Home मुख्य समाचार चीन के हरेक हवाई ठिकाने पर इंडियन एयरफोर्स की नजर, जवाबी कार्रवाई...

चीन के हरेक हवाई ठिकाने पर इंडियन एयरफोर्स की नजर, जवाबी कार्रवाई के लिए तैयार

[

Indian Air Force vs China Air Force: भारतीय वायुसेना चीन की हर हरकत पर नजर बनाए हुए है। यही नहीं एयरफोर्स ने चीनी चुनौती से न‍िपटने के ल‍िए वास्‍तविक न‍ियंत्रण रेखा से लगे इलाकों में अपने फाइटर जेट को तैनात कर द‍िया है।

Edited By Shailesh Shukla | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

पैंगोंग झील के किनारे चीन की मोर्चेबंदी, अब बनाया हेलिपैड
हाइलाइट्स

  • चीन के तिब्‍बत और शिन‍जियांग प्रांत में स्थित हवाई ठिकानों पर भारतीय वायुसेना की नजर
  • इन ठिकानों पर चीनी वायुसेना ने फाइटर जेट, बमवर्षक विमान, ड्रोन और अन्‍य विमान तैनात किए
  • चीन के किसी नापाक हरकत का जोरदार जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना पूरी तरह से तैयार है
  • सूत्रों के मुताबिक चीन के इन एयरबेस पर ‘किसी भी नए या बड़े हथियार की तैनाती नहीं’ हुई

रजत पंड‍ित, नई दिल्‍ली

लद्दाख में चल रहे सैन्‍य तनाव के बीच भारतीय वायुसेना चीन के तिब्‍बत और शिन‍जियांग प्रांत में स्थित हवाई ठिकानों पर नजदीकी से नजरें गड़ाए हुए है। इन ठिकानों पर चीनी वायुसेना ने तनाव को देखते हुए फाइटर जेट, बमवर्षक विमान, ड्रोन और अन्‍य विमान तैनात किए हैं। उधर, चीन के किसी भी नापाक हरकत का जोरदार जवाब देने के लिए भारतीय वायुसेना भी पूरी तरह से तैयार है।

रक्षा सूत्रों ने बताया कि चीनी एयरफोर्स के शिनजियांग स्थित होटान और काशगर, तिब्‍बत में गरगुंसा, ल्‍हासा-गोंग्‍गर और शिगत्‍से एयरबेस पर ‘किसी भी नए या बड़े हथियार की तैनाती नहीं’ हुई है। इन एयरबेस में से कुछ नागरिक हवाई अड्डे के रूप में काम करते हैं। इसके बाद भी भारतीय सेना और वायुसेना ने चीन से लगी 3488 किलोमीटर लंबी सीमा पर अपनी ‘पूरी लड़ाकू क्षमता’ के मुताबिक तैनाती की है।

जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइलें तैनात

उन्‍होंने बताया कि किसी भी हवाई खतरे का जवाब देने के लिए जमीन से हवा में मार करने वाली मिसाइलों और सैन्‍य साजो सामान को भी सीमा पर तैनात किया गया है। भारत ने लद्दाख में अपने अग्रिम हवाई ठिकाने पर सुखोई-30एमकेआई, मिग-29 और जगुआर बमवर्षक विमानों को तैनात किया है। सूत्रों ने कहा कि चीनी वायुसेना के पास भारत की तुलना में चार गुना ज्‍यादा (2100) फाइटर जेट और बमवर्षक विमान हैं लेकिन महत्‍वपूर्ण बात यह है कि परंपरागत सैन्‍य टकराव होने पर ड्रैगन कितने विमानों को हमारे खिलाफ तैनात करेगा।

वर्तमान समय में होटान एयरबेस पर 35 से 40 जे-11, J-8 और अन्‍य फाइटर जेट को तैनात किए हैं। इसके अलावा कुछ निगरानी करने वाले अवाक्‍स व‍िमान और हथियारबंद ड्रोन विमान भी तैनात किए हैं। वहीं काशगर में चीन ने 6 से लेकर 8 H-6K बमवर्षक विमानों को तैनात किया है। एक सूत्र ने कहा, ‘चीन के जमीनी सैनिकों को कमजोर करने के लिए भारतीय वायुसेना चीनी वायुसेना की तुलना में ज्‍यादा तेजी से और ज्‍यादा मात्रा में फाइटर जेट तैनात कर सकती है।’

भारतीय वायुसेना के पास रणनीतिक बढ़त

सूत्र ने कहा कि चीन और पाकिस्‍तान की संयुक्‍त चुनौती से निपटने के लिए भारतीय वायुसेना भले ही कम विमानों की चुनौती से जूझ रही हो लेकिन उसे चीनी वायुसेना पर गुणवत्‍ता के ल‍िहाज से बढ़त हासिल है। इसके अलावा भारतीय वायुसेना में जल्‍द ही 36 नए राफेल लड़ाकू विमान शामिल होने जा रहे हैं। उधर, पीएलए के एयरफोर्स को ऊंचाई वाले इलाकों की वजह से क्षेत्र का भी नुकसान उठाना पड़ रहा है। इससे उनकी हथियार और ईंधन ले जाने की क्षमता पर बहुत बुरा असर पड़ता है।

भारतीय वायुसेना ने तैनात क‍िए फाइटर जेट

भारतीय वायुसेना ने तैनात क‍िए फाइटर जेट

Web Title india china face off indian air force eyeing every air base in china ready for retaliation(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

बिहार के 14 जिलों में बाढ़ का प्रकोप, लगभग 50 लाख आबादी प्रभावित

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

Corona Vaccine: पुणे के सीरम इंस्टिट्यूट ने किया सबसे पहले और बड़ी मात्रा में वैक्सीन बनाने का दावा

[Edited By Aishwary Rai | इकनॉमिकटाइम्स.कॉम | Updated: 02 Aug 2020, 12:43:00 PM IST सबसे पहले किसी मिलेगी कोरोना वैक्सीन, पहला...

सुप्रीम कोर्ट में तब्लीगी जमातियों पर अहम सुनवाई, जानें क्या होता है ब्लैकलिस्ट करना

[ न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Mon, 29 Jun 2020 02:43 PM IST सुप्रीम कोर्ट (फाइल फोटो) - फोटो : सोशल मीडिया पढ़ें अमर उजाला...

भारत में COVID-19 वैक्सीन की क्या कीमत होगी? कंपनियों ने दी एक्सपर्ट पैनल को सभी जानकारी, आप भी पढ़ें

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

सचिन पायलट बोले- ‘कहा सुना माफ, मामला सुलझ गया है’, भविष्य पर नहीं खोले पत्ते

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

पूर्वी लद्दाख में गलवान समेत तीन जगहों से भारत और चीन की सेनाएं पीछे हटीं

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link