Home मुख्य समाचार Galwan Valley Clash : सेना ने बताया, चीन से झड़प में शामिल...

Galwan Valley Clash : सेना ने बताया, चीन से झड़प में शामिल कोई भी भारतीय जवान लापता नहीं

[

no indian army men missing : भारतीय सेना ने गुरुवार को कहा कि लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ झड़प (Galwan Valley Standoff) के बाद उसका कोई भी सैनिक लापता नहीं है। 15 जून की रात हुई इस झड़प में 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे और कई के लापता होने की अपुष्ट खबरें आ रही थीं।

Edited By Anurag Kumar | आईएएनएस | Updated:

गलवान घाटी संघर्ष: मेजर जनरल-स्तरीय वार्ता समाप्त; सेना का कोई भी जवान लापता नहीं
हाइलाइट्स

  • गलवान घाटी में चीनी सैनिक से झड़प के बाद कोई भी भारतीय सैनिक लापता नहीं
  • इस झड़प के बाद कई सैनिकों के गायब होने की अपुष्ट खबरें भी चल रही थीं
  • सेना ने गुरुवार को बयान जारी कर अफवाहों का खंडन किया
  • 15 जून को गलवान वैली में हुई झड़प में 20 भारतीय जवान हो गए थे शहीद

नई दिल्ली

भारतीय सेना ने गुरुवार को साफ कहा कि पूर्वी लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (पीएलए) के सैनिकों के साथ हुई हिंसक झड़प में शामिल कोई भी भारतीय सैनिक लापता नहीं है। गलवान घाटी में सोमवार की रात भारत व चीनी सैनिकों के बीच हिंसक झड़प हो गई थी, जिसमें 20 भारतीय सैनिक शहीद हो गए थे। ऐसी अपुष्ट खबरें थीं कि झड़प के बाद सोमवार रात से 10 भारतीय सैनिक लापता थे।

झड़प में कुछ चीनी सैनिकों के भी हताहत होने की बात सामने आई है। भारतीय सेना के जवानों पर सोमवार की रात धोखे से जानलेवा हमला किया गया था। विदेश मंत्री एस. जयशंकर ने स्पष्ट किया है कि उस समय जवानों के पास हथियार थे, मगर उन्होंने चीनी सैनिकों पर गोली नहीं चलाई। इस बीच तनाव की स्थिति को कम करने के लिए गुरुवार को गलवान घाटी में गश्त बिंदु (पैट्रोलिंग प्वाइंट) नंबर-14 पर मेजर जनरल-स्तरीय वार्ता हो रही है। यह वही स्थान है, जहां पर सोमवार की रात झड़प हुई थी।

पढ़ें: चीन से टेंशन, रूस से फाइटर जेट खरीदेगा भारत

पूर्वी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) पर हुई हिंसक झड़प के बाद बढ़े तनाव को कम करने के लिए बुधवार को भी शीर्ष भारतीय और चीनी सैन्य कमांडरों ने गलवान घाटी में बातचीत की थी, लेकिन तीन घंटे तक चले संवाद का कोई नतीजा नहीं निकल सका। झड़प गलवान नदी के दक्षिणी तट पर हुई, जो श्योक नदी के साथ अपने संगम से पहले पूर्व-पश्चिम दिशा में बहती है। बातचीत यह सुनिश्चित करने के लिए की जा रही है कि चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी गलवान घाटी से अपने सभी सैनिकों को वापस कर ले और सभी सैन्य शिविरों को भी हटा लिया जाए।

जवानों की शहादत का बदला, चीन को 'पहली सजा'जवानों की शहादत का बदला, चीन को ‘पहली सजा’बॉर्डर पर चीन की गुस्‍ताखी का सेना ने मुंहतोड़ जवाब तो दिया ही, अब आर्थिक मोर्चे पर भी चीन को उसकी हरकतों की सजा देने की शुरुआत हो गई है। भारत सरकार ने सरकारी टेलिकॉम कंपनियों यानी BSNL और MTNL से किसी भी चीनी कंपनी के इक्विपमेंट्स का इस्‍तेमाल ना करने को कहा है।

दोनों सेनाओं ने संघर्ष स्थल पर सैनिकों को फिर से तैनात किया है। सूत्रों ने कहा कि भारतीय सेना के अधिकारियों ने चीनी समकक्षों को स्पष्ट कर दिया है कि उन्हें वापस जाना होगा। मेजर जनरल अभिजीत बापट, जो भारतीय सेना की 3-डिवीजन के कमांडर हैं, उन्होंने 15-16 जून की रात को हुई झड़प के संबंध में चीनी अधिकारियों के सामने कई पहलुओं को उठाया है। चीनी पीपल्स लिबरेशन आर्मी के साथ झड़प में भारतीय सैनिक 1975 के बाद से पहली बार शहीद हुए हैं। उस समय एक भारतीय गश्ती दल पर अरुणाचल प्रदेश में चीनी सैनिकों द्वारा घात लगाकर हमला किया गया था। सूत्रों ने कहा कि उस समय भारतीय सेना के पांच जवान शहीद हुए थे।

एक सूत्र ने बुधवार को आईएएनएस से कहा था कि सोमवार की रात जब झड़प हुई उस समय भारतीय जवान चीनी सैनिकों की अपेक्षा कम थे। सूत्रों ने कहा कि इनकी संख्या का अनुपात 1:5 था। यानी पांच चीनी सैनिकों के मुकाबले एक भारतीय जवान मौके पर था। इसके बावजूद भारतीय जवानों ने चीनी सैनिकों का न सिर्फ डटकर मुकाबला किया, बल्कि उन्हें भी नुकसान पहुंचाया। सूत्रों ने यह भी बताया कि चीन ने भारतीय सैनिकों का पता लगाने से पहले थर्मल इमेजिंग ड्रोन का इस्तेमाल किया था। वर्तमान में कई भारतीय जवान गंभीर रूप से घायल हैं और उनका इलाज चल रहा है। सूत्रों ने कहा कि शहीदों की संख्या बढ़ सकती है, क्योंकि गंभीर रूप से घायल सैनिकों की संख्या 10 से अधिक है।

NBT
Web Title no indian army soldier involved in galwan valley clash with chinese troops is missing(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

सचिन तेंदुलकर ने विंडीज के इस खिलाड़ी को बताया ‘मोस्ट अंडररेटेड ऑलराउंडर’ 

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

Unlock-1: सरकार ने मॉल्‍स, रेस्‍टोरेंट और धार्मिक स्‍थलों के लिए जारी किए दिशानिर्देश, इन बातों का रखना होगा ध्‍यान..

[सरकार ने रेस्तरां, मॉल, होटल और धार्मिक स्थानों के लिए दिशानिर्देश जारी किए हैंनई दिल्ली: कोरोना वायरस की महामारी के बीच केंद्र सरकार...

दिल्ली सरकार की सभी यूनिवर्सिटी के सारे एग्जाम कैंसल, कोरोना की वजह से सरकार ने लिया फैसला

[Edited By Vishnu Rawal | नवभारतटाइम्स.कॉम | Updated: 11 Jul 2020, 01:39:00 PM IST दिल्ली स्टेट यूनिवर्सिटीज के पेपर कैंसलहाइलाइट्सदिल्ली सरकार...

पीएम किसान स्कीम: एक घर में कई लोगों को मिल सकता है 6000 रुपये का फायदा, पूरी करनी होगी ये शर्त

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

Unlock-1 गाइडलाइन : अगर जाना है मंदिर-मस्जिद, रेस्तरां-मॉल या दफ्तर, इन 15 बड़ी बातों का रखना होगा विशेष ध्यान

[नई दिल्ली: कोरोनावायरस (Coronavirus) के संक्रमण की वजह से लगाए गए देशव्यापी लॉकडाउन में ढील देने की प्रक्रिया शुरू...