Home मुख्य समाचार भारत में मॉनसून बढ़ाएगा टिड्डियों का खतरा, अंडे देने किए शुरू

भारत में मॉनसून बढ़ाएगा टिड्डियों का खतरा, अंडे देने किए शुरू

[

गुड़गांव-फरीदाबाद पर टिड्डी अटैक, दिल्ली में आपात बैठक
हाइलाइट्स

  • टिड्डियों का खतरा अभी टला नहीं है और जल्द ही टिड्डियों की संख्या भी बढ़ सकती है
  • बीकानेर में टिड्डियों ने अंडे देना भी शुरू कर दिए हैं जिससे इनके हमले की आशंका बढ़ी
  • एफएओ की ताजा चेतावनी के अनुसार टिड्डियों के कुछ अडल्ट ग्रुप जयपुर में मौजूद हैं

नई दिल्ली

टिड्डियों का खतरा अभी टला नहीं है। जल्द ही मॉनसून की हवाओं के साथ टिड्डियों की संख्या भी बढ़ सकती है। बीकानेर में टिड्डियों ने अंडे देना भी शुरू कर दिए हैं। ऐसे में अगर इन्हे कंट्रोल नहीं किया जाता तो टिड्डियों की संख्या काफी अधिक बढ़ सकती है। एफएओ (फूड एंड एग्रीकल्चर आर्गेनाइजेशन) की ताजा चेतावनी के अनुसार टिड्डियों के कुछ अडल्ट ग्रुप इस समय राजस्थान के पश्चिमी जयपुर में मौजूद हैं।

इसके अलावा पश्चिमी उत्तर प्रदेश में भी यह बढ़ रहा है। मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में भी टिड्डियों के झुंड मौजूद है। चेतावनी जारी की गई है कि हार्न ऑफ अफ्रीका की तरफ से जुलाई के पहले हफ्ते में टिड्डियों के हमले दक्षिणी पश्चिमी मॉनसूनी हवाओं के साथ दिल्ली एनसीआर में भी पहुंच सकते हैं। एलडब्ल्यूओ के डिप्टी डायरेक्टर के एल गुर्जर के अनुसार जैसे ही बारिश शुरू होगी अनुमान है कि टिड्डियों का दल राजस्थान और मध्य प्रदेश से रेगिस्तान में वापस आने लगे।

टिड्डियों ने हरियाली को नुकसान पहुंचाया

उस समय जैसे ही इन्होंने अंडे देना शुरू किए, उनसे टिड्डियां निकलना शुरू हो जाएगी। उस समय इन्हें स्प्रे से कंट्रोल किया जा सकता है। अभी तक बीकानेर में कुछ जगहों पर टिड्डियों की ब्रीडिंग देखी गई है। एफएओ ने भी भारत समेत पाकिस्तान, साउथ सूडान, सूडान आदि देशों के लिए अगले चार हफ्ते का अर्ल्ट जारी किया गया है। टिड्डी चेतावनी संगठन के अनुसार हार्न ऑफ अफ्रीका में टिड्डियों की कई ब्रीडिंग साइकल होते हैं।

इनमें से कुछ टिड्डियां पश्चिमी अफ्रीका की तरफ चली जाती हैं तो कुछ साउदी अरब, ओमान, यमन की तरफ चलती है। यह जुलाई तक भारत पहुंचती हैं। हालांकि अभी तक टिड्डियों ने हरियाली को नुकसान पहुंचाया है अनाज पर इनका असर अधिक नहीं हुआ है, लेकिन अब क्योंकि बिजाई हो गई है ऐसे में फसलों को नुकसान का खतरा भी बढ़ गया है।

दिल्ली पर भी हो सकता है हमला

एक्सपर्ट के अनुसार गुरूग्राम से भले अभी टिड्डियों का रुख हवाओं की वजह से फरीदाबाद की तरफ हो गया है लेकिन आने वाले कुछ दिनों में हवाओं के बदलते ही यह दिल्ली में भी हमला कर सकती हैं। जिसकी वजह ये यहां की हरियाली महज चंद घंटों में चट हो जाएगी। आईएमडी को भी अगले कुछ दिनों तक टिड्डियों पर नजर रखने को कहा गया है ताकि यदि हवाओं के रुख में तबदीली होती है तो टिड्डियों को लेकर अर्ल्ट जारी किया जा सके।

इस बीच उत्तर प्रदेश के कासगंज में टिड्डी दलों का हमला रविवार से शुरु हो गया। सोरों क्षेत्र के गांव महमूदपुर पुख्ता में खेतों पर टिड्डी दल देखकर गांव के युवा और बच्चे थालीपीट कर टिड्डी दल को भगाने में लग गए। कासगंज के बाद बदायूं में टिड्डी दल पहुंच गया है। एक दल फरुर्खाबाद की तरफ चला गया है।

भारत में अभी और हमला कर सकते हैं ट‍िड्डे

भारत में अभी और हमला कर सकते हैं ट‍िड्डे

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Coronavirus Update: दिल्ली में कोरोना विस्फोट, अब मुंबई से भी ज्यादा फैला संक्रमण

[Delhi Mumbai Coronavirus Case जून के शुरूआती हफ्तों से ही दिल्ली में संक्रमण के मामलों में तेजी देखी गई। मई के महीने में...

कैलाश विजयवर्गीय कर रहे हैं शिवराज सरकार को गिराने की कोशिश? बीजेपी नेता का बड़ा आरोप

[Edited By Muneshwar Kumar | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 28 Jun 2020, 06:24:00 PM IST उपचुनाव से पहले पूर्व विधायक ने कैलाश...

Bihar Flood Update: बाढ़ से बिगड़े हालात, जगह-जगह बांध टूटे, सैकड़ों गांवों में घुसा पानी, हजारों विस्‍थापित

[ Publish Date:Thu, 23 Jul 2020 02:44 PM (IST) पटना, जागरण टीम। Bihar Flood Update: बिहार में गंडक व कोसी सहित कई नदियों के...

चीनी सेना ने की पुष्ट‍ि, लद्दाख झड़प के दौरान उसके कमांड‍िंग ऑफिसर की गई जान : सूत्र

[नई दिल्ली: Ladakh Clash: पूर्वी लद्दाख में भारतीय सैनिकों के बीच हिंसक संघर्ष (Ladakh Clash) के करीब एक सप्‍ताह बाद चीन की सेना...

गलवान झड़प के 18 दिन बाद मोदी 11 हजार फीट ऊंची फॉरवर्ड लोकेशन पर पहुंचे; जवानों से बात की, घायल सैनिकों से भी मिलेंगे

[ 15 जून को गलवान में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थेमोदी ने कहा था कि जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी दैनिक भास्करJul...

India-China Border Tension: सीमा पर सुखोई, जगुआर, मिराज लड़ाकू जेट के साथ अपाचे व चिनूक हेलिकाप्टर तैनात

[ Publish Date:Sat, 20 Jun 2020 01:26 AM (IST) संजय मिश्र, नई दिल्ली। लद्दाख की पूर्वी सीमाओं पर चीन के साथ बढ़े तनाव के...