Home मुख्य समाचार 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों का दावा- हवा से फैल रहा कोरोना,...

32 देशों के 239 वैज्ञानिकों का दावा- हवा से फैल रहा कोरोना, WHO पर फिर सवाल

[

वैज्ञानिकों का दावा- हवा से भी फ़ैल रहा है कोरोना संक्रमण

32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने कोरोना महामारी (Covid-19) को लेकर एक ओपन लेटर लिखा है जिसमें WHO पर भी सवाल उठाए गए हैं. इन वैज्ञानिकों का दावा है कि कोरोना वायरस हवा के जरिए भी फैलता है, लेकिन डब्ल्यूएचओ इसे लेकर गंभीर नहीं है और संगठन ने अपनी गाइडलाइंस में भी इस पर चुप्पी साधी हुई है.

वाशिंगटन. कोरोना संक्रमण (Coronavirus) के मामले में चीन (China) की मदद करने के आरोप झेल रहा विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) एक बार फिर सवालों में आ गया है. 32 देशों के 239 वैज्ञानिकों ने कोरोना महामारी (Covid-19) को लेकर एक ओपन लेटर लिखा है, जिसमें WHO पर भी सवाल उठाए गए हैं. इन वैज्ञानिकों का दावा है कि कोरोनावायरस हवा के जरिए भी फैलता है लेकिन डब्ल्यूएचओ इसे लेकर गंभीर नहीं है और संगठन ने अपनी गाइडलाइंस में भी इस पर चुप्पी साधी हुई है.

न्यूयॉर्क टाइम्स के मुताबिक़ 239 वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि हवा के छोटे कणों में मौजूद कोरोना वायरस से भी लोग संक्रमित हो सकते हैं. वैज्ञानिकों ने कहा कि उन्हें इस बात के सबूत मिले हैं और उन्होंने विश्व स्वास्थ्य संगठन से इस बीमारी से जुड़े दिशा-निर्देशों को संशोधित करने की मांग की है. वैज्ञानिकों ने WHO से कहा है कि वह इस मुद्दे पर गंभीरता दिखाए साथ ही इस पत्र को अगले हफ़्ते किसी साइंस जर्नल में प्रकाशित करने का भी ऐलान कर दिया. बता दें कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक़ कोरोनो वायरस बीमारी मुख़्य रूप से एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक छोटे ड्रॉपलेट से फैलता है, जो छींकने या बोलने के दौरान मुंह से निकलते हैं.

WHO नहीं मान रहा दावा
इन वैज्ञानिकों ने दावा किया है कि छींकने के बाद हवा में दूर तक जाने वाले बड़े ड्रॉपलेट या छोटे ड्रॉपलेट एक कमरे या एक निर्धारित क्षेत्र में मौजूद लोगों को संक्रमित करने में सक्षम होते हैं. बंद जगहों पर ये काफी देर तक हवा में मौजूद रहते हैं और आस-पास मौजूद सभी लोगों को संक्रमित कर सकते हैं. 

 

हालांकि WHO ने न्यूयॉर्क टाइम्स को दिए अपने बयान में कहा कि जो सबूत शोधकर्ताओं ने दिए हैं, वो काफ़ी नहीं हैं. WHO के डॉ. बेनेडेटा अलेंग्रांज़ी ने न्यूयॉर्क टाइम्स से कहा, ‘ख़ासतौर पर पिछले दो महीनों हमने कई बार कहा है कि हम इस बात पर विचार कर रहे हैं कि ये बीमारी हवा के माध्यम से फैल सकती है लेकिन इसे साबित करने के लिए कोई ठोस या स्पष्ट प्रमाण नहीं हैं.’

First published: July 6, 2020, 7:56 AM IST

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

पाकिस्तान की घुसपैठ की कोशिशों को नाकाम कर रहा भारत, LoC पर तैनात किए 3000 अतिरिक्त जवान

[नई दिल्लीपाकिस्तानी सेना लगातार भारत में आतंकियों की घुसपैठ कराने की कोशिश में लगी है। इसबीच भारत ने लाइन ऑफ कन्ट्रोल (एलओसी) के...

नेपाल की राष्ट्रपति ने देश के नए नक्शे पर किया साइन, तीन भारतीय इलाकों पर जताया हक

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

पीएम मोदी की जब दो गज दूरी कोरोना की दवा हो सकती है, कोरोनिल तो ज्यादा ताकतवर: बाबा रामदेव

[Edited By Shashi Mishra | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 01 Jul 2020, 01:46:00 PM IST प्रेस कॉन्फ्रेंस करते बाबा रामदेवहाइलाइट्सबाबा रामदेव का...

69000 शिक्षक भर्ती 2020: योगी सरकार को हाईकोर्ट ने दी बड़ी राहत, चयन प्रकिया आगे बढ़ाने को स्वतंत्र

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

सेना ने अग्रिम मोर्चो पर तैनाती बढ़ाई, सीमावर्ती गांवों को खाली कराया गया, तीसरी बैठक में भी नहीं बनी बात

[ Publish Date:Fri, 19 Jun 2020 01:38 AM (IST) संजय मिश्र, नई दिल्ली। गलवन घाटी में सोमवार रात चीनी सैनिकों की धोखेबाजी का मुंहतोड़...