Home मुख्य समाचार दिल्ली ने चीन को दिया बहुत बड़ा झटका, दुश्मन देश ने ऐसा...

दिल्ली ने चीन को दिया बहुत बड़ा झटका, दुश्मन देश ने ऐसा सपने में भी नहीं सोचा होगा

[

नई दिल्ली: कनफेडेरशन ऑफ आल इंडिया ट्रेडर्स (कैट) के चीनी सामान बहिष्कार की मांग पर आज दिल्ली के बजट होटलों  के संगठन दिल्ली होटल एन्ड गेस्ट हाउस ओनर्स एसोसिएशन (धुर्वा)  ने एक बड़ा फैसला लिया है. चीन की नापाक हरकतों को देखते हुए यह निर्णय लिया गया है कि दिल्ली के होटल तथा गेस्ट हाउस में अब से किसी भी चीनी व्यक्ति को ठहराया नहीं जाएगा. दिल्ली में लगभग 3000 बजट होटल और गेस्ट हाउस हैं जिनमें लगभग 75 हजार कमरे हैं.

दिल्ली होटल एवं गेस्ट हाउस ओनर्स एसोसियशन के महामंत्री श्री महेंद्र गुप्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि चीन जिस प्रकार से भारत के साथ व्यवहार कर रहा है और उसने जिस तरीके से भारीतय सैनिकों की नृशंस हत्या की है, उस कारण से दिल्ली के सभी होटल व्यवसायिओं में बेहद गुस्सा है. ऐसे समय में जब कैट ने देश भर में चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का अभियान चलाया है, उसमें दिल्ली के होटल और गेस्ट हाउस व्यवसायी बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेंगे. इसे ही देखते हुए हमने यह फैसला किया है कि अब से दिल्ली के किसी भी बजट होटल अथवा गेस्ट हाउस में किसी भी चीनी व्यक्ति को ठहराया नहीं जाएगा.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार ने लिए हैं 5 अहम फैसले, करोड़ों भारतीयों को मिलेगा जबर्दस्त फायदा

कैट के राष्ट्रीय महामंत्री श्री प्रवीन खंडेलवाल ने इस फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि इससे यह स्पष्ट है कि कैट द्वारा शुरू किया गया चीनी वस्तुओं के बहिष्कार की मांग से देश के विभिन्न वर्गों के लोग जुड़ रहे हैं. उन्होंने कहा कि इसी सिलसिले में कैट अब ट्रांसपोर्ट, किसान, हॉकर्स, लघु उद्योग, उपभोक्ता स्वयं उद्यमी, महिला उद्यमी के राष्ट्रीय संगठनों से संपर्क कर उन्हें भी इस अभियान से जोड़ेगा.

ये भी देखें-

वहीं, दूसरी ओर कैट देश के मीडिया वर्ग, प्राइवेट संस्थानों के अधिकारी एवं कर्मचारी, शिक्षक वर्ग, आईएइस एवं आईपीएस अधिकारी, आईआरएस, इंडियन फॉरेस्ट सर्विस के अधिकारी, सरकारी कर्मचारी, धर्मगुरु, मोटिवेशनल स्पीकर्स, सेवानिवृत जज एवं न्यायिक अधिकारी, चार्टर्ड अकाउंटेंट, कम्पनी सेक्रेटरी, सेवानिवृत अधिकारी, सेनाओं के सेवानिवृत अधिकारी, देश भर में काम कर रहे पुलिसकर्मी, सेवानिवृत पुलिसकर्मी, सीआरपीएफ, आईटीबीपी जैसी पैरा मिलिट्री फोर्स के कार्यरत एवं सेवानिवृत अधिकारी, रेजिडेंट वेलफेयर एसोसियशन एवं अन्य अनेक वर्गों के संगठनों से संपर्क कर उन्हें भी इस अभियान से जोड़ेगा. ‘भारतीय सामान-हमारा अभिमान’ के राष्ट्रीय अभियान के अंतर्गत चीनी वस्तुओं के बहिष्कार के अभियान को और तेजी के साथ देश भर में चलाएगा.

उन्होंने कहा कि इस बार चीन को सबक सिखाने में भारत के लोग दृढ़ संकल्प से जुड़ेंगे और दिसंबर 2021 तक चीन से आयात होने वाले सामान में 1 लाख करोड़ रुपये की कमी करेंगे और वो 1 लाख करोड़ रूपये भारत की अर्थव्यवस्था में लगेगा.

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

सहवास करते वक्त जल्दी थक जाता हूं, क्या करूं?

सवाल: उम्र 45 साल है। वजन बहुत बढ़ा हुआ है। सहवास करते वक्त मैं जल्दी थक जाता हूं। सांस फूलने लगती है।...

पति पेनिट्रेशन से पहले अपने लिंग पर नारियल तेल लगाते हैं, क्या यह सुरक्षित है?

समस्या - मैं 25 साल की शादीशुदा महिला हूं। पिछले काफी समय से गर्भधारण करने की कोशिश कर रही हूं। मेरे पति...

Corona cases in India: न्यूयॉर्क जैसा हो सकता है दिल्ली-मुंबई का हाल: विशेषज्ञ

[फाइल फोटोहाइलाइट्सदेश में तेजी से बढ़ रही है कोरोना संक्रमितों की संख्यादिल्ली, मुंबई और अहमदाबाद में कहर ढा रहा है कोरोनादुनिया में सबसे...

गलवान घाटी में 100 भारतीय जांबाजों से पस्त हुए 350 चीनी सैनिक

[ भारतीय सैनिकों ने 15 जून की शाम को जिस जांबाजी से चीनी सेना के जवानों को लद्दाख की गलवान घाटी से हटाने का...

पीएम मोदी ने वैक्सीन वितरण की कार्ययोजना तैयार करने का दिया निर्देश, जानिए किसको दी जाएगी प्राथमिकता

[ Publish Date:Wed, 01 Jul 2020 02:28 AM (IST) नई दिल्ली, जागरण ब्यूरो। कोरोना के वैक्सीन के जल्द ही उपलब्ध होने की संभावना को...