Home मुख्य समाचार विदेश मंत्रालय ने गलवान घाटी पर चीन का दावा किया खारिज, कहा-...

विदेश मंत्रालय ने गलवान घाटी पर चीन का दावा किया खारिज, कहा- भारत ने कभी LAC पार नहीं की कोई कार्रवाई

[

सीमा विवाद के बीच भारत और चीन की सेना में हुई हिंसक झड़प के बाद दोनों देशों में तनाव चरम पर है। इस बीच भारत ने पूर्वी लद्दाख में गलवान घाटी पर संप्रभुता को लेकर चीन के दावे को शनिवार को खारिज करते हुए जोर दिया कि चीनी पक्ष की ओर से ”बढ़ा-चढाकर” और झूठे दावे करने के प्रयास स्वीकार्य नहीं हैं।

विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने कहा कि गलवान घाटी पर चीन का दावा अतीत की चीन की स्थिति के अनुरूप नहीं है। उन्होंने कहा कि चीनी पक्ष द्वारा अतिक्रमण के किसी भी प्रयास का हमेशा हमारी ओर से उचित जवाब दिया गया है। उन्होंने आगे कहा, ”गलवान घाटी के संबंध में स्थिति ऐतिहासिक रूप से स्पष्ट है। गलवान घाटी में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को लेकर चीनी पक्ष की ओर से बढ़ा-चढाकर और झूठे दावे करने के प्रयास स्वीकार्य नहीं है। गलवान पर चीन का दावा अतीत की चीन की स्थिति के अनुरूप नहीं है।” विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता इस मुद्दे पर एक सवाल का जवाब दे रहे थे।  

भारतीय पेट्रोलिंग में चीन ने खड़ी की बाधा

विदेश मंत्रालय ने कहा कि मई की शुरुआत से ही वहां पर भारत की तरफ से की जा रही पेट्रोलिंग में बाधाएं खड़ी की जा रही थी। जिसका नतीजा स्वरूप टकराव हुआ, जिसे कमांडर की स्तर बैठक में सुलझाया गया था। मंत्रालय की तरफ से आगे कहा गया, “हम इस बात स्वीकार नहीं कर सकते कि भारत एक तरफा स्थिति बदला रहा था, बल्कि हम तो उसे बरकरार रख रहे थे।” 

ये भी पढ़ें: भारत से तनातनी के बीच नेपाल के बाद बांग्लादेश पर चीन ने डाले डोरे

गौरतलब है कि सोमवार की शाम गलवान घाटी में दोनों देशों की सेनाओं के बीच हुई हिंसक झड़प में 20 सैन्यकर्मी शहीद हो गए थे।चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी ने हताहतों की संख्या अभी तक नहीं बताई है। श्रीवास्तव ने कहा कि भारतीय सेनाएं गलवान घाटी समेत भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के सभी सेक्टरों में एलएसी की स्थिति से पूरी तरह परिचित हैं।

LAC पर भारत ने नहीं किया कोई एक्शन

उन्होंने कहा कि भारत ने वास्तविक नियंत्रण रेखा के पार किसी तरह की कोई कार्रवाई नहीं की। उन्होंने कहा कि भारतीय सैनिक लंबे समय से इस इलाके में गश्त करते रहे है और कोई घटना नहीं हुई। श्रीवास्तव ने कहा कि मई के मध्य से भारत-चीन सीमा क्षेत्रों के पश्चिमी सेक्टर के अन्य इलाकों में चीनी पक्ष ने एलएसी के उल्लंघन करने के प्रयास किए। उन्होंने कहा, ”चीनी पक्ष के इन प्रयासों का हमेशा हमारी ओर से उचित जवाब दिया गया है।”

श्रीवास्तव ने कहा कि भारत को उम्मीद है कि चीनी पक्ष दोनों देशों के विदेश मंत्रियों के बीच हाल ही में सीमा क्षेत्रों में शांति सुनिश्चित करने के लिए बनी सहमति का ईमानदारी से पालन करेगा।

ये भी पढ़ें: सीमा विवाद:PM की स्पीच, भारत के बयान को चीनी सोशल मीडिया ने किया डिलीट

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

चीनी सेना ने की पुष्ट‍ि, लद्दाख झड़प के दौरान उसके कमांड‍िंग ऑफिसर की गई जान : सूत्र

[नई दिल्ली: Ladakh Clash: पूर्वी लद्दाख में भारतीय सैनिकों के बीच हिंसक संघर्ष (Ladakh Clash) के करीब एक सप्‍ताह बाद चीन की सेना...

शांति वार्ता के दौरान चीन ने छल से रात के अंधेरे में किया भारत पर हमला, जानें कब-क्या हुआ

[ न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Updated Wed, 17 Jun 2020 05:54 AM IST पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free मेंकहीं भी, कभी भी। 70 वर्षों से...

दिल्ली में आज से नई तकनीक ‘रैपिड एंटीजन टेस्ट’ से कोरोना टेस्टिंग शुरू, 15 मिनट में आ जाएगा नतीजा

[कोरोनावायरस टेस्टिंग की इस तकनीक में 15 से 30 मिनट के अंदर नतीजा आ जाता है.खास बातेंदिल्ली में आज से टेस्टिंग की नई...

Coronavirus Vaccine India: RSS स्वयंसेवक चिरंजीवी पर होगा कोरोना वैक्सीन का मानव परीक्षण, जानें इसके पीछे की वजह

। covid coronavirus vaccine india राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के स्वयंसेवक चिरंजीत धीवर ने स्वयं पर कोरोना वायरस की वैक्सीन के परीक्षण की...

69000 शिक्षक भर्ती में यूपी सरकार को बड़ी राहत, कोर्ट ने कहा- चयन प्रक्रिया जारी रखने को स्वतंत्र

[ Publish Date:Sat, 13 Jun 2020 01:25 AM (IST) लखनऊ, जेएनएन। उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार को 69000 शिक्षक भर्ती मामले में इलाहाबाद...

हमीरपुर में एसटीफ की बदमाशों के साथ मुठभेड़, विकास दुबे का करीबी अमर दुबे ढेर

[ विकास दुबे का साथी अमर दुबे हमीरपुर में ढेर - फोटो : amar ujala पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर कहीं भी, कभी भी। *Yearly subscription for...