Home मुख्य समाचार आखिर कहां हैं नवजाेत सिद्धू, 7 दिन तक समन नहीं लिया, बिहार...

आखिर कहां हैं नवजाेत सिद्धू, 7 दिन तक समन नहीं लिया, बिहार पुलिस ने काेठी के बाहर चिपकाया

[

Publish Date:Tue, 23 Jun 2020 09:54 PM (IST)

अमृतसर, जेएनएन। पंजाब में बडा़ सवाल उठ रहा है कि आखिरकार पूर्व क्रिकेटर व पंजाब केे पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू कहां हैं। बिहार पुलिस की टीम एक केस में उनके नाम समन लेकर अमृतसर आई और सात दिनों तक सिद्धू की कोठी के चक्‍कर लगाती रही, लेकिन वह नहीं मिले। इसके बाद आठवें दिन मंगलवार को टीम ने उनकी कोठी के बाहर समन का नोटिस चिपका दिया। पुलिस टीम दिन भर उनकी कोठी के बाहर बैठी रहती थी, लेकिन सिद्धू केे बारे में कोई संतोषजनक नहीं मिला।

सुरक्षा कर्मी और पायलट गाड़ी कोठी में तैनात, सवाल: कहां गायब हो गए सिद्धू

पंजाब सरकार में मंत्री रहे सिद्धू के इस व्यवहार को लेकर राजनीतिक गलियारों में नई चर्चा छिड़ गई है कि आखिर सिद्धू समन रिसीव करने से क्यों डर रहे हैैं। उनके विरोधियों का कहना है किे सिद्धू कई बार सांसद भी रहे, ऐसे में उनका रुख हैरान करने वाला है। कानून बनाने और कानून की रखवाली करवाने की जिम्मेदारी जिन जनप्रतिनिधियों के कंधों पर होती है वह कानूनी प्रक्रिया के तहत समन रिसीव क्यों नहीं कर रहे।

बिहार पुलिस की टीम उन्हें समन देने के लिए घर के बाहर बैठी रही लेकिन सिद्धू घर से बाहर नहीं आए। सात दिन के इंतजार के बाद परेशान हुई पुलिस टीम ने उनकी कोठी के बाहर नोटिस चिपकाया है। बता दें कि बि‍हार के कटिहार जिले में लाेकसभा चुनाव के दौरान उनके विवादित भाषण के कारण चुनाव आचार संहिता के उल्‍लंघन का केस दर्ज है। इसी को लेकर बिहार पुलिस टीम समन लेकर उनकी कोठी पर पहुंची थी। इससे पहले भी दिसंबर 2019 में बिहार पुलिस की एक टीम ऐसे ही परेशान होकर लौट चुकी है।

नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर चिपकाया गया नोटिस।

नवजोत सिंह सिद्धू पर आरोप है कि उन्होंने अप्रैल 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान बिहार के कटिहार जिले में रैली में एक समुदाय के खिलाफ आपत्तिजनक शब्दों का इस्तेमाल किया थाl बता दें कि बिहार के कटिहार जिले से आई पुलिस टीम सोमवार को भी दिन भर पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर पेड़ के नीचे बैठी रही, लेकिन सिद्धू नहीं मिले।

पाकिस्तान से लौटने के बाद अज्ञातवास पर गए सिद्धू फिर गायब

बिहार पुलिस को यही बताया गया कि सिद्धू घर पर नहीं हैैं। लेकिन, यह बात भी सामने आई है कि सिद्धू की सुरक्षा में तैनात पुलिस कर्मचारी और पायलट कोठी पर ही तैनात हैं। ऐसी स्थिति में सवाल उठने लगे हैैं कि जब सुरक्षा कर्मी और पायलट गाड़ी उनकी कोठी पर तैनात है तो सिद्धू कहां हैैं? वहीं सूत्रों का कहना है कि सिद्धू शहर में ही हैं और कोठी के अंदर हैं, परंतु किसी से मिल नहीं रहे।

30 साल की नौकरी में नहीं आई ऐसी नौबत

बिहार के कटिहार जिले के थाना वरसोई के सब इंस्पेक्टर जनार्दन राम कहा कि वह कई प्रमुख  व्यक्तियों को नोटिस थमा चुके हैं, लेकिन 30 साल की नौकरी में कभी ऐसे हालात नहीं देखे। एसआइ जनार्दन राम और एसआइ जावेद अहमद ने कहा कि सिद्धू एक अनुशासित खिलाड़ी रहे हैैं लेकिन एक समन रिसीव करने के लिए उन्हें पिछले सात दिन से घुमा रहे हैं। अब आला अधिकारियों के आदेश पर सिद्धू की कोठी के बाहर नोटिस चिपकाया गया है। उनका यह अनुभव काफी हैरान करने वाला रहा।

रोज 1700 रुपये खर्च, अब वापस जाएंगे

बिहार पुलिस के दोनों एसआइ सिद्धू की कोठी से डेढ़ किलोमीटर दूर एक होटल रुके हुए हैैं। जहां उन्हें रोजाना एक हजार रुपये रेंट और सात सौ रुपये खाने व अन्य कार्यों के लिए खर्च करने पड़ रहे हैैं। नोटिस चिपकाने के बाद अब दोनों कटिहार लौटने के लिए तैयार हैैं। उन्होंने 26 जून की ट्रेन में सीट आरक्षित करवा ली है।

टीम के सदस्‍य सब इंस्पेक्टर जनार्दन राम और सब इंस्पेक्टर जावेद अहमद ने बताया कि वे लगातार सिद्धू को समन तामील कराने के लिए आते रहे, लेकिन उनकी ओर से कोई संतोषजनक जवाब नहीं मिला। रविवार को उनके स्‍टाफ की ओर से कहा गया था सिद्धू सोमवार को मिल सकते हैैं, लेकिन पूरा दिन कोठी के बाहर इंतजार करनके बाद भी वह नहीं मिले और नोटिस रिसीव नहीं किया।

नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी केे बाहर नोटिस चिपकाते बिहार पुलिस टीम के सदस्‍य।

बिहार पुलिस टीम के दोनों अधिकारियों ने साेमवार को कहा था कि उन्हें आइजी विनोद कुमार ने समन की कॉपी रिसीव करवाने के बाद लौटने को कहा है। इसीलिए वे एक सप्ताह से यहां डेरा डाले हुए हैैं। लेकिन, मंगलवार को अधिकारियों के आदेश के बाद सिद्धू की कोठी के बाहर नोटिस चिपका दिया। टीम केे सदस्‍य मंगलवार को भी नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी केे बाहर पहुंचे थे, लेकिन उनकाे कोई जवाब न‍हीं मिला। बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर सुरक्षाकर्मी तैनात हैं। उनके लिए वहां ठंडे पानी केे लिए वाटर कूलर है, लेकिन बिहार पुलिस की टीम वहां पहुंची तो वाटर कूलर को वहां से हटा दिया गया।

यह है मामला

2019 के लोकसभा चुनाव के बाद नवजोत सिं‍ह सिद्धू ने बिहार में कांग्रेस उम्‍मीदवाराें के समर्थन में जनसभाओं को संबोधित किया था। उन्‍होंने 16 अप्रैल 2019 को कटिहार के वरसोइ इलाके में कांग्रेस उम्‍मीदवार तारिक अनवर के पक्ष में जनसभा को संबोधित किया था। आरोप है कि सिद्धू ने सभा ने एक समुदाय विशेष को उकसाने वाला भाषण दिया। इस पर विवाद पैदा हो गया और विराेधियों ने उन पर निशाना साध दिया।

कांग्रेस प्रत्‍याशी तारिक अनवर ने भी उनके बयान से असहमति जताई और खुद को इससे अलग कर लिया। इसके बाद चुनाव पर्यवेक्षक की शिकायत पर सिद्धू के खिलाफ वरसोई थाने में केस दर्ज किया गया। बिहार पुलिस की टीम दिसंबर में भी नवजोत सिंह सिद्धू को नोटिस देने अमृतसर उनकी कोठी पर आई थी, लेकिन उस समय भी वह नहीं मिले थे और नोटिस रिसीव नहीं किया।

 यह भी पढ़ें: नवजाेत सिंह सिद्धू की कोठी के बाहर बैठी रही पुलिस, पूर्व मंत्री ने फिर नहीं लिया समन

 यह भी पढ़ें: जज्‍बे को सलाम: पति का छूटा काम तो पंजाब की महिला सरपंच खेतों में करने लगीं धान की रोपाई 

 

यह भी पढ़ें: ‘ट्रैक्‍टर वाली’ सरपंच: सिर पर चुन्‍नी बांध कर खेतों की करती हैं जुताई, गांव का भी पूरा ध्‍यान

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

चीन ने लद्दाख में विवादित सीमा पर किया निर्माण, सैटेलाइट इमेज से हुआ खुलासा

[ India China Border Tension Today News Live Update: भारत और चीन के सैन्य कमांडरों के बीच शनिवार सुबह 9 बजे होने वाली बैठक अभी...

यूपी में कोरोना LIVE: कानपुर में 20 नए संक्रमित, प्रदेश में कुल 9051 मरीज

[कानपुर में मिले 27 नए मरीज, कुल 465 संक्रमित कानपुर में कोरोना वायरस बहुत तेजी से लोगों को अपना शिकार बना रहा है। गुरुवार...

पूर्वी लद्दाख में गलवान समेत तीन जगहों से भारत और चीन की सेनाएं पीछे हटीं

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

मेरी वाइफ 32 साल की है, सेक्स में रुचि नहीं लेती

सवाल: मैं 35 साल का हूं। मेरी वाइफ 32 साल की है। वह सेक्स में ज्यादा रुचि नहीं लेती। उसे इस तरफ कैसे...

Live Updates: कानपुर एनकाउंटर में CO समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद, CM योगी सख्‍त, गिरफ्तारी के लिए ताबड़तोड़ दबिश

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...