Home मुख्य समाचार India-China tension: बॉर्डर पर थोड़ी सी शांति लेकिन अभी बरकरार है तनातनी

India-China tension: बॉर्डर पर थोड़ी सी शांति लेकिन अभी बरकरार है तनातनी

[

भारत और चीन के बीच पूर्व लद्दाख में जारी तनाव में मामूली सी कमी देखने को मिली है। यहां मौजूद गलवान घाटी (Galwan Valley) पर जो सैन्य दस्ते तैनात हैं उनमें थोड़ी सी कमी देखने को मिली है। हालांकि अभी भी दोनों देश पूरी तरह यहां से पीछे लौटने को तैयार नहीं हैं।

Edited By Arun Kumar | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

नई दिल्ली

पूर्वी लद्दाख में भारत और चीन के बीच जारी तनाव में थोड़ी सी नरमी देखने को मिली है। दोनों देशों में गलवान घाटी (Galwan Valley) के आसपास लाइन ऑफ एक्चुअल कंट्रोल (LAC) जिन 4 क्षेत्रों में तनातनी बनी है, वहां मौजूद सैन्य दस्तों में मामूली सी कमी आई है। लेकिन अभी भी दोनों देश मोर्चे पर लामबंद हैं और कोई भी पीछे हटने के मूड में नहीं है।

इसी सप्ताह भारत और चीन ने मिलिट्री कमांडर स्तर पर इस मसले को लेकर एक लंबी बातचीत की थी। लेकिन दोनों देशों की सेनाएं यहां से पीछे हटें इसके लिए अभी शायद अभी ऐसी और मीटिंग करनी होंगी। 15 जून को गलवान घाटी में हुए सैन्य संघर्ष के बाद भारत अब इस क्षेत्र से चीन को पीछे करने के लिए और भी सुदृढ़ उपायों पर जोर दे रहा है।

सूत्रों की मानें तो अब इस स्थान को खाली करने की प्रक्रिया में लंबा समय लग सकता है। अगर दोनों देशों की बातचीत ‘सकारात्मक’ रहती है, तब भी सर्दियों तक ही यह इलाका पहले वाली स्थिति में आ पाएगा।

भारत ने अब चीन की सबसे दुखती रग को छेड़ाभारत ने अब चीन की सबसे दुखती रग को छेड़ाचीन को सबक सिखाने के लिए भारत उसे सामरिक और आर्थिक दोनों मोर्चों पर घेर चुका है। नई दिल्ली ने चीन को घेरने के लिए अब कूटनीतिक हथियार भी उठा लिया और अबतक हॉन्ग कॉन्ग में चीन के नए सुरक्षा कानून पर चुप्पी साधने वाले भारत ने इशारों में इस कानून पर सवाल उठाए हैं और दो टूक सुना दिया है।

दोनों देशों के बीच शुरू हुआ यह विवाद अब अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहुंच गया है, जहां पूरी दुनिया की नजर है। चीन का नेतृत्व इसे लेकर सजह है क्योंकि अब वह यहां से पीछे हटता है तो दुनिया भर में यह संदेश जाएगा कि भारत उस पर दबाव बनाने में कामयाब हो गया। भारत सरकार इस मामले में दृढ़ता से अपना पक्ष रख चुकी है कि वह अपनी सीमा में किसी का दखल बर्दाश्त नहीं करेगा और न ही सीमा-सुरक्षा को लेकर वह कोई समझौता करेगा। ऐसे में पीएलए को एलएसी से पीछे हटना ही होगा।

सभी जानते हैं कि चीनी सेना ने पैंगोंग सो में मौजूद पट्रोलिंग वाले इलाके ‘फिंगर 4 से 8’ क्षेत्र में दखल दी है, जिससे यहां विवाद बढ़ा है। इससे पहले भारत के पास संसाधनों की कमी के चलते चीनी सेना के लिए यहां ढील थी।

Web Title india china tension a minor cool off at lac but it still hot(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

हस्तमैथुन से बाल नहीं पकते

मैं 18 साल का हूं। हफ्ते में लगभग 5 बार हस्तमैथुन करता हूं। मेरे बाल तेजी से सफेद हो रहे हैं क्या...

Agriculture ordinance 2020: कृषि विधेयकों पर बुरी फंसी कांग्रेस, राहुल के नेतृत्व में किया था समर्थन, 2013 का वीडियो वायरल

[हाइलाइट्स:अध्यादेशों के समर्थन में कांग्रेस का पुराना वीडियो और ट्वीट वायरलबीजेपी नेता की चुटकी- राहुल गांधी जी! प्लीज इस ट्वीट को डिलीट मत...

Covid-19: देश में रिकवरी रेट हुआ 54.13 प्रतिशत, 24 घंटे में ठीक हुए 9,120 मरीज

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

Sushant Singh Rajput केस में अब यह ‘युवा नेता’ कौन? बीजेपी नेता ने किया संदिग्ध भूमिका का इशारा

[हाइलाइट्स:सुशांत सिंह राजपूत केस में बीजेपी नेता सुरेश नखुआ ने किया इशारा किसी युवा नेता की भूमिका, कहा- सीबीआई के सामने हो सकते...

स्वतंत्रता दिवस 2020: तनाव भुलाकर भारत की आजादी के जश्न में शामिल चीन-नेपाल, दुनियाभर ने दी बधाई

[नई दिल्लीभारत के साथ चल रहे तनाव के बावजूद चीन और नेपाल ने भारत को 74वें स्वतंत्रता दिवस की शुभकामनाएं दी हैं। भारत...