Home मुख्य समाचार देश में कोरोना के 1 लाख मामले पहुंचने में 110 दिन लगे,...

देश में कोरोना के 1 लाख मामले पहुंचने में 110 दिन लगे, लेकिन 5 लाख पार करने में सिर्फ 39 दिन

[

देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों की संख्या एक लाख पहुंचने में 110 दिन लगे, जबकि पांच लाख का आंकड़ा पार करने में केवल 39 दिन और लगे। चिकित्सा विशेषज्ञों ने हाल में कोविड-19 के मामलों की संख्या में इतनी वृद्धि के लिए बड़े पैमाने और उचित दर पर उपलब्ध जांच की ओर इशारा किया। केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के आंकड़े के अनुसार चार लाख मामले दर्ज होने के छह दिन बाद देश में कोविड-19 के मामलों की संख्या पांच लाख के पार पहुंच गई है।

आंकड़ों के अनुसार, शनिवार को कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में सर्वाधिक 18,552 नए मामले सामने के बाद, संक्रमित लोगों की कुल संख्या पांच लाख से अधिक हो गई तथा मृतकों की संख्या 15685 हो गई है। मंत्रालय के सुबह आठ बजे तक के अद्यतन आंकड़ों के अनुसार, देश में कोविड-19 के मामलों की कुल संख्या 5,08,953 हो गई है जबकि पिछले 24 घंटे में 384 और लोगों की जान गई है।

यह लगातार चौथा दिन है, जब संक्रमण के 15000 से अधिक मामले प्रतिदिन सामने आए हैं। देश में एक जून से 27 जून तक 318418 नए मामले सामने आए हैं। देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले एक लाख तक पहुंचने में 110 दिन का समय लगा जबकि 27 जून को पांच लाख का आंकड़ा छूने में मात्र 39 और दिन लगे।

देश में 100 मामलों से (19 मई) को एक लाख का आंकड़ा पहुंचने में 64 दिन लगे थे जबकि तीन जून को संक्रमितों की संख्या दो लाख के पार पहुंच गई थी। कोविड-19 के मामलों की संख्या तीन लाख पार होने में 10 दिन लगे तथा चार लाख पहुंचने में और आठ दिन लगे। कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए पहली बार राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन 21 दिन के लिए 25 मार्च को लगाया गया था। बाद में लॉकडाउन की अवधि तीन मई तक और इसके बाद फिर 17 मई तक बढ़ाई गई। बाद में फिर इसे 31 मई तक बढ़ा दिया गया।

यह भी पढ़ें- दिल्ली में कोरोना के 2948 नए केस, संक्रमितों की संख्या 80 हजार के पार

देशभर में अब लॉकडाउन केवल निरूद्ध क्षेत्रों तक ही सीमित है। केन्द्रीय गृह मंत्रालय के अनलॉक 1 के तहत सामाजिक, आर्थिक, धार्मिक और खेल गतिविधियों की अब अनुमति है। इंटरनल मेडिसिन, मैक्स हेल्थकेयर, की निदेशक डा. मोनिका महाजन ने कहा कि मामलों में तेजी से वृद्धि का कारण समझना महत्वपूर्ण है। डा. महाजन ने ‘पीटीआई-भाषा से कहा कि मामलों की संख्या दोगुनी होने के लिए कई कारक हैं। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन नियमों को हटाए जाने के बाद लोगों के व्यवहार में फिर से बदलाव आया है क्योंकि वे सामाजिक दूरी बनाये रखने के सिलसिले में जिम्मेदारी से काम नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने कहा कि जांच कराए जाने की शुल्क दर कम हुई है और जांच किट अब बड़ी आसानी से उपलब्ध है इसलिए अधिक मामले सामने आ रहे है। शहर के एक सर्जन डा अरविंद कुमार ने कहा कि निश्चित रूप से मामलों की बढ़ती संख्या का एक बड़ा कारण तेजी से बढ़ती जांच भी है। भारतीय आयुर्विज्ञान अनुसंधान परिषद (आईसीएमआर) के अनुसार 26 जून तक कुल 7996707 नमूनों की जांच की गई, जिनमें से शुक्रवार को एक दिन में सर्वाधिक 220479 नमूनों की जांच की गई।

देश में कोरोना वायरस का पहला मामला 30 जनवरी को केरल में सामने आया था। इस समय 197387 मरीजों का इलाज चल रहा है जबकि 295880 लोग स्वस्थ हो गए हैं। एक अधिकारी ने बताया, लगभग 58.13 प्रतिशत मरीज अब तक स्वस्थ हुए है। अमेरिका, ब्राजील और रूस के बाद भारत इस महामारी से सबसे अधिक प्रभावित चौथा देश है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Coronavirus Update: दिल्ली में कोरोना विस्फोट, अब मुंबई से भी ज्यादा फैला संक्रमण

[Delhi Mumbai Coronavirus Case जून के शुरूआती हफ्तों से ही दिल्ली में संक्रमण के मामलों में तेजी देखी गई। मई के महीने में...

कोरोना क्या है, कोरोना की स्टेज क्या होती हैं? बारीकी से समझिए

(नीचे नाम एवं पद काल्पनिक है) पहली स्टेज 1⃣ विदेश से दिनेश आया। एयरपोर्ट...

पीरियड्स के दौरान सेक्स करना सही रहेगा?

हाल ही में मेरी शादी हुई है। मैं जानना चाहता हूं कि क्या पीरियड्स के दौरान सेक्स करना सही रहेगा? क्या इससे...

पीएम मोदी के ‘मुफ्त राशन’ वाले कदम और बिहार की छठ पूजा का संदर्भ, समझिए इसके मायने

[छठ पूजा बिहार के सबसे महत्वपूर्ण त्योहारों में से एक है, जहां इस साल के अंत में, नवंबर के आसपास चुनाव होने हैं....

दिल्ली में कंटेनमेंट जोन नए सिरे से तय होंगे, 20 हजार लोगों का सिरोलॉजिकल सर्वे भी होगा

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

मातोश्री में उद्धव ठाकरे से मिले सोनू सूद, बोले- जबतक आखिरी प्रवासी घर नहीं पहुंच जाता, मैं मदद करता रहूंगा

[Edited By Ram Shankar | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 08 Jun 2020, 12:20:00 AM IST शिवसेना ने साधा सोनू सूद पर निशाना,...