Home मुख्य समाचार LAC पर एक KM तक पीछे हटी चीनी सेना, गलवान घाटी के...

LAC पर एक KM तक पीछे हटी चीनी सेना, गलवान घाटी के पास बना बफर जोन

[

  • LAC पर एक किमी. तक पीछे हटी चीनी सेना
  • दोनों देशों में बातचीत के बाद बदला माहौल

भारत और चीन के बीच मई के महीने से जारी विवाद में अब बड़ी खबर सामने आई है. 15 जून को जिस जगह पर दोनों देशों की सेनाएं आमने-सामने आई थीं, अब वहां से चीनी सेना करीब एक किमी. पीछे हट गई है. सेनाओं के बीच लगातार सैनिकों को पीछे हटाने को लेकर मंथन चल रहा था, ऐसे में ये इस प्रक्रिया का पहला पड़ाव माना जा रहा है.

लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) पर गलवान घाटी में हिंसा वाले स्थल के पास से चीनी सेना करीब एक किमी. पीछे हट गई है.

सूत्रों की मानें, तो दोनों देशों की सेना ने रिलोकेशन पर सहमति जाहिर की है और सेनाएं मौजूदा स्थान से पीछे हटी हैं. गलवान घाटी के पास अब बफर जोन बनाया गया है, ताकि किसी तरह की हिंसा की घटना फिर ना हो पाए.

गलवान पर ही नहीं है चीन की लालची नजर, 250 द्वीपों पर कब्जे का प्लान

गलवान घाटी में शहीद हुए थे 20 जवान

आपको बता दें कि भारत और चीन के बीच मई के महीने से तनाव की स्थिति बनी हुई है. ईस्टर्न लद्दाख बॉर्डर पर गलवान घाटी के पास पैंगोंग लेक तक चीनी सेना और भारतीय सेना आमने-सामने हैं.

जून के पहले हफ्ते में दोनों देशों के बीच बातचीत का सिलसिला शुरू हुआ, जहां पर सैन्य लेवल पर बात हुई. लेकिन 15 जून को इसी दौरान गलवान घाटी में झड़प हुई, जिसमें भारतीय सेना के 20 जवान शहीद हो गए थे. चीन को भी बड़ा नुकसान हुआ, लेकिन उसने कभी इसे नहीं माना.

लेह में पीएम मोदी के भाषण के वो शब्द जो बीजिंग के कान में गूंज रहे होंगे

कई दौर की हुई है बात

भारतीय सेना ने 6 जून, 22 जून और 30 जून को चीनी सेना से बात की. जिसमें मौजूदा स्थिति को वापस अप्रैल से पहले की स्थिति पर ले जाने की बात कही गई. भारत अपने मुद्दे पर अड़ा रहा, लेकिन चीन नहीं माना.

बॉर्डर के पार चीन की ओर से बढ़ाई जा रही सेना की मौजूदगी के जवाब में भारत ने भी अपनी तैनाती को बढ़ा दिया. अब लद्दाख बॉर्डर पर भारतीय सेना की कई टुकड़ियां तैनात हैं.

पीएम मोदी ने दौरे से चौंकाया था

पिछले शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अचानक लेह पहुंच गए थे. पीएम मोदी नीमू पोस्ट पर पहुंचे थे, जो लद्दाख बॉर्डर से कुछ दूर था हालांकि यहां बड़ी संख्या में सेना के जवान मौजूद हैं.

पीएम मोदी ने अपने संबोधन में यहां सख्त संकेत दिया था कि अब विस्तारवाद का वक्त चला गया है और विकासवाद का वक्त आ गया है. इसी बयान के बाद चीन बौखला गया था.

पीएम मोदी के बयान पर चीन का जवाब- हमें विस्तारवादी कहना आधारहीन

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें

  • Aajtak Android IOS

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

राज्यसभा चुनाव से पहले राजस्थान में चल रही उथल-पुथल के बीच सचिन पायलट का आया यह बयान…

[‘कांग्रेस ने उपचुनाव के बाद विधानसभा चुनावों में जीत दर्ज की और अब राज्यसभा सीटों पर पार्टी के उम्मीदवार जीतेंगे'जयपुर: राजस्थान प्रदेश कांग्रेस...

Rhea Chakraborty In Jail: रिया चक्रवर्ती का जेल में बुरा हाल, बेड, तकिया और पंखा भी नहीं हो रहा नसीब

[ Publish Date:Sat, 12 Sep 2020 06:03 PM (IST) नई दिल्ली, जेएनएनl एक रिपोर्ट के अनुसार जहां रिया चक्रवर्ती की जमानत अर्जी शुक्रवार को...

पाकिस्तान पर हमले की साजिश रच रहा भारत: शाह महमूद कुरैशी

[भारत-चीन सीमा विवाद (India-China Boarder Dispute) के चलते पाकिस्तान में घबराहट है। पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी (Shah Mahmood Qureshi) ने...

सुदीक्षा भाटी मौत मामला : पुलिस ने 10 हजार बुलेट बाइक खंगालीं तब जाकर मिला सुराग

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

अमेरिका-चीन के रिश्तों में 50 साल में सबसे बड़ा बदलाव!

[Edited By Bharat Malhotra | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated: 24 Jul 2020, 02:34:00 AM IST चिदानंद राजघट्टा, वॉशिंग्टन चीन के प्रति...