Home मुख्य समाचार चीन मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा- चीनी उत्पादों...

चीन मुद्दे पर सर्वदलीय बैठक में मुख्यमंत्री नीतीश ने कहा- चीनी उत्पादों की खरीदारी न करें

[

भारत-चीन सीमा पर खूनी संघर्ष और वर्तमान स्थिति को लेकर विचार विमर्श के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से शुक्रवार को सर्वदलीय बैठक बुलाई गई। इस बैठक में सभी प्रमुख राजनीतिक दलों के नेताओं ने इस संवेदनशील मुद्दे पर अपने विचार रखे। वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए डिजिटल बैठक की शुरुआत में उन 20 भारतीय सैनिकों को श्रद्धांजलि दी गई जो बीते दिनों पूर्वी लद्दाख में चीनी सैनिकों के साथ हुई झड़प में शहीद हो गए थे।

मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा है कि चीन के उत्पाद की खरीदारी हमलोग नहीं करें। इसके लिए पूर्व में हुए करार पर भी विचार करने की जरूरत है। हमलोगों को स्वदेशी सामान को बढ़ावा देना चाहिए, जो प्रधानमंत्री की प्राथमिकता सूची में भी है।  

मुख्यमंत्री ने कहा कि चीन से जो भी सामान अपने देश में आता है, उसके कारण पर्यावरण को भी संकट हो रहा है। खिलौने, इलेक्ट्रॉनिक सामान भारतीय बाजार में भारी मात्रा में बिक रहे हैं। खिलौनों में प्लास्टिक का बहुत ज्यादा प्रयोग होता है। यह इको फ्रेंडली भी नहीं है, इससे पर्यावरण को नुकसान पहुंच  रहा है। सबसे बड़ी बात यह है कि चीन का उत्पाद टिकाऊ नहीं है। मूल्य कम होने की वजह से लोग इसे खरीद लेते हैं। 

मुख्यमंत्री और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीतीश कुमार ने कहा है कि चीन की हरकत के खिलाफ पूरा देश एकजुट है। सभी लोग इसका बदला लेना चाहते हैं। यदि चीन अपमानित कर रहा है तो इसे बर्दाश्त करने की जरूरत नहीं है। भारत के भू-भाग पर कब्जा करने के बारे में चीन सोचता है, तो यह उसके लिए असंभव है। हम सभी दलों का कर्तव्य है कि एकजुट रहकर केन्द्र का समर्थन करें। प्रधानमंत्री को निर्णय लेना है। प्रधानमंत्री जो निर्णय लेंगे, हम सभी उनके साथ हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत ने अपनी तरफ से हमेशा कोशिश की है कि चीन के साथ अच्छा संबंध हो। बचपन में वे हिन्दी-चीनी, भाई-भाई का नारा सुना करते थे, किंतु चीन का रवैया भारत के प्रति अच्छा नहीं रहा है। उसे भारत से चिढ़ है। मुख्यमंत्री ने कहा कि सच्चाई जो भी हो, आम अवधारणा यही है कि दुनिया में कोरोना वायरस चीन के वुहान के बॉयोलॉजिकल लैब से ही निकला और पूरे विश्व में फैला। कोरोना वायरस नेचुरल नहीं है, क्योंकि इसका तापमान, मौसम और क्षेत्र से कोई संबंध नहीं है।

गलवान की घटना पर पूरे देश में है आक्रोश
मुख्यमंत्री ने कहा कि गलवान घाटी में शहीद होने वाले 20 जवानों में से पांच बिहार के थे। राज्य सरकार अपनी तरफ से शहीदों के सम्मान में उनके परिवार को हरसंभव मदद कर रही है। पूरे देश में इस घटना से आक्रोश है। यह देश की एकता एवं अखंडता का सवाल है। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में पूरा देश एकजुट है, इसमें राजनीतिक दलों के बीच कोई मतभेद नहीं है।

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

कांग्रेस की ‘महाभारत’ अभी बाकी, कपिल सिब्बल के ताजे ट्वीट से तूफान की आहट

[हाइलाइट्स:कांग्रेस में मचा 'महाभारत' अभी खत्म होता नहीं दिख रहा है सोनिया को पत्र लिखने वाले वरिष्ठ नेता कपिल सिब्बल के ट्वीट से...

हरियाणा: रोहतक में 2 दिन में दूसरी बार भूकंप के झटके, तीव्रता 2.8

,(a=t.createElement(n)).async=!0,a.src="https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js",(f=t.getElementsByTagName(n)).parentNode.insertBefore(a,f))}(window,document,"script"),fbq("init","465285137611514"),fbq("track","PageView"),fbq('track', 'ViewContent'); Source link

प्रेग्नेंसी के लिए सेक्स करने का सबसे अच्छा समय कब होता है?

मैं और मेरी पत्नी कुछ महीनों से एक बच्चे के लिए कोशिश कर रहे हैं, लेकिन अभी तक हर बार प्रेग्नेंसी टेस्ट...

महाराष्ट्र में भीषण बारिश, उखड़े पेड़, पानी से लबालब अस्पताल, पीएम मोदी ने लिया संज्ञान

[नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 05 Aug 2020, 11:17:17 PM IST महाराष्ट्र में कोरोना वायरस के बढ़ते मामलों (Coronavirus Latest News in Maharashtra) के बीच...