Home मुख्य समाचार कोरोना वैक्‍सीन पर चार-चार गुड न्‍यूज, जानिए किससे है सबसे ज्‍यादा उम्‍मीद

कोरोना वैक्‍सीन पर चार-चार गुड न्‍यूज, जानिए किससे है सबसे ज्‍यादा उम्‍मीद

[

Covid-19 vaccine update: भारत में कोरोना का इलाज/वैक्‍सीन ढूंढने पर रिसर्च जारी है। दिल्‍ली की एक बायोटेक कंपनी ने वायरस बेस्‍ड वैक्‍सीन बनाने के लिए अमेरिकी कंपनी से हाथ मिलाया है।

Edited By Deepak Verma | टाइम्स न्यूज नेटवर्क | Updated:

वैक्‍सीन के लिए तेजी से चल रहा काम।
हाइलाइट्स

  • Panacea Biotech ने अमेरिकन कंपनी से किया टाईअप, डेवलप करेंगे इनऐक्टिवेटेड वायरस बेस्‍ड वैक्‍सीन
  • जॉनएस एंड जॉनसन ने वैक्‍सीन ट्रायल से सितंबर के बजाय जुलाई में शुरू करने का किया ऐलान
  • भारत सीरम एंड वैक्‍सींस ने शुरू किया अपने जेनेरिक ड्रग का ट्रायल, सितंबर तक होगा पूरा
  • कोरोना न्‍यूट्रलाइजिंग ऐंटीबॉडीज ड्रग से जगी उम्‍मीद, कई कंपनियां कर रहीं रिसर्च

नई दिल्‍ली

कोरोना वायरस संक्रमण (Coronavirus infection) को रोकने के लिए कई देशों में किया गया लॉकडाउन अब खत्‍म हो चुका है। दुनियाभर के देश अब कोविड-19 की सेकेंड वेव (Second wave of Covid-19) के डर में जी रहे हैं। चीन और साउथ कोरिया में इस वायरस ने फिर से लोगों को तेजी से अपनी चपेट में लेना शुरू कर दिया है। भारत में कोरोना अभी अपने पीक पर नहीं पहुंचा है, इसके बावजूद यहां पर रोज करीब 10 हजार नए मामले सामने आ रहे हैं। इस महामारी से जल्‍द मुक्ति पाने के लिए वैक्‍सीन और दवा की खोज पर काम जारी है। साइंटिस्‍ट्स दिन-रात एक कर लगे हुए हैं कि कोई इलाज मिल जाए। इस हफ्ते, वैक्‍सीन और दवा को लेकर चार नए अपडेट्स आए हैं। आइए जानते हैं कि उनसे कितनी उम्‍मीद है।

भारतीय फर्म ने US कंपनी से मिलाया हाथ

नई दिल्‍ली की Panacea Biotech ने अमेरिका की एक अर्ली स्‍टेज लाइफ साइंसेज कंपनी Refana के साथ जॉइंट वेंचर शुरू किया है। दोनों कंपनियां मिलकर एक इनऐक्टिवेटेड वायरस बेस्‍ड वैक्‍सीन बनाएंगी। ट्रायल का पहला फेज सितंबर से शुरू होने की उम्‍मीद है। बताया जा रहा है कि अगर सबकुछ ठीक-ठाक रहा तो अगले 18 महीनों में वैक्‍सीन मरीजों के लिए तैयार हो जाएगी।

भारत में कब पीक पर होंगे कोरोना के मामले?भारत में कब पीक पर होंगे कोरोना के मामले?देश में कोरोना वायरस के मामले अब तेजी से बढ़ रहे हैं और हाल फिलहाल इसमें कमी आने की संभावना नहीं है। विशेषज्ञों के मुताबिक जुलाई के मध्य में या अगस्त की शुरुआत में देश में देश में कोरोना के मामलों की संख्या चरम पर पहुंच सकती है, जबकि अभी से देश में कई राज्य सरकारों की स्वास्थ्य व्यवस्था का दम फूलने लगा है।

J&J ने अडवांस किया अपना ट्रायल

दवा निर्माता कंपनी जॉनसन एंड जॉनसन ने अपनी कोविड-19 वैक्‍सीन का ट्रायल सितंबर के बजाय जुलाई से शुरू करने का फैसला किया है। यह फैसला उसने वैक्‍सीन के प्री-क्लिनिकल डेटा की स्‍ट्रेन्‍थ को देखते हुए लिया है। कंपनी के चीफ साइंटिफिक ऑफिसर पॉल स्‍टॉफेल्‍स के अनुसार, कंपनी अपनी वैक्‍सीन 2021 तक बाजार में उतार सकती है।

भारत सीरम ने शुरू किया दवा का ट्रायल

मुंबई की भारत सीरम एंड वैक्‍सीन्‍स लिमिटेड (BSVL) अपने जेनेरिक ड्रग Ulinastatin का कोविड-19 पर ट्रायल शुरू करेगी। यह दवा सेप्सिस के लिए इस्‍तेमाल होती है। BSVL यह जांचेगी कि क्‍या इसे कोविड-19 मरीजों में एक्‍यूट रिस्‍परेटरी डिस्‍ट्रेस सिंड्रोम (ARDS) के इलाज में इस्‍तेमाल किया जा सकता है या नहीं। कंपनी को इस दवा की क्लिनिकल स्‍टडी के थर्ड फेज को शुरू करने की मंजूरी मिल गई है। यह दवा हल्‍के से सामान्‍य लक्षण वाले मरीजों को दी जाएगी। ट्रायल सितंबर तक पूरा होने की संभावना है।

देश में कहां कितने कोरोना के मरीज, पूरी लिस्ट

ऐंटीबॉडी ड्रग्‍स ने जगाई उम्‍मीद

न्‍यूट्रलाइजिंग ऐंटीबॉडीज दवाओं की नई किस्‍म है। AstraZeneca, Eli Lilly और Regeneron जैसी कंपनियां ने इसपर काम शुरू किया है। AstraZeneca का कहना है कि उसने वैडरबिल्‍ड यूनिवर्सिटी से कोरोनावायरस न्‍यूट्रलाइजिंग ऐंटीबॉडीज का लाइसेंस लिया है। कंपनी इन मोनोक्‍लोनल ऐंटीबॉडीज को पोटेंशियल कॉम्बिनेशन थिरैपी की तरह क्लिनिकल डेवलपमेंट में लाना चाहती है।

जानें, क्‍या है दुनिया के खात्‍मे का आधार

  • जानें, क्‍या है दुनिया के खात्‍मे का आधार

    दुनिया के खात्‍मे का यह दावा इस बात पर आधारित है कि ग्रेगोरिअन कैलेंडर को वर्ष 1582 में लागू किया गया था। उस समय साल से 11 दिन कम हो गए थे। ये 11 दिन सुनने में तो बहुत कम लगते हैं कि लेकिन 286 साल में यह लगातार बढ़ता गया है। दुनियाभर में चल रही साजिशों पर नजर रखने वाले कुछ लोगों का दावा है कि हमें वर्ष 2012 में होना चाहिए। इस दावे को वैज्ञानिक पाओलो तगलोगुइन के एक ट्वीट से और ज्‍यादा बल मिला है।

  • क्‍या हम अभी साल 2012 में हैं?

    वैज्ञानिक पाओलो तगलोगुइन ने अपने ट्वीट में कहा कि जुलियन कैलेंडर को अगर फॉलो करें तो हम तकनीकी रूप से वर्ष 2012 में हैं। ग्रेगोरिअन कैलेंडर में जाने से हमें एक साल में 11 दिनों का नुकसान हुआ। ग्रेगोरिअन कैलेंडर को लागू हुए 268 साल (1752-2020) बीत चुके हैं। इस तरह से अगर 11 से गुणा करें तो 2948 दिन होते हैं। 2948 दिन बराबर 8 साल होते हैं। हालांकि बाद में वैज्ञानिक पाओलो ने अपना ट्वीट डिलीट कर दिया।

  • '21 जून को खत्‍म हो जाएगी पूरी दुनिया'

    वैज्ञानिक पाओलो के ट्वीट के बाद अब लोगों का कहना है कि 21 जून 2020 दरअसल, 21 दिसंबर, 2012 है। बता दें कि वर्ष 2012 में भी इस तरह के दावे किए गए थे कि 21 दिसंबर को दुनिया का अंत हो जाएगा। दरअसल, इस पूरे दावे की शुरुआत उस दावे से हुई जिसमें कहा जा रहा था कि सुमेरिअन लोगों ने एक ग्रह नीबीरु की खोज की थी। निबिरू ग्रह अब पृथ्‍वी की ओर बढ़ रहा है। सबसे पहले दावा किया गया था कि मई 2003 में दुनिया का खात्‍मा हो जाएगा लेकिन जब ऐसा नहीं हुआ तो इसकी डेट बढ़ाकर 21 दिसंबर 2012 कर दी गई।

  • कोरोना झांकी, इस साल अभी बहुत कुछ बाकी

    दुनियाभर में साजिश करने वालों का दावा है कि वर्ष 2020 में पृथ्‍वी पर महामारी आई है, जंगलों में आग लगी है और टिड्ड‍ियों का हमला हुआ है लेकिन अभी और ज्‍यादा विनाशलीला अभी बाकी है। उधर, अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा का कहना है कि इस दावे का कोई विश्‍वसनीय वैज्ञानिक आधार नहीं है। इस तरह के दावे के केवल फिल्‍मों, किताबों और इंटरनेट चल रहे हैं।

Web Title coronavirus vaccine news panacea biotech bsvl j&j advance trials(Hindi News from Navbharat Times , TIL Network)

रेकमेंडेड खबरें

Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

लोकप्रिय

रिया चक्रवर्ती पर सिद्धार्थ पिठानी का खुलासा और सलमान खान के फैंस से भिड़े अमाल मलिक, पांच खबरें

[ {"_id":"5f44713e795de4203b0248f1","slug":"siddharth-pithani-reveal-rhea-chakraborty-and-amaal-mallik-hits-back-at-salman-khan-fans-entertainment-news","type":"photo-gallery","status":"publish","title_hn":"u0930u093fu092fu093e u091au0915u094du0930u0935u0930u094du0924u0940 u092au0930 u0938u093fu0926u094du0927u093eu0930u094du0925 u092au093fu0920u093eu0928u0940 u0915u093e u0916u0941u0932u093eu0938u093e u0914u0930 u0938u0932u092eu093eu0928 u0916u093eu0928 u0915u0947 u092bu0948u0902u0938 u0938u0947 u092du093fu0921u093cu0947 u0905u092eu093eu0932 u092eu0932u093fu0915, u092au093eu0902u091a u0916u092cu0930u0947u0902","category":{"title":"Bollywood","title_hn":"u092cu0949u0932u0940u0935u0941u0921","slug":"bollywood"}} रिया चक्रवर्ती, अमाल मलिक और सलमान...

RBSE 10th Result 2020 date : राजस्थान आरबीएसई 10वीं रिजल्ट के लिए कुछ दिनों का करना होगा इंतजार

;t=b.createElement(e);t.async=!0;t.src=v;s=b.getElementsByTagName(e);s.parentNode.insertBefore(t,s)}(window,document,'script','https://connect.facebook.net/en_US/fbevents.js');fbq('init', '2442192816092061');fbq('track', 'PageView'); Source link

राजस्‍थान: जीत की कोई उम्‍मीद नहीं होने के बावजूद बीजेपी इस‍लिए लाना चाहती है अविश्‍वास प्रस्‍ताव..

[बीजेपी ने खास रणनीति के तहत गहलोत सरकार के अविश्‍वास प्रस्‍ताव लाने का फैसला किया हैRajasthan crisis: राजस्‍थान में बीजेपी ने आश्‍चर्यजनक फैसला...

प्राइवेट पार्ट से ब्लीडिंग नहीं हुई तो पति को लगने लगा किसी के साथ संबंध रहे हैं, क्या करूं?

सवाल: मेरी शादी कुछ दिन पहले हुई है। पहली बार सहवास के दौरान मेरे प्राइवेट पार्ट से खून नहीं निकला। मुझे थायरॉइड...

ASSOCHAM ने चीन से पीछा छुड़ा आत्मनिर्भर भारत बनने के लिए बताया 15 सूत्रीय एजेंडा

[ASSOCHAM: आत्मनिर्भर भारत को लेकर उद्योग मंडल एसोचैम ने कहा कि हमने 15 ऐसे आयातित वस्तुओं की लिस्ट तैयार की है, जिसे धीरे-धीरे...