Home मुख्य समाचार ध्यान भटकाने की कोशिश है डेपसांग में तैनाती? चीन की असल प्लानिंग...

ध्यान भटकाने की कोशिश है डेपसांग में तैनाती? चीन की असल प्लानिंग कुछ और

[

Edited By Vishnu Rawal | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated:

अमेरिकी फौज एशिया रवाना, क्या नेहरू-केनेडी से दो कदम आगे बढ़ेगी ट्रंप-मोदी की जोड़ी ?
हाइलाइट्स

  • लद्दाख में चीन अपनी चालबाजियों से बाज नहीं आ रहा
  • गलवान में सैनिक हटाने को वह तैयार, लेकिन अबतक नहीं हटाए
  • दूसरी तरफ चीन ने डेपसांग में सैनिक तैनात कर दिए हैं
  • एक्सपर्ट मानते हैं कि इसके पीछे चीन की चाल हो सकती है

नई दिल्ली

भारत और चीन के बीच लद्दाख में जो कुछ हो रहा उसपर इन दिनों सबकी नजर है। दोनों देशों के बीच हिंसक झड़प हुई और फिर बातचीत का दौर भी शुरू हो गया। लेकिन एक्सपर्ट साफ देख रहे हैं कि चीन ऐसे बाज आनेवाला नहीं है। दरअसल ऊपर से यह सिर्फ बॉर्डर विवाद जैसा दिख रहा हो लेकिन इसके पीछे चीन की बड़ी प्लानिंग है। और अपनी इस प्लानिंग को पूरा करने के लिए चीन फिर ऐसी कोशिश करता रहेगा।

पढ़ें- चीन की नई करतूत, ‘Y-नाला’ का रास्ता रोका

इस सबके पीछे वजह चीनी राष्ट्रपति शी चिनपिंग की बड़ी योजना बेल्ट ऐंड रोड है। यह शिनजियांग से काराकोरम पास, फिर सियाचिन से होते हुए पाकिस्तान और बलूचिस्तान तक पहुंचेगा। चीन चाहता है कि पूरी गलवान घाटी उसकी हो जाए जिससे उसके इस रूट को कोई खतरा न रहे। एक्सपर्ट मानते हैं कि चीनी सैनिक भले अभी गलवान घाटी से वापस जाने को राजी हों, लेकिन वह फिर वापस जरूर आएंगे।

अमेरिका का दावा, चीन ने 15 जून को ही बना लिया था भारतीय सैनिकों पर हमले का प्लानअमेरिका का दावा, चीन ने 15 जून को ही बना लिया था भारतीय सैनिकों पर हमले का प्लानअमेरिकी की खुफिया रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों पर हुए हमले के पीछे चीन के क्रूर जनरल झाओ जोंगकी का हाथ था। यह वही जनरल है जो चीनी राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग का बेहद करीबी है। इतना ही नहीं अमेरिका ने यह भी दावा किया है की इस हमले का प्लान 15 जून को ही तैयार कर लिया गया था।

तो क्या ध्यान हटाने की कोशिश है डेपसांग में तैनाती?

एक्सपर्ट यह भी मानते हैं कि गलवान घाटी पर पूरी तरह कब्जा करने के लिए चीन ने बड़ी प्लानिंग की है। गुरुवार को खबर आई थी कि चीन गलवान से सैनिक हटाने को राजी है लेकिन उसने डेपसांग में PLA की तैनाती कर दी है। डेपसांग काराकोरम और भारतीय हवाई पट्टी के पास है। एक्सपर्ट मानते हैं कि यह ध्यान भटकाने की कोशिश का हिस्सा हो सकता है। कि भारत अगर सैनिकों की तैनाती गलवान से ज्यादा डेपसांग में कर दे तो गलवान में वह जमीन कब्जाने की कोशिश कर सकता है।

डेपसांग सामरिक तौर पर इसलिए अहम है कि यह भारत के दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) एयरस्ट्रिप के करीब है। यहां से काराकोरम पास भी लगभग 30 किलोमीटर दूर है। भारतीय सेना ने यहां पहले ही बड़ी संख्या में सैनिकों की तैनाती की है। यहां पर भारतीय फौज एलएसी के काफी करीब है। पूरे एलएसी में दोनों तरफ से सैनिकों की तैनाती लगातार बढ़ रही है।

दौलत बेग ओल्डी (डीबीओ) ने बढ़ाई चीन की चिंता

डेपसांग के पास चीनी सेना की तैनाती उसका डर भी दिखाती है। दरअसल, इसकी मदद से भारत चीन के किसी भी हमले का सामना करने को तैयार हो गया है। क्योंकि इसने लेह से सेना की पहुंच आसान कर दी है। चीन को यह भी डर है कि डीबीओ की वजह से भारत की पहुंच शिनजियांग तक हो सकती है।

ध्यान भटकाने की कोशिश है डेपसांग में तैनाती? चीन की असल प्लानिंग कुछ और

ध्यान भटकाने की कोशिश है डेपसांग में तैनाती? चीन की असल प्लानिंग कुछ और

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

CBSE 10th 12th Exams 2020 : शेष परीक्षाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, सीबीएसई बताएगा अपना फैसला

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

विकास दुबे के साथ वायरल तस्वीर पर बोले बीजेपी सांसद देवेंद्र सिंह भोले, ‘जिसे जो दिखाना है दिखाए’

[कानपुर (Kanpur Encounter) में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या करने वाले अपराधी विकास दुबे (Vikas Dubey) की एक पुरानी तस्वीर सामने आई है जिसमें...

कानपुर एनकाउंटर: विकास दुबे को थाने से मिली थी मुखबिरी? एसओ से पूछताछ

[Edited By Shefali Srivastava | नवभारत टाइम्स | Updated: 04 Jul 2020, 08:59:00 AM IST Kanpur Police Encounter: विकास दूबे के...

‘Remove China Apps’ crosses 1 million downloads as anti-China sentiment gains momentum

The political tensions between India and China have risen over the past few weeks due to border-related issues, resulting in anti-China sentiment...

सुशांत सिंह राजपूत केस की जांच को मुंबई पहुंची CBI की टीम, BMC बोली- नहीं करेंगे क्वारंटाइन

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

Sushant Case Updates: पड़ोसी का खुलासा, साढ़े 5 घंटे की तफ्तीश जानिए सुशांत केस में दिन भर की 5 बड़ी बातें

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...