Home मुख्य समाचार बिना लाइसेंस रामदेव ने लॉन्च की कोरोना की दवा, मिला सरकारी नोटिस,...

बिना लाइसेंस रामदेव ने लॉन्च की कोरोना की दवा, मिला सरकारी नोटिस, कहा- क़ानून तोड़ रहे हैं, पढ़िए पूरा पत्र

[

योगगुरु और Patanjali Ayurved Limited के सर्वेसर्वा स्वामी रामदेव ने COVID-19 की दवा Coronil लाने का दावा किया है। कहा जा रहा है कि यह दवाई बगैर लाइसेंस लॉन्च की गई है, जिसे लेकर उनके समूह की दो कंपनियों को नोटिस थमाया गया है। उत्तराखंड के देहरादून में आयुर्वेदिक और यूनानी सेवा में लाइसेंस अधिकारी की ओर से 24 जून को जारी यह पत्र ‘मेसर्स दिव्य फार्मेसी’ (औद्योगिक क्षेत्र, हरिद्वार) और ‘मेसर्स दिव्य फार्मेसी यूनिट-2’ (लक्सर रोड, ग्राम पदार्था, हरिद्वार) को भेजकर कहा गया है कि आप लोग कानून तोड़ रहे हैं।

पतंजलि योगपीठ द्वारा कोरोनावायरस के लिए Coronil और Shwashari Vati से जुड़े दावों का प्रचार-प्रसार करने को लेकर लाइसेंसिंग अधिकारी की ओर से कहा गया- आपके द्वारा बनाई जा रही दवाएं- दिव्य स्वसरी वटी और दिव्य कोरोनिल टैबलेट के साथ अणुतेल सहित किट तैयार करते हुए उक्त किट को ‘कोरोना किट’ का नाम दिया गया है। इन दवाओं से कोरोना का इलाज हो सकता है- इस बात का प्रचार प्रसार मीडिया में किए जाने को लेकर हमें शिकायत मिली है।

Coronavirus in India LIVE Updates in Hindi

लेटर के मुताबिक, “बता दें कि निदेशालय के दो पत्रों में आपको उक्त दवाइयों को बनाने की अनुमति दी गई है, जिसमें दिव्य स्वसरी वटी का इस्तेमाल खांसी और बुखार (खास व श्वास) के लिए और दिव्य कोरोनिल टैबलेट का उपयोग इम्युनिटी बूस्टर के लिए बताया गया। खासकर सांस संबंधी संक्रमण और हर किस्म के बुखार के लिए। हमने इसी संदर्भ में इलाज के लिए दवाओं के निर्माण की आज्ञा दी। पर कोरोना के उपचार का इसमें कोई उल्लेख ही नहीं है। साथ ही ये भी बता दें कि तथाकथित कोरोना किट के बारे में लाइसेंसिंग अधिकारी द्वारा कोई अनुमोदन प्रदान नहीं किया गया है।”

रामदेव, आचार्य बालकृष्ण के खिलाफ बिहार में शिकायत, कोरोना की दवा के दावे पर राजस्थान में भी कंप्लेंट; बोली सरकार- ये फ्रॉड है

चिट्ठी में आगे कहा गया- आपके द्वारा दिव्य कोरोनिल टैबलेट के लेबल पर कोरोना वायरस का फोटो दर्शाया गया है। इस तरह आप लोग ड्रग और मैजिक रेमेडीज एक्ट 1954 और ड्रग व कॉस्मेटिक एक्ट 1940 के नियम 170 और नियम 161 का स्पष्ट तौर पर उल्लंघन कर रहे हैं। यह रहीं पत्र की प्रतियांः

Coronavirus Vaccine, Medicine Latest Updates

लेटर में आगे दो टूक ‘मेसर्स दिव्य फार्मेसी’ और ‘मेसर्स दिव्य फार्मेसी यूनिट-2’ कहा- ऐसे में आप साफ करें कि किन हालात में आप की तरफ से दिव्य कोरोनिल टैबलेट और दिव्य स्वसरी वटी और कोरोना किट का भ्रामक प्रचार प्रसार मीडिया में किया जा रहा है? ऐसा करने के लिए आप को क्यों न आपको प्रदत्त संबंधित दवाइयों को बनाने की मिली अनुमित रद्द करने की कार्रवाई की जाए।

खत में आगे कहा गया- आपको निर्देशित किया जाता है कि अपनी सफाई हफ्ते भर के अंदर अनिवार्य रूप से उपलब्ध कराएं और दिव्य कोरोनिल टैबलेट और दिव्य स्वसरी वटी के साथ कोरोना किट के भ्रामक प्रसारण को तत्काल मीडिया से हटवाएं। उक्त लेबल क्लेम को भी संशोधित कराना सुनिश्चित करा लें। बिना किसी भी अनुमोदित योग के मीडिया में प्रसारण की कार्रवाई न की जाए वरना आपके खिलाफ संबंधित धाराओं और नियमों के तहत ऐक्शन लिया जाएगा, जिसके पूरी तौर पर आप लोग ही जिम्मेदार होंगे।

हालांकि, केंद्रीय मंत्री श्रीपद नाइक ने बुधवार को कहा कि पतंजलि आयुर्वेद ने कंपनी की उस औषधि के बारे में अपनी रिपोर्ट आयुष मंत्रालय को सौंप दी है जो उसने इस दावे के साथ पेश की है कि इससे सात दिन में कोरोना वायरस का इलाज किया जा सकता है। आयुष मंत्री ने कहा कि मंत्रालय रिपोर्ट पर गौर करेगा और उसके बाद कंपनी को औषधि के बारे में अंतिम अनुमति देने पर निर्णय करेगा। नाइक नयी दिल्ली से फोन पर पीटीआई से बात कर रहे थे।

वैसे, एक दिन पहले नाइक के मंत्रालय ने पतंजलि आयुर्वेद से कहा था कि वह इस औषधि में मौजूद विभिन्न जड़ी-बूटियों की मात्रा एवं अन्य ब्योरा यथाशीघ्र उपलब्ध कराये। मंत्रालय ने साथ ही कंपनी को इस विषय की जांच-पड़ताल होने तक इस उत्पाद का प्रचार भी बंद करने का आदेश दिया था। उन्होंने कहा, ‘‘बाबा रामदेव ने एक नयी औषधि बनायी है। उन्होंने जो भी अनुसंधान किया है वह प्रमाणन के लिए आयुष मंत्रालय में आना चाहिए।’’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। में रुचि है तो



सबसे ज्‍यादा पढ़ी गई


Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Rajasthan Political Crisis LIVE: अपने विधायकों को होटल से जैसलमेर ले चले गहलोत

[Edited By Ruchir Shukla | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 31 Jul 2020, 01:33:00 PM IST हाइलाइट्सराजस्थान में जारी सियासी घमासान के बीच...

लेटर बम: इंदिरा का सहारा ले बोले गुलाम नबी आजाद- यह कोई स्टेट सीक्रेट नहीं

[हाइलाइट्स:जो भी कांग्रेस का हित चाहता है वह उनके 'असहमति पत्र' का स्वागत करेगा: आजादआजाद का जोर, कांग्रेस में हर राज्य और जिले...

Best Credit Cards In India for 2020

In this post, we are going to talk about the Best Credit Cards In India In this post, we...

PM Modi के इस चुनावी ‘अस्त्र’ के आस्ट्रेलियाई पीएम भी हुए मुरीद, लेकिन विपक्ष बिहार चुनाव को लेकर कितना तैयार

[PM Modi ने साल 2014 में होलोग्राम तकनीक का इस्तेमाल कर की थीं रैलियांनई दिल्ली : पीएम  नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने होलोग्राम तकनीकी का...

सुशांत सिंह राजपूत के बीमार होने पर भी पार्टी करती थीं रिया चक्रवर्ती, ड्राइवर ने खोले कई राज?

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

Delhi Earthquake: दिल्‍ली में फिर आया भूकंप, पिछले दो महीने में 14वीं बार लगे झटके

[Delhi earthquake news today: दिल्‍ली-एनसीआर में पिछले दो महीने के भीतर 14वीं बार भूकंप के झटके महसूस किए गए हैं। बार-बार ऐसा होना...