Home मुख्य समाचार एलएसी पर चीन के साथ बढ़ा तनाव, पश्चिमी मोर्चे पर भी सतर्क...

एलएसी पर चीन के साथ बढ़ा तनाव, पश्चिमी मोर्चे पर भी सतर्क हुई भारतीय सेना

[

भारतीय सेना के कमांडो (फाइल फोटो)
– फोटो : indian army website

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

भारत और चीन की सेनाओं के बीच इस समय वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर गतिरोध जारी है। इसी बीच सेना पाकिस्तान की किसी भी नापाक हरकत का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए पश्चिमी मोर्चे पर सतर्क है ताकि दोतरफा संघर्ष को रोका जा सके। यह जानकारी अधिकारियों और चीन पर नजर रखने वाले लोगों ने बुधवार को दी।

पिछले एक दशक में रक्षा संबंधी संसदीय स्थायी समिति द्वारा तैयार की गई रिपोर्टों में बताया गया है कि चीन और पाकिस्तान मिलकर खतरा पैदा कर सकते हैं। भारतीय वायुसेना के एक अधिकारी ने 2014 में समिति को बताया कि यदि चीन भारत के खिलाफ आक्रामक अभियान शुरू करता है तो पाकिस्तान की तरफ से शत्रुता बढ़ने की संभावना है।

अधिकारी ने हालांकि कहा कि यदि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ता है तो चीन भारत के लिए किसी भी तरह का खतरा पैदा नहीं करेगा। इस क्षेत्र में हाल की सैन्य गतिविधियों पर नजर रखने वाले अधिकारियों ने भारत के दो मोर्चों पर युद्ध में शामिल होने की संभावना को बढ़ा दिया है। लेकिन उनका कहना है कि सशस्त्र बल किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए तैयार हैं।

यह भी पढ़ें-लद्दाख: भारतीय सेना का अभिन्न अंग है अमेरिका से खरीदी गईं ये हथियार प्रणालियां

नाम न बताने की शर्त पर एक अधिकारी ने कहा, ‘दोतरफा युद्ध की कोई संभावना नहीं है। लेकिन हमें चीन और पाकिस्तान के संयुक्त खतरे से निपटने के लिए सैन्य रूप से तैयार रहना होगा।’ भारतीय सेना ने चीन और पाकिस्तान के खतरे का वर्णन ‘कंटीनजेंसी-3’ के रूप में किया है। अन्य अधिकारी ने कहा कि कंटीनजेंसी-1 और 2 का मतलब दोनों देशों के अलग-अलग खतरे से है।

उत्तरी सेना के एक पूर्व कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा (सेनानिवृत्त) ने कहा, ‘तीन परमाणु हथियार संपन्न देश एक ही समय में युद्ध में नहीं जा सकते हैं। लेकिन चीन और पाकिस्तान के बीच गहरे सैन्य संबंध हैं। कोई फर्क नहीं पड़ता कि दोतरफा खतरे की संभावना कितनी दूर है, भारतीय सशस्त्र बलों को किसी भी घटना के लिए तैयार रहना चाहिए।’
 

भारत और चीन की सेनाओं के बीच इस समय वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर गतिरोध जारी है। इसी बीच सेना पाकिस्तान की किसी भी नापाक हरकत का मुंहतोड़ जवाब देने के लिए पश्चिमी मोर्चे पर सतर्क है ताकि दोतरफा संघर्ष को रोका जा सके। यह जानकारी अधिकारियों और चीन पर नजर रखने वाले लोगों ने बुधवार को दी।

पिछले एक दशक में रक्षा संबंधी संसदीय स्थायी समिति द्वारा तैयार की गई रिपोर्टों में बताया गया है कि चीन और पाकिस्तान मिलकर खतरा पैदा कर सकते हैं। भारतीय वायुसेना के एक अधिकारी ने 2014 में समिति को बताया कि यदि चीन भारत के खिलाफ आक्रामक अभियान शुरू करता है तो पाकिस्तान की तरफ से शत्रुता बढ़ने की संभावना है।

अधिकारी ने हालांकि कहा कि यदि भारत और पाकिस्तान के बीच तनाव बढ़ता है तो चीन भारत के लिए किसी भी तरह का खतरा पैदा नहीं करेगा। इस क्षेत्र में हाल की सैन्य गतिविधियों पर नजर रखने वाले अधिकारियों ने भारत के दो मोर्चों पर युद्ध में शामिल होने की संभावना को बढ़ा दिया है। लेकिन उनका कहना है कि सशस्त्र बल किसी भी तरह के खतरे से निपटने के लिए तैयार हैं।

यह भी पढ़ें-लद्दाख: भारतीय सेना का अभिन्न अंग है अमेरिका से खरीदी गईं ये हथियार प्रणालियां

नाम न बताने की शर्त पर एक अधिकारी ने कहा, ‘दोतरफा युद्ध की कोई संभावना नहीं है। लेकिन हमें चीन और पाकिस्तान के संयुक्त खतरे से निपटने के लिए सैन्य रूप से तैयार रहना होगा।’ भारतीय सेना ने चीन और पाकिस्तान के खतरे का वर्णन ‘कंटीनजेंसी-3’ के रूप में किया है। अन्य अधिकारी ने कहा कि कंटीनजेंसी-1 और 2 का मतलब दोनों देशों के अलग-अलग खतरे से है।

उत्तरी सेना के एक पूर्व कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल डीएस हुड्डा (सेनानिवृत्त) ने कहा, ‘तीन परमाणु हथियार संपन्न देश एक ही समय में युद्ध में नहीं जा सकते हैं। लेकिन चीन और पाकिस्तान के बीच गहरे सैन्य संबंध हैं। कोई फर्क नहीं पड़ता कि दोतरफा खतरे की संभावना कितनी दूर है, भारतीय सशस्त्र बलों को किसी भी घटना के लिए तैयार रहना चाहिए।’
 

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

UP Unlock 4 guideline: उत्तर प्रदेश में जारी रहेगी वीकेंड बंदी, जान लीजिए ये शर्तें

[हाइलाइट्स:यूपी में वीकेंड पर आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सब बंद रहेगा कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 30 सितंबर तक जारी रहेगाअंतिम संस्कार और शादी...

गलवां घाटी में झड़प के बाद भारतीय नौसेना ने दक्षिण चीन सागर में तैनात किया युद्धपोत

[ पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200 ख़बर सुनें ख़बर सुनें भारत-चीन के बीच...

LIVE Tiddi Dal Attack in Delhi: दिल्ली के महरौली और छतरपुर में टिड्डी दल का प्रवेश, देखें वीडियो

। Tiddi Dal Attack: महेंद्रगढ़, रेवाड़ी और गुरुग्राम के बाद कई किलोमीटर लंबा टिड्डी दल अब दिल्ली के महरौली और छतरपुर में देखा गया...

राजस्थान विधानसभा LIVE: लोकतंत्र पांच सितारा होटल में फल्लित नहीं होगा, राजस्थान के गांव -ढाणी में होगा- राठौड़

[राजस्थान की राजनीति का नया अध्याय शुक्रवार से शुरू होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि जहां आज विधानसभा सत्र आहूत होने को लेकर कांग्रेस उत्साहित...

नेपाल का खास बन उसी को नुकसान पहुंचा रहा चीन, फैसले लेने की क्षमता को कर रहा प्रभावित

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

महाराष्ट्र: बड़ी लापरवाही, 8 दिन तक कोरोना मरीज की लाश अस्पताल के बाथरुम में ही पड़ी रही

[महाराष्ट्र (Coronavirus in Maharashtra) के जलगांव सिविल अस्पताल (Jalgaon Civil Hospital) में बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां कोरोना पॉजिटिव 80 साल की...