Home मुख्य समाचार कोरोना मरीजों के इलाज के लिए बदला प्रोटोकॉल, जानें किन मरीजों को...

कोरोना मरीजों के इलाज के लिए बदला प्रोटोकॉल, जानें किन मरीजों को जाएगी रेमडेसिविर और एचसीक्यू

[

Publish Date:Sun, 14 Jun 2020 01:10 AM (IST)

नई दिल्‍ली, पीटीआइ। देश में तेजी से बढ़ते कोरोना मामलों के बीच केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय (Health ministry) ने शनिवार को संक्रमित मरीजों के इलाज को लेकर नया चिकित्सकीय प्रोटाकॉल जारी किया। इस प्रोटोकॉल में कोरोना संक्रमितों के इलाज में एंटी वायरल दवाओं के इस्‍तेमाल को लेकर निर्देश हैं। मंत्रालय ने मॉडरेट मामलों एंटी वायरल दवा रेमडेसिविर (Remdesivir) का इस्‍तेमाल किए जाने की इजाजत दी है जबकि संक्रमण के शुरूआती स्टेज में मरीजों को मलेरिया के इलाज में दी जाने वाली दवा हाईड्रोक्सी क्लोरोक्वीन (Hydroxychloroquine) देने का सुझाव दिया है।  

यही नहीं स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने प्रतिरोधक क्षमता के लिए इस्तेमाल होने वाली दवा टोसीलीजुमैब की भी अनुशंसा की है। साथ ही साथ प्लाज्मा उपचार की भी अनुशंसा की है। दरअसल, मंत्रालय ने शनिवार को कोरोना के लिए क्लीनिकल मैनेजमेंट प्रोटोकॉल की समीक्षा की। इसके बाद संशोधित प्रोटोकॉल जारी किया जिसमें कहा गया है कि संक्रमण की शुरुआत में सार्थक प्रभाव के लिए हाइड्रॉक्सी क्लोरोक्वीन (एचसीक्यू) का इस्तेमाल किया जाना चाहिए। सरकार ने गंभीर मामलों में इसके इस्‍तेमाल से बचने की सलाह दी है। 

मंत्रालय ने नए प्रोटोकॉल में गंभीर स्थिति और आईसीयू की जरूरत होने की स्थिति में एजिथ्रोमाइसीन के साथ हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन के प्रयोग की पूर्व में की गई अनुशंसा को रद कर दिया है। सरकार ने कहा है कि कई अध्ययनों में हाइड्रोक्सी क्लोरोक्वीन के इस्तेमाल को मददगार बताया गया है। नए प्रोटोकॉल में कहा गया है कि अन्य वायरस रोधी दवाओं की तरह इसका इस्तेमाल बीमारी की शुरुआत में किया जाना चाहिए ताकि सार्थक परिणाम हासिल किए जा सकें। इमरजेंसी में रेमडेसिविर का इस्तेमाल मध्यम स्थिति वाले रोगियों के लिए किया जा सकता है। 

केंद्रीय स्‍वास्‍थ्‍य मंत्रालय ने कहा है कि रेमडेसिविर (Remdesivir) दवा का इस्तेमाल उन लोगों के लिए नहीं किया जाना चाहिए जो गुर्दे की गंभीर बीमारी और उच्च स्तर के यकृत एंजाइम से पीड़ित हों। इसका इस्तेमाल गर्भवती एवं स्तनपान कराने वाली महिलाओं और 12 साल से कम उम्र के बच्चों में भी नहीं किया जाना चाहिए। संशोधित प्रोटोकॉल के अनुसार, प्लाज्मा का प्रयोग ऐसे रोगियों के लिए किया जाना चाहिए जिनमें स्टेरॉयड के इस्तेमाल के बावजूद सुधार नहीं आ रहा हो। नए प्रोटोकॉल में कोरोना के लक्षणों में सूंघने एवं स्वाद की क्षमता के खत्‍म होने को भी जोड़ा गया है। 

Posted By: Krishna Bihari Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

Coronavirus vaccine Updates: कोरोना की वैक्सीन बनाने के बेहद करीब भारत, आज Covaxin के तीसरे फेज़ का ट्रायल

; t = b.createElement(e); t.async = !0; t.src = v; s = b.getElementsByTagName(e); s.parentNode.insertBefore(t, s) }(window, document, 'script', 'https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js'); fbq('init', '482038382136514'); fbq('track', 'PageView'); Source...

मुझे लगता है सम्भोग नहीं कर पाऊंगा, शादी नहीं करना चाहता

सवाल: घरवाले मेरी शादी के लिए दबाव बना रहे हैं, लेकिन मैं शादी नहीं करना चाहता। दरअसल, मेरे प्राइवेट पार्ट की फोरस्किन पीछे...

एलएसी पर चीन के साथ बढ़ा तनाव, पश्चिमी मोर्चे पर भी सतर्क हुई भारतीय सेना

[ भारतीय सेना के कमांडो (फाइल फोटो) - फोटो : indian army website पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free मेंकहीं भी, कभी भी। 70 वर्षों से करोड़ों...

लगातार 16वें दिन बढ़े पेट्रोल-डीजल के दाम, दिल्ली में पेट्रोल की कीमत 80 रुपये के करीब

]> शहर पेट्रोल (रुपये/लीटर) डीजल (रुपये/लीटर) दिल्ली 79.56 78.85 नोएडा 80.42 71.24 गुरुग्राम 77.8 71.26 लखनऊ 80.32 71.15 मुंबई 86.36 77.24 चेन्नई 82.87 76.3 कोलकाता 81.27 74.14 एंजेल कमोडिटीज में डिप्टी वाइस प्रेसिडेंट अनुज गुप्ता ने बताया कि अंतरराष्ट्रीय बाजार में बेंचमार्क कच्चा तेल ब्रेंट क्रूड का भाव...

PUBG बैन के बाद FAU-G गेम लाए अक्षय कुमार, खेलें आत्मनिर्भर बैटल रॉयल गेम

[नई दिल्लीभारत सरकार ने बीते दिनों पॉप्युलर बैटल रॉयल गेम PUBG Mobile समेत 118 विदेशी ऐप्स पर बैन लगा दिया है और इसके...