankit Ojha | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 15 Jul 2020, 05:35:00 AM IST हाइलाइट्सअमेरिका चीन के प्रति सख्त रुख अख्तियार...

प्रियंका गांधी ने सचिन पायलट को राहुल और सोनिया गांधी से मिलवाने का दिया था ऑफर: सूत्र

[नई दिल्ली: सचिन पायलट लगातार खुद को राजस्थान का मुख्यमंत्री बनाने की मांग करते रहे और जब तक उनकी यह मांग मान नहीं...