Home मुख्य समाचार India-China Diplomatic Talk: LAC पर तनाव कम करने के लिए भारत, चीन...

India-China Diplomatic Talk: LAC पर तनाव कम करने के लिए भारत, चीन के बीच हुई कूटनीतिक बातचीत

[

Edited By Vineet Tripathi | पीटीआई | Updated:

चीन ने अब नेपाली जमीन पर किया कब्‍जा, ड्रैगन से डरने लगा नेपाल
हाइलाइट्स

  • भारत-चीन के बीच बढ़ते तनाव को कम करने के लिए बातचीत
  • दोनों देशों के बीच पहली बार हुई कूटनीतिक बातचीत
  • विदेश मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी ने की अपने समकक्ष से चर्चा

नई दिल्ली

भारत और चीन के बीच 5 मई के बाद से ही तनावपूर्ण माहौल बना हुआ है। तनाव कम करने के लिए लगातार सैन्य बैठके हो रही हैं लेकिन फिलहाल अभी तक कोई ठोस सुधार होता नहीं दिखा। अब पहली बार दोनों देशों के बीच कूटनीतिक चर्चा हुई है। चर्चा के बाद विदेश मंत्रालय का बयान सामने आ गया है। विदेश मंत्रालय ने बताया कि बातचीत के दौरान इस बात पर जोर दिया गया कि भारत-चीन दोनों को वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line Of Actual Control) का कड़ाई से सम्मान और निगरानी करनी चाहिए।

15 जून को हिंसक संघर्ष

विदेश मंत्रालय ने बताया कि भारत-चीन सीमावर्ती क्षेत्रों में विशेष रूप से, पूर्वी लद्दाख में स्थिति पर विस्तार से चर्चा की गई। भारत ने चीन को पूर्वी लद्दाख में हुए घटनाक्रमों पर विस्तार से जानकारी दी। मंत्रालय ने 15 जून को गलवान घाटी में हुए हिंसक संघर्ष के बारे में भी चीनी समकक्ष को साफ शब्दों में बता दिया।

शांति बहाल करे चीन

विदेश मंत्रालय ने साफ कर दिया है कि 6 जून को कमांडर स्तर की बैठक में जो बातें तय हुईं थीं दोनों ही पक्षों को वो बातें माननी चाहिए। मंत्रालय की ओर से कहा गया कि सीमा पर शांति बनाए रखने के लिए 6 जून को हुई बैठक में तमाम पहलुओं पर सहमति बनी थी। दोनों देशों को ईमानदारी से इसका पालन करना चाहिए।

पहली बार हुई कूटनीतिक बैठक

भारत की ओर से विदेश मंत्रालय के पूर्व एशिया के जॉइंट सेकेट्री नवीन श्रीवास्तव और चीन विदेश मंत्रालय के महानिदेशक वू जियांगहो ने हिस्सा लिया। जून में पहली बार दोनों देशों के बीच कूटनीतिक चर्चा हुई है। इससे पहले सैन्य कमांडर स्तर की बैठक हो चुकी थी। कमांडर स्तर की बैठक लगभग 11 घंटे तक चली थी। इसी बीच दोनों देश सीमा पर अपनी-अपनी ताकत भी बढ़ाते जा रहे हैं।

भारत को ठहराया जिम्मेदार

इससे पहले भारत और चीन के बीच सेनाओं को पीछे करने पर सहमति बनने के एक दिन बाद चीन के रक्षा मंत्रालय ने वास्‍तविक नियंत्रण रेखा पर संघर्ष के लिए भारत को पूरी तरह से जिम्‍मेदार ठहराया है। चीन के रक्षा मंत्रालय के प्रवक्‍ता वू किआन ने कहा क‍ि हम आशा करते हैं कि सीमाई इलाकों शांति और स्थिरता बनी रहेगी। उन्‍होंने कहा कि भारत ने एकतरफा कार्रवाई की जिसकी वजह से हिंसा हुई।

लद्दाख में नियंत्रण रेखा पर संघर्ष के भारत पूरी तरह से जिम्‍मेदार: चीनी रक्षा मंत्रालय

‘उल्टा चोर कोतवाल को डांटे’

रक्षा मंत्रालय के प्रवक्‍ता किआन ने कहा, ‘भारत-चीन सीमा पर हुए संघर्षों की पूरी जिम्‍मेदारी भारतीय पक्ष की है। हम आशा करते हैं कि सीमाई इलाकों में शांति और स्थिरता बनी रहेगी। गलवान घाटी में हिंसा की घटना भारतीय पक्ष के एकतरफा उकसावे की कार्रवाई और दोनों पक्षों के बीच हुई आपसी सहमति के उल्‍लंघन की वजह से हुई है।’

‘चोरी ऊपर से सीनाजोरी’

किआन ने कहा, ‘चीनी सेना कोरोना वायरस के कम होने के साथ ही युद्ध की तैयारी के लिए जमीनी स्‍तर पर प्रशिक्षण को बढ़ा रही है। पीएलए के तिब्‍बत मिलिट्री कमांड ने हाल ही में पठारी इलाकों में लाइव फायर ड्रिल किया था। इसके जरिए सैनिकों की संयुक्‍त युद्ध क्षमता को परखा गया। यह ड्रिल नियमित रूप से हो रही है और किसी अन्‍य देश के खिलाफ नहीं है।’

NBT

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Corona in Delhi: दिल्‍ली के स्वास्थ्य मंत्री सत्‍येंद्र जैन हुए कोरोना संक्रमित, डॉक्‍टरों की टीम कर रही इलाज

[ Publish Date:Thu, 18 Jun 2020 07:37 AM (IST) नई दिल्‍ली, एएनआइ। दिल्‍ली के स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री कोरोना संक्रमण की चपेट में आ गए हैं।...

भारत-चीन के सैनिकों के बीच 3 घंटे तक झड़प होती रही, बातचीत करने आई भारत की सेना पर चीन ने पत्थर और डंडों से हमला किया

[ भारत और चीन के सैनिकों में गालवन वैली में पत्थर और लाठी से झड़प, भारत के कमांडिंग ऑफिसर समेत 20 सैनिक शहीद6 जून...

CBSE 10th 12th Exams 2020 : शेष परीक्षाओं को लेकर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, सीबीएसई बताएगा अपना फैसला

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

फिर बढ़ीं तेल की कीमतें, जानें किस शहर में पेट्रोल से सस्ता है डीजल

]> शहर पेट्रोल (रुपये/लीटर) डीजल (रुपये/लीटर) दिल्ली 80.43 80.53 मुंबई 87.19 78.83 चेन्नई 83.63 77.72 कोलकाता 82.1 75.64 बता दें  देश में आमतौर पर पेट्रोल अभी भी डीजल से महंगा है, लेकिन दिल्ली में डीजल पर अधिक टैक्स होने...

‘देश के जवान मारते-मारते मरे हैं, हमारे सैनिकों का बलिदान व्यर्थ नहीं होगा’

[ India-China Border Face-Off Today Latest News Live Updates: भारत और चीन की सेनाओं के बीच लद्दाख के गलवान रिवर फ्रंट पर सोमवार रात हुई...

सर्दी-खांसी और जुकाम से हैं परेशान, अपनाएं ये 15 घरेलू नुस्खे

खांसी-जुकाम हर बदलते मौसम के साथ आने वाली समस्या है। खांसी बैक्टीरियल या वायरल इन्फेक्शन, ऐलर्जी, साइनस इन्फेक्शन या ठंड के कारण...