Home मुख्य समाचार चीन छुपाना चाहता है सच्‍चाई, PM मोदी के बयान को सोशल मीडिया...

चीन छुपाना चाहता है सच्‍चाई, PM मोदी के बयान को सोशल मीडिया से हटाया

[

बीजिंग: चीन स्थित भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने बताया कि 18 जून को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा मुख्यमंत्रियों की बैठक में दिए गए भाषण और विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता की टिप्पणी को वेइबो सहित दो चीनी सोशल मीडिया वेबसाइटों ने हटा दिया है. उन्‍होंने ये कदम ऐसे समय उठाया है जब पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में गत सोमवार को चीन और भारतीय सैनिकों में हुई हिंसक झड़प में 20 भारतीय जवान शहीद हो गए हैं और दोनों देशों के बीच और तनाव बढ़ गया है.

भारतीय दूतावास के अधिकारियों ने बताया कि विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव की टिप्पणी को 18 जून को ‘साइना वेइबो’ पर बने दूतावास के अकाउंट से हटा दिया गया. उन्होंने बताया कि इसके बाद भारतीय अधिकारियों ने 19 जून को श्रीवास्तव की टिप्पणी के स्क्रीन शॉट को दोबारा प्रकाशित किया.

गलवान घाटी पर चीन का दावा पूरी तरह गलत, विदेश मंत्रालय का सख्‍त जवाब 

साइना वेइबो ट्विटर की तरह है और चीन में लाखों लोग और बीजिंग स्थित विभिन्न देशों के दूतावास इसका इस्तेमाल करते हैं. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सहित दुनिया के कई नेताओं ने चीनी जनता से संवाद करने के लिए इस सोशल मीडिया साइट पर अपना अकाउंट बनाया है.

भारतीय दूतावास के प्रवक्ता की टिप्पणी को इसी तरह से वीचैट पर बने दूतावास के आधिकारिक अकाउंट से भी हटा दिया गया. इसके स्थान पर संदेश था जिसमें वीचैट ने लिखा ‘नियमों का उल्लंघन करने की वजह से यह सामग्री नहीं देखी जा सकती.’

सीमा विवाद पर PMO का बयान, कहा – चीन को LAC पर निर्माण से रोका, एकतरफा स्थिति नहीं बदलने देंगे

श्रीवास्तव ने अपने बयान में कहा था कि चीन को अपनी गतिविधि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) के अपने अधिकार क्षेत्र में सीमित रखनी चाहिए और यथास्थिति बदलने के लिए कोई एकतरफा कार्रवाई नहीं करनी चाहिए.

प्रधानमंत्री मोदी की गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों की शहादत को लेकर 18 जून को की टिप्पणी भी वीचैट पर उपलब्ध नहीं है. उस पृष्ठ पर लिखा गया है कि यह सामग्री लेखक ने हटा ली है’ जबकि दूतावास के अधिकारियों ने कहा कि उन्होंने इसे नहीं हटाया है.

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि लद्दाख की गलवान घाटी में भारतीय सैनिकों की शहादत व्‍यर्थ नहीं जाएगी. उन्होंने कहा कि भारत शांति चाहता है लेकिन उकसाने पर मुहंतोड़ जवाब देने में भी सक्षम है.

भारतीय दूतावास के वेइबो और वीचैट पेज का हजारों लोग अनुकरण करते हैं. भारतीय दूतावास ने वेइबो पेज पहले शुरू किया था जबकि वीचैट ग्रुप की दूतावास ने इस साल जनवरी में बनाया था.

मोदी ने 2015 के चीन दौरे के दौरान वेइबो पर अकाउंट बनाया था और इसके जरिये चीनी जनता से संवाद जारी रखे हुए हैं. हालांकि, इस अकाउंट पर हालिया सैन्य झड़प संबंधी कोई पोस्ट नहीं डाली गई है.

उल्लेखनीय है कि सोमवार रात को गलवान में भारतीय और चीनी सैनिकों के बीच हुई हिंसक झड़प में कर्नल सहित 20 भारतीय जवान शहीद हो गए. चीन ने स्वीकार किया इस झड़प में उसके जवान भी हताहत हुए हैं, लेकिन उसने हताहत सैनिकों की संख्या नहीं बताई है.

(इनपुट: एजेंसी भाषा)

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Amarnath Yatra 2020: 21 जुलाई से शुरू होगी वार्षिक अमरनाथ यात्रा, 55 वर्ष से कम उम्र वालों को ही मिलेगी अनुमति

[ Publish Date:Sat, 06 Jun 2020 04:55 PM (IST) श्रीनगर, जेएनएन। बाबा बर्फानी के भक्तों की इंतजार की घड़ी समाप्त हो गई है। उनके लिए...

5 दिन के सरकारी क्वारंटाइन पर ठनी, अरविंद केजरीवाल बोले- मेडिकल स्टाफ वैसे ही कम

[Edited By Vishnu Rawal | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 20 Jun 2020, 01:29:00 PM IST दिल्ली: गृह मंत्रालय ने केजरीवाल सरकार से...

गलवान झड़प के 18 दिन बाद मोदी 11 हजार फीट ऊंची फॉरवर्ड लोकेशन पर पहुंचे; जवानों से बात की, घायल सैनिकों से भी मिलेंगे

[ 15 जून को गलवान में भारत के 20 सैनिक शहीद हुए थेमोदी ने कहा था कि जवानों की शहादत बेकार नहीं जाएगी दैनिक भास्करJul...

India-China Standoff: भाई ने बताई शहीद मनदीप सिंह की दिलेरी की कहानी.. ‘जिस पर किया वार वह फिर नहीं उठा’

[भारत और चीन के बीच सीमा विवाद (India China Clash) को लेकर हुई झड़प में मनदीप सिंह शहीद हो गए। मनदीप के भाई...

प्रेगनेंट होने के लिए स्‍पर्म का योनि के अंदर जाना जरूरी नहीं, जानिए क्‍यों

यदि वीर्य योनि के अंदर होने की बजाय योनि या वल्‍वा के आसपास हो तो भी प्रेग्‍नेंसी हो सकती है। महिलाओं की...

सिब्बल बोले- क्या अस्तबल से घोड़े जाने के बाद ही कांग्रेस जागेगी? सिंधिया का ट्वीट- कांग्रेस में काबिलियत की कद्र नहीं

[ सोशल मीडिया पर राजस्थान सरकार ट्रोल, यूजर ने लिखा- क्या सचिन पायलट अगले सिंधिया होंगेट्विटर पर 26 हजार से ज्यादा लोगों ने #Sachinpilot...