Home मुख्य समाचार भारत-चीन मामले में तोड़ मरोड़कर पेश किया गया पीएम मोदी का बयान...

भारत-चीन मामले में तोड़ मरोड़कर पेश किया गया पीएम मोदी का बयान : पीएमओ

[

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली
Updated Sat, 20 Jun 2020 04:28 PM IST

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें

भारत सरकार ने शुक्रवार को हुई सर्वदलीय बैठक पर बयान जारी किया है। सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उन टिप्पणियों पर स्पष्टीकरण जारी किया कि कोई भी भारतीय क्षेत्र में नहीं घुसा और न ही किसी भारतीय चौकी पर कब्जा किया गया।  

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी बयान में साफ किया गया है कि चीन ने प्रयास तो किया लेकिन सैनिकों ने बलिदान देकर ढांचागत निर्माण और अतिक्रमण की कोशिशों को नाकाम कर दिया। पीएमओ ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसे समय में प्रधानमंत्री की टिप्पणियों पर अनावश्यक विवाद पैदा किया जा रहा है जब वीर सैनिक हमारी सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं।

पीएमओ ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री की टिप्पणियां गलवां में 15 जून को हुई घटनाओं पर केंद्रित थीं जिसमें 20 सैनिकों को जान गंवानी पड़ी। प्रधानमंत्री का स्पष्ट रुख है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को पार करने की किसी भी कोशिश का मजबूती से जवाब दिया जाएगा।

बयान में कहा गया है कि ‘भारतीय क्षेत्र कितना है यह भारत के नक्शे से स्पष्ट है, जिसके प्रति यह सरकार दृढ़ता से संकल्पबद्ध है। कुछ अवैध कब्जे के बारे में सर्वदलीय बैठक में बड़े विस्तार से बताया गया कि पिछले 60 वर्षों में 43 हजार वर्ग किलोमीटर से अधिक जमीन पर किन परिस्थितियों में चीन द्वारा कब्जा किया गया है, जिससे यह देश अच्छी तरह से वाकिफ है। यह भी स्पष्ट किया गया कि यह सरकार एलएसी के एकतरफा परिवर्तन की अनुमति नहीं देगी।’

पीएमओ ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में राष्ट्रीय संकट के समय सरकार और सशस्त्र बलों के प्रति अपार समर्थन मिला। हमें विश्वास है कि प्रोपगैंडा के जरिए भारतीय लोगों की एकता को कम आंकने का प्रयास नहीं किया जाएगा।

पीएम मोदी ने शुक्रवार को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई सर्वदलीय बैठक में कहा था कि न तो उन्होंने हमारी सीमा में घुसपैठ की है, न ही उनके द्वारा (चीन) कोई पोस्ट कब्जाया गया है। पीएम के इस बयान के बाद विवाद शुरू हो गया था और इसे लेकर राहुल गांधी समेत विपक्ष के कई नेताओं ने सरकार की आलोचना की थी.

भारत सरकार ने शुक्रवार को हुई सर्वदलीय बैठक पर बयान जारी किया है। सरकार ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की उन टिप्पणियों पर स्पष्टीकरण जारी किया कि कोई भी भारतीय क्षेत्र में नहीं घुसा और न ही किसी भारतीय चौकी पर कब्जा किया गया।  

प्रधानमंत्री कार्यालय (पीएमओ) की ओर से जारी बयान में साफ किया गया है कि चीन ने प्रयास तो किया लेकिन सैनिकों ने बलिदान देकर ढांचागत निर्माण और अतिक्रमण की कोशिशों को नाकाम कर दिया। पीएमओ ने कहा कि यह दुर्भाग्यपूर्ण है कि ऐसे समय में प्रधानमंत्री की टिप्पणियों पर अनावश्यक विवाद पैदा किया जा रहा है जब वीर सैनिक हमारी सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं।

पीएमओ ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में प्रधानमंत्री की टिप्पणियां गलवां में 15 जून को हुई घटनाओं पर केंद्रित थीं जिसमें 20 सैनिकों को जान गंवानी पड़ी। प्रधानमंत्री का स्पष्ट रुख है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) को पार करने की किसी भी कोशिश का मजबूती से जवाब दिया जाएगा।

बयान में कहा गया है कि ‘भारतीय क्षेत्र कितना है यह भारत के नक्शे से स्पष्ट है, जिसके प्रति यह सरकार दृढ़ता से संकल्पबद्ध है। कुछ अवैध कब्जे के बारे में सर्वदलीय बैठक में बड़े विस्तार से बताया गया कि पिछले 60 वर्षों में 43 हजार वर्ग किलोमीटर से अधिक जमीन पर किन परिस्थितियों में चीन द्वारा कब्जा किया गया है, जिससे यह देश अच्छी तरह से वाकिफ है। यह भी स्पष्ट किया गया कि यह सरकार एलएसी के एकतरफा परिवर्तन की अनुमति नहीं देगी।’

पीएमओ ने कहा कि सर्वदलीय बैठक में राष्ट्रीय संकट के समय सरकार और सशस्त्र बलों के प्रति अपार समर्थन मिला। हमें विश्वास है कि प्रोपगैंडा के जरिए भारतीय लोगों की एकता को कम आंकने का प्रयास नहीं किया जाएगा।


आगे पढ़ें

पीएम ने क्या कहा था

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

शख्स का दावा- हाथरस पीड़िता बताकर वायरल की जा रही पत्नी की फोटो, HC ने केंद्र को दिए निर्देश

https://www.youtube.com/watch?v=DW7RqFKUdt4हाथरस केस में अब गुरुवार को सुप्रीम कोर्ट में हुई सुनवाई ...

Coronavirus Live Updates: 24 घंटे में कोरोना के सबसे ज्यादा 14933 मामले, 312 लोगों की मौत

; if (d.getElementById(id)) return; js = d.createElement(s); js.id = id; js.async=true; is_fb_sdk=true; js.src="https://connect.facebook.net/en_GB/sdk.js#xfbml=1&version=v3.2&appId=1652954484952398&autoLogAppEvents=1"; fjs.parentNode.insertBefore(js, fjs); }(document, 'script', 'facebook-jssdk')); } //comment...

दिल्‍ली में फिर बिकी झारखंड की लड़की, मां को झांसा दे 12 साल की बेटी को ले उड़े दलाल

[ Publish Date:Mon, 27 Jul 2020 06:58 AM (IST) रांची, जासं। Human Trafficking in Jharkhand मानव तस्‍करी के लिए देश-दुनिया में बदनाम झारखंड की...

Bihar Election Opinion Poll: क्या सीएम नीतीश को एक और मौका मिलना चाहिए? लोगों ने दी चौंकाने वाली प्रतिक्रिया

[नई दिल्लीबिहार विधानसभा चुनाव मतदान के अब कुछ ही दिन शेष रह गए हैं। इसी बीच लोकनीति-सीएसडीएस ने ओपीनियन पोल कर जनता की...

हरियाणा में निजी स्कूूूल की बल्‍ले-बल्‍ले, अभिभावकाें को बड़ा झटका, फीस सहित सभी फंड ले सकेंगे

[ Publish Date:Tue, 28 Jul 2020 10:55 AM (IST) जेएनएन, चंडीगढ़। Haryana private school fee news: कोरोना महामारी के कारण हरियाणा में सभी स्कूल...

टीएमसी सांसद सौगत रॉय ने वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के पहनावे पर की टिप्पणी, हंगामा

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link