Home मुख्य समाचार गलवान घाटी पर भारत-चीन फिर से पूर्व की स्थिति पर लौटने को...

गलवान घाटी पर भारत-चीन फिर से पूर्व की स्थिति पर लौटने को तैयार

[

Edited By Arun Kumar | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

हाइलाइट्स

  • भारत-चीन में हुई सैन्य स्तर की वार्ता, दोनों संघर्ष वाली जगह से पीछे हटने को तैयार
  • पहले भी दोनों देशों में बनी थी सहमति लेकिन चीन ने वार्ता के बाद दिया था धोखा
  • इस बार भारत सतर्क रहकर चीन की हर चाल पर सावधान रहते हुए रखेगा नजर
  • अभी पैंगोंग सो पर नहीं दिखी है कोई स्पष्टता, सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है यह क्षेत्र

रजत पंडित, नई दिल्ली

भारत और चीन (India-China Standoff) एक बार फिर गलवान घाटी (Galwan Valley) और गोगरा हॉट स्प्रिंग (Gogra Hot Springs) पर शांतिपूर्ण हल के लिए तैयार हो गए हैं। दोनों देश पूर्वी लद्दाख के इस इलाके से धीरे-धीरे और प्रमाणिक ढंग से अपनी सेनाएं पीछे हटाएंगे। इससे पहले भी दोनों देशों के बीच हुई सैन्य वार्ता के दौरान पहले की स्थिति पर लौटने की सहमति बनी थी लेकिन तब चीनी सैनिकों द्वारा समझौते का पालन नहीं करने के चलते तनाव बढ़ गया था। इसी के चलते 15 जून को दोनों देशों के सैनिकों में खूनी संघर्ष भी हुआ था।

हालांकि पैंगोंग सो (झील) को लेकर कोई कामयाबी नहीं मिली है, दोनों देशों में इस इलाके को लेकर जो टकराव है उस पर अभी कोई स्थिति साफ दिख रही है। यहां पर पीएलए (चीनी) सैनिकों ने बड़ी संख्या में बंकर बना लिए हैं और इस इलाके की किलेबंदी सी कर दी है। उसके सैनिकों ने फिंगर- 4 से 8 तक अपना कब्जा जमाने के बाद यहां सबसे ऊंची चोटी पर भी अपना कब्जा जमाया हुआ है।

बुधवार को आधिकारिक सूत्रों ने इस बात की जानकारी देते हुए बताया, ‘दोनों पक्ष तेजी के साथ मौजूदा तनाव को कम करना चाहते हैं और यहां से पीछे हटने पर राजी हैं।’ बता दें सैन्य स्तर पर 12 घंटे चली यह मैराथन मीटिंग 6 जून के बाद दोनों देशों की बीच ऐसी तीसरी मीटिंग थी। इस मीटिंग में भारत की ओर से 14 Corps कमांडर लेफ्टिनेंट जनरल हरिंदर सिंह नेतृत्व कर रहे थे, जबकि चीन की तरफ से दक्षिण शिनजियांग मिलिटरी डिस्ट्रिक्ट चीफ मेजर जनरल लुई लिन बातचीत में शामिल हुए।

हालांकि यह एक लंबी चलने वाली प्रक्रिया है, जिसमें अभी कई सारी चीजों को पूर्व रूप में लाना होगा। इस बार भारत चीन के पीछे हटने की हर हरकत पर अतिसावधान रहकर नजर रखेगा। उसे यह देखना होगा कि भारतीय क्षेत्र में घुस आया चीन गलवान घाटी और हॉट स्प्रिंग क्षेत्र में मौजूद पट्रोलिंग पॉइंट (PP) 14, 15 और 17ए को खाली कर रहा है या नहीं। पैंगोंग सो झील के उत्तरी किनारे पर मौजूद यह चोटी सामरिक दृष्टि से महत्वपूर्ण है।

15 जून को पीपी 14 पर चीनी सेना द्वारा निहत्थे भारतीय सैनिकों पर हुए हमले के बाद दोनों देशों के आपसी विश्वास में गहरी कमी आई है। हमले की पूर्व योजना बनाकर बैठे चीन के इस धोखे की बदौलत कर्नल संतोष बाबू समेत 20 भारतीय जवान शहीद हुए थे। इस संघर्ष में चीन को भी बड़ा नुकसान हुआ था हालांकि चीन ने खुद को होने वाले इस बड़े नुकसान की संख्या नहीं बताई है।

एक सूत्र ने बताया, ‘गलवान और हॉट स्प्रिंग से पीछे हटने की बात चीन ने 6 और 22 जून को हुई मीटिंग में भी मानी थी लेकिन पीएलए का यह वादा मैदान पर ठोस रूप में नहीं दिखा। दोनों देशों में पैंगोंग सो को हल ढूंढना भी मुश्किल रहा है, और पीएलए यहां से पीछे हटने की बिल्कुल जल्दबाजी में नहीं है।’

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

BJP नेताओं की हेट स्पीच इग्नोर करने के आरोपों के बाद फेसबुक ने कहा, ‘हमारी पॉलिसी पार्टी नहीं देखती’

[भारत में फेसबुक पर BJP-RSS के नियंत्रण के आरोपों पर कंपनी ने दी सफाई. (प्रतीकात्मक तस्वीर)नई दिल्ली: एक अमेरिकी अखबार में छपी खबर...

Uttarakhand Lockdown: चार जिलों में दो दिन रहेगा पूर्ण लॉकडाउन, जानिए पूरी गाइडलाइन

[ Publish Date:Fri, 17 Jul 2020 11:13 PM (IST) देहरादून, राज्य ब्यूरो। Uttarakhand Lockdown प्रदेश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों ने सरकार को ठिठकने पर...

चीन के हरेक हवाई ठिकाने पर इंडियन एयरफोर्स की नजर, जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार

[Indian Air Force vs China Air Force: भारतीय वायुसेना चीन की हर हरकत पर नजर बनाए हुए है। यही नहीं एयरफोर्स ने चीनी...

‘रिया को कॉल करना भूल गया’, सुशांत सिंह राजपूत की दोस्त का सिद्धार्थ पिठानी को लेकर नया खुलासा

]> स्मिता ने रिया को बचाने का आरोप लगाते हुए कहा, 'पिठानी ने बाद में मुझसे कहा कि वह मुंबई पुलिस की जांच से...

Unlock 4: मेट्रो, बार, स्‍कूल? जानिए अनलॉक 4 में 1 सितंबर से क्‍या-क्‍या खुल सकता है

[कोरोना वायरस के रेकॉर्ड मामलों के बीच भारत अनलॉक 4 (Unlock 4) की तरफ बढ़ रहा है। 1 सितंबर से अनलॉक का चौथा...

अनलॉक-3 : एलजी ने दिल्ली में होटल और साप्ताहिक बाजार खोलने के केजरीवाल सरकार के फैसलों पर लगाई रोक

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link