Home मुख्य समाचार अब पुलिस ने बताया- जेसीबी से क्यों गिरा दिया विकास दुबे का...

अब पुलिस ने बताया- जेसीबी से क्यों गिरा दिया विकास दुबे का घर

[

कानपुर शूटआउट: विकास दुबे मामले में पुलिस ने जब्त की कार, वारदात से हो सकता है संबंध

कानपुर

उत्तर प्रदेश के कानपुर में विकास दुबे के घर को पुलिस ने जेसीबी मशीनें लगाकर जमींदोज कर दिया। इस मामले में सवाल उठने के बाद अब स्पष्टीकरण भी जारी किया गया है। पुलिस के बयान में कहा गया है कि विकास दुबे के घऱ की छत, दीवारों और जमीन से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद किया गया है। इन्हीं को निकालने के लिए जेसीबी मशीनों का इस्तेमाल किया गया है।

कानपुर के बिकरू गांव में विकास दूबे के घर को बुलडोजर से जमींदोज करने के मामले में आईजी दफ्तर से स्पष्टीकरण जारी हुआ है। इस लिखित बयान में कहा गया है कि विकास के घर की छत, दीवार और जमीन से भारी मात्रा में गोला-बारूद बरामद हुआ है। इन्हें दीवारों, छत और फर्श पर बने गुप्त स्थानों पर छिपाया गया था। पहले खुदाई करने के कारण भवन असुरक्षित हो गया था। इस कारण चौबेपुर पुलिस ने जेसीबी का इस्तेमाल किया।

Kanpur Shootout: हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे के घर से बरामद हुआ हथियारों का जखीरा



घर की दीवारों में चुनवा रखे थे हथियार

कानपुर रेंज के आईजी मोहित अग्रवाल ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए बताया कि विकास ने घर की दीवारों में हथियार और कारतूस चुनवा रखे थे। आईजी मोहित अग्रवाल ने बताया, ‘विकास दुबे के गिरा दिए घर से पुलिस को हथियार मिले हैं। पुलिस को सूचना मिली थी कि विकास ने घर में हथियार छिपाए हुए हैं। विकास ने हथियार और कारतूस घर की दीवार में चुनवाए थे।’ पुलिस अधिकारी ने यह भी स्पष्ट किया कि इस वारदात में जिस किसी पुलिसकर्मी की संलिप्तता पाई जाएगी, उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा चलेगा।

​भेष बदलने में माहिर है विकास

  • ​भेष बदलने में माहिर है विकास

    विकास दुबे को अब यूपी के सभी 75 जिलों की पुलिस तलाश रही है। एक रात में ही विकास दुबे यूपी का मोस्ट वॉन्टेड अपराधी बन गया है। अपराध की दुनिया में तीन दशक तक वर्चस्व कायम रखने वाले शातिर विकास को पकड़ने में पुलिस को कड़ी मशक्कत करनी पड़ सकती है। जानकारों का कहना है कि विकास मोबाइल का इस्तेमाल नहीं करता है। ऐसे में यदि वह बिना मोबाइल कहीं चला गया तो उसे पकड़ना आसान नहीं होगा। दूसरी आशंका उसके भेष बदलने की है। विकास को जानने वाले कहते हैं कि वह भेष बदल किसी दूसरे प्रदेश में खेतों में मजदूरी या चने बेचने जैसे काम भी कर सकता है।

  • ​हर पार्टी में पहचान, राजनीति में खास रुचि

    विकास दुबे खुद भी राजनीति में सक्रिय था। 2015 में वह नगर पंचायत चुनाव भी जीता। स्थानीय नेता उसको संरक्षण भी देते रहे। एसपी, बीएसपी में रहने के बाद वह बीजेपी के भी आसपास मंडराता रहा था। सूत्रों के मुताबिक, विकास दुबे के नेताओं से लिंक का पता लगाने के लिए सीएम योगी ने निर्देश दिए हैं कि उन सभी नेताओं और अधिकारियों की लिस्ट तैयार की जाए, जो विकास दुबे को संरक्षण दे रहे थे।

  • महंगी कारें, 'किला'... पुलिस ने विकास दुबे का सबकुछ किया जमींदोज
  • ​पार्टी में हर कोई पहुंचता था

    विकास दुबे की शख्सियत इस कदर मशहूर हो रही थी कि हर कोई उसके साथ नजर आना चाहता था। जानकारी के मुताबिक, विकास के घर होने वाली पार्टी में स्थानीय नेता से लेकर बड़े-बड़े सिलेब्रिटी तक पहुंचते थे। स्थानीय अधिकारी, वकील और अन्य प्रतिष्ठित लोग भी विकास की महफिल में शिरकत करते थे। इन्हीं के दम पर विकास दुबे का रौब और बन गया था।

  • ​आखिर कैसे बचता रहा विकास दुबे?

    अब विकास दुबे के मामले से ही समझ लीजिए। थाने में मारे गए संतोष शुक्ला के भाई मनोज शुक्ला कहते हैं कि उनके भाई की हत्या में पुलिस की कमजोर चार्जशीट और पुलिस वालों के बयानों से मुकरने के कारण वह बच निकला था। अब वही विकास पुलिस वालों की मौत का कारण बना। 2005 में वह शुक्ला हत्याकांड से बरी हो गया। तत्कालीन सरकार हाई कोर्ट भी नहीं गई क्योंकि तब उसे बीएसपी का संरक्षण था। स्थानीय लोग बताते हैं कि वह एक प्रिंसिपल की हत्या के मामले में आजीवन कारावास की सजा के कारण जेल में था। आम चुनाव से पहले एक सत्तारूढ़ दल के नेता ने उसे जेल से बाहर निकलवाने में मदद की। वही मदद अब आठ पुलिस वालों की हत्या का कारण बनी।

  • मां ने कहा- मार डालो

    विकास की मां ने कहा, ‘अभी लड़के (पुलिसकर्मी) आए थे, उन्होंने हमें बताया कि विकास ने यह सब कर डाला। विकास को अब मार डालो। दूसरे की आत्मा दुखी की है, अब उसे भी मार देना चाहिए। विकास पहले ऐसा नहीं था। हमने इसे पीपीएन कॉलेज में पढ़ाया था। इसकी नौकरी लग रही थी एयरफोर्स में, फिर नेवी में। इसे गांव वालों और राजनीति ने बर्बाद कर डाला। पहले ये पांच साल जनता पार्टी में रहा क्योंकि हरि किशन उस पार्टी में था। फिर हरिकिशन बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) में आ गए तो यह भी आ गया। फिर यह पांच साल से समाजवादी पार्टी (एसपी) में था।’

  • क्या विकास दुबे के पिता को सच में कुछ नहीं पता?

विकास दुबे पर 1 लाख का इनाम

विकास दुबे की गिरफ्तारी के लिए नोएडा से लेकर नेपाल बॉर्डर तक अलर्ट कर दिया गया है। विकास की गिरफ्तारी के लिए यूपी पुलिस और एसटीएफ की 20 टीमें और तीन हजार से ज्यादा पुलिसकर्मी लगाए गए हैं। नेपाल भागने की आशंका को देखते हुए बॉर्डर से सटे सातों जिलों में विशेष अलर्ट किया गया है। इसके साथ ही विकास के ऊपर इनाम की राशि को बढ़ाकर एक लाख रुपये कर दिया गया है।

जेसीबी मशीनों से गिरा दिया गया विकास दुबे का घर

जेसीबी मशीनों से गिरा दिया गया विकास दुबे का घर

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

दिल्ली, लखनऊ समेत इन शहरों में दौड़ने जा रही मेट्रो, नियमों पर आज बड़ी बैठक, जान लीजिए हर बात

[देश भर में 7 सितंबर से मेट्रो सेवाएं शुरू करने की इजाजत केंद्र सरकार से मिल गई है। गृह मंत्रालय ने अनलॉक 4...

क्या दोस्त बन पाएंगे भारत और चीन? विदेश मंत्री एस जयशंकर ने दिया ये जवाब

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

निलंबित एसओ ने जनेऊ दिखाकर विकास से कहा था, ‘इज्जत रख लो, मारो मत’ .. तब बची थी राहुल तिवारी की जान

[विकास दुबे के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने के बाद राहुल तिवारी को एसओ विनय तिवारी बिकरू गांव लेकर गए थे। वहां, विकास के...

लेह: चीन बॉर्डर पर राजनाथ की हुंकार- हमारी एक इंच जमीन कोई छीन नहीं सकता

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

Railway आइसोलेशन में क्वारंटीन करने वाला पहला राज्य बना यूपी, दिक्कतें भी जानें

[नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 22 Jun 2020, 11:53:25 PM IST कोरोना वायरस (Coronavirus Updates India) से जंग में क्वारंटीन के लिए देशभर में 960...