Home मुख्य समाचार Ladakh Standoff: साम, दाम, दंड, भेद... भारत ने चीन को कैसे पीछे...

Ladakh Standoff: साम, दाम, दंड, भेद… भारत ने चीन को कैसे पीछे धकेला, जानिए इनसाइड स्टोरी

[

Edited By Satyakam Abhishek | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

चीन ने गलवान घाटी से पीछे हटाए सैनिक
हाइलाइट्स

  • भारत और चीन के बीच पिछले तीन महीने से चल रहे तनाव में नरमी के संकेत
  • लद्दाख के गलवान घाटी से चीनी सैनिक पीछे हटे
  • भारत ने ड्रैगन की आर्थिक और कूटनीतिक तौर पर की थी बड़ी घेरेबंदी
  • पीएम नरेद्र मोदी के लेह दौरे से चीन समेत पूरी दुनिया को मिल गया बड़ा संदेश

नई दिल्ली

लद्दाख में चीन को पटखनी देने के लिए भारत ने उसकी चौतरफा घेरेबंदी की थी। सीमा पर सेना की तैनाती बढ़ा दी गई और जैसे को तैसा की पूरी तैयारी थी। वहीं, आर्थिक और कूटनीतिक फ्रंट पर भारत की रणनीति के कारण ड्रैगन बैकफुट पर जाने को मजबूर हुआ। भारत ने चीन को उसी की भाषा में जवाब दिया और साम, दाम, दंड और भेद की नीति का इस्तेमाल किया। पीएम नरेंद्र मोदी के लद्दाख दौरे ने चीन समेत पूरी दुनिया को एक मजबूत संदेश दे दिया कि भारत को डिगने वाला नहीं है।



कूटनीतिक से लेकर आर्थिक घेरेबंदी
चीन से पिछले तीन महीने से लद्दाख में जारी संघर्ष के बीच नई दिल्ली को कई देशों ने फोन कर मदद का भरोसा दिया। कूटनीतिक मोर्चे पर जोरदार घेरेबंदी के साथ-साथ भारत ने पेइचिंग को आर्थिक झटका भी दिया जिसके बाद उसके पांव उखड़ गए।

पढ़ें,चीन की आर्मी ने उखाड़े तंबू, नीयत पर संदेह

अमेरिका, फ्रांस, ब्रिटेन का साथ

विदेश मंत्री एस जयशंकर ने इस दौरान अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस, इंडोनेशिया, ऑस्ट्रेलिया, कनाडा और जापान समेत कई अन्य देशों के विदेश मंत्रियों से बात की। सरकार का मानना है कि इन बातों से भारत को सकारात्मक नतीजे मिले। फ्रांस से बातचीत के बाद जयशंकर ने ट्वीट किया था कि बातचीत के दौरान व्यापक चर्चा हुई। इस दौरान मौजूदा सुरक्षा हालात और राजनीतिक महत्व पर बात हुई। फ्रांस कोविड से संबंधित चुनौतियों से निपटने में भी मदद का भरोसा दिया। भारत ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अस्थायी सदस्यता के समर्थन के लिए भी फ्रांस का धन्यवाद किया।

पढ़ें, चीन को नहीं करने देंगे कब्‍जा, भारत को देंगे सैन्‍य सहायता: US

दुनिया को भारत ने चीन के धोखे को बताया

जयशंकर लिथूनिया, इस्तोनिया, लातविया, मैक्सिको और आयरलैंड समेत कई अन्य देशों के विदेश मंत्रियों से बात कर उनके संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद में समर्थन के लिए धन्यवाद किया और उन्हें लद्दाख और सिक्किम में चीन की आक्रमकता के बारे में भी बताया। कूटनीतिक सूत्रों ने बताया कि सभी देशों में भारत और चीन के बीच चल रहे तनाव के बारे में जानकारी की जिज्ञासा थी। वे जानना चाहते थे कि भारत ने इससे निपटने के लिए क्या योजना बनाई है।



पीएम मोदी की लेह यात्रा ने चीन को हिला दिया


सरकारी सूत्रों ने बताया कि उनका मानना है कि पीएम नरेंद्र मोदी की लद्दाख यात्रा चीनी आक्रमकता के सामने भारत के चट्टानी इरादे जता दिए। इससे सरकार का चीन और पूरी दुनिया को एक संदेश मिल गया। इस बीच, भारत और चीन के बीच विवादित इलाके से सेना हटाने के लिए सैन्य स्तर पर भी बातचीत चलती रही।

एक सरकारी सूत्र ने भारत के कूटनीतिक प्रयासों के बारे में बताया कि हमने चुपचाप लेकिन मजबूती के साथ अपना रुख दुनिया के देशों के सामने रख दिया। इसके कारण हमें समर्थन और सहानुभूति मिली। चीन का अपने कई पड़ोसियों के साथ आक्रामक रुख ने भारत के प्रयासों को ज्यादा आसान कर दिया।

डोभाल ने बैठक में चीन को सुनाया दो टूक

इस बीच, भारत ने अपने सबसे मजबूत कूटनीतिक हथियार अजीत डोभाल का भी इस्तेमाल कर लिया। डोभाल ने चीन के विदेश मंत्री वांग यी के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए दो घंटे की बातचीत में भारत का दो टूक पक्ष रख दिया। डोभाल ने इस बैठक में चीन को साफ-साफ कह दिया किया सेनाओं को पीछे हटाने का काम 6 जून को हुई बैठक के अनुसार होना चाहिए। दोनों पक्ष सीमा पर शांति के लिए पूरी तरह समहत नजर आए।

Ladakh Standoff: साम, दाम, दंड, भेद... भारत ने चीन को कैसे पीछे धकेला, जानिए इनसाइड स्टोरी

Ladakh Standoff: साम, दाम, दंड, भेद… भारत ने चीन को कैसे पीछे धकेला, जानिए इनसाइड स्टोरी

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Rashifal 15 सितंबर 2020: मिथुन राशि वालों के लिए धन का आवक बना रहेगा तो कुंभ राशि वालों के विरोधी परास्‍त होंगे, जानें अन्य राशियों का हाल

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

CoronaVirus in India: देश में कोरोना की सबसे बड़ी उछाल, पिछले 24 घंटे में 95735 नए मामले, मृतकों का आंकड़ा 75 हजार के पार

[ न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Thu, 10 Sep 2020 10:36 AM IST भारत में कोरोना केस: जांच के लिए नमूना लेता स्वास्थ्य कर्मी। -...

‘अन्याय के समक्ष झुकूं नहीं, असत्य को सत्य से जीतूं’, हिरासत के अगले दिन बोले राहुल गांधी

[हाथरस जाने के दौरान यमुना एक्सप्रेस-वे पर राहुल गांधी को रोकते यूपी पुलिस के जवान.नई दिल्ली: कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul...

Jammu-Kashmir: 370 को निष्प्रभावी करने के बाद शुरु हुआ बदलाव, सरकार के सामने अभी भी है कई चुनौतियां

Posted By: Sanjay Pokhriyal डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और...

मुंबई में फेल हुआ पावर ग्रिड, पूरे शहर की बत्‍ती गुल, लोकल ट्रेन भी थमी

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...